22 Oct 2018, 04:43:30 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
entertainment » tv

पत्नी की हत्या मामले में इलियासी को 17 साल बाद उम्रकैद

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 20 2017 5:22PM | Updated Date: Dec 21 2017 1:05PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। मशहूर टीवी रियलिटी शो, 'इंडियाज मोस्ट वांटेड' के एंकर सुहैब इलियासी को दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। सुहैब इलियासी को उनकी पत्नी के हत्या के मामले में कोर्ट ने 16 दिसंबर को दोषी करार दिया था। बता दें कि बीते 17 सालों से यह मामला अदालत में था।
 
लव मैरिज हुई थी शादी
 बता दें कि इंडियाज मोस्ट वांटेड शो के होस्ट सुहैब एक समय टीवी पर बेहद लोकप्रिय थे। सुहैब ने अपने कॉलेज की दिनों की साथी अंजू से शादी की थी। 10 जनवरी, 2000 को सुहैब के मयूर विहार फ्लैट में उनकी पत्नी अंजू की लाश मिली थी। सुहैब ने उस वक्त लोगों को बताया कि उनकी पत्नी डिप्रेशन में थी और उसने खुद के पेट में कैंची घोंपकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में नया मोड़ तब आया जब अंजू की बहन ने सुहैब पर दहेज और अंजू को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पुलिस में केस दर्ज करवाया।
 
इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड की सफलता
1998 में रिलीज़ हुआ शो इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड सुपरहिट होगया. शो का कॉन्सेप्ट लंदन के शो क्राइम स्टॉपर से नकल किया गया था। जमीन पर खास रिपोर्टिंग किए बिना ही सुहैब क्राइम रिपोर्टिंग का सबसे बड़ा नाम हो गए. देश भर में तमाम अपराधियों के पकड़े जाने और मारे जाने को शो का असर बताया जाता था। यूपी के कुख्यात सरगना श्रीप्रकाश शुक्ला के इनकाउंटर को भी सुहैब ने अपने खाते में जोड़ा. कहा जाता है कि इस बात ने कई पुलिसवालों को नाराज़ कर दिया।
 
सफलता के बाद विवाद
इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड का कॉन्सेप्ट अंजू और सुहैब ने मिल-जुलकर बनाया था। बताया जाता है मेहनत में अंजू का हिस्सा ज्यादा था. शो के पायलट में अंजू ही ऐंकर थीं।मगर सुहैब ने इसे ऐसे पेश किया कि ये उनका अकेले का काम हो। इसको लेकर दोनों में विवाद हुए। अंजू ने दिल्ली के मयूर विहार में 1.5 करोड़ का फ्लैट खरीदा था।सुहैब इसमें ही रह रहे थे. दोनों के अलग होने का अर्थ था सुहैब के पास से बहुत कुछ चला जाना।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »