20 Jan 2017, 04:57:24 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

  • घर में बरकत लाता है यह पौधा

    कहा जाता है कि जिस प्रकार बांस का पौधा किसी भी मुश्किल परिस्थितियों में हमेशा डट के खड़ा रहता है उसी प्रकार ये घर में सकारात्मक ऊर्जा पैदा करता है जिससे घर का हर शख्स मुश्किल परिस्थिति का डटकर सामना करता है।

  • दूसरों की इन चीजों का इस्तेमाल भूलकर भी न करें

    हर किसी शख्स में दोनों प्रकार की ऊर्जा नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा होती है। वास्तु में कहा गया है कि दूसरों की चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

  • हाथ में नहीं ठहरता पैसा तो घर में कर लें इन

    चीजों को सही अगर आपके हाथ में पैसा नहीं ठहरता या फिर घर के सदस्यों की बीमारी में पैसा खर्च होता है तो वास्तु में इसका समाधन है।

  • वास्‍तु के नियमों को अपना कर से पाएं सुकून की नींद

    वास्तु के अनुसार नींद किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण होता है। इसलिए बेडरुम को वातावरण ऐसा हो कि आप चैन की नींद सो सके।

  • नेगेटिव एनर्जी कम करने के लिए करें ये उपाय

    परिवार में अकसर सदस्यों में थोड़े बहुत झगड़े होते रहते हैं अगर झगड़े बढ़ जाए तो समझ जाएं कि घर में नेगेटिव एनर्जी का प्रवाह हो रहा है।

  • घर में स्वास्थ्य संबंधी परेशानी से बचना है तो घर में ना हो ये गलतियां

    ‘हेल्थ इज वेल्थ’ ये बात आपने कई बार सुनी होगी। लेकिन आज के माहौल में काम की वजह से या कहें खराब लाइफस्टाइल की वजह से होने वाले तनाव के कारण

  • ये बाते हैं सुख-समृद्धि की निशानी

    नवरात्रि के बाद ही हो जाती है त्योहारों के खुशियों भरे दौर की शुरूआत और बारी आती है घर की सजावट और साफ-सफाई की। इस दौरान आपको घर को सकारात्मक ऊर्जा

  • दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदल देता है एक चुटकी नमक

    वास्तुशास्त्र में नमक को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। नमक के अलग-अलग इस्तेमाल से घर से नकारात्मक ऊर्जा निकल जाती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

  • ऐसे आएगी आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा

    प्रवेश द्वार का स्वरूप चाहे मेनगेट का हो या चौखट वाले द्वार का, वहां यदि फर्श का कोई पत्थर या टाइल चिटका या टूटा हुआ है तो पूरे घर में ऊर्जा का उचित प्रवाह नहीं होता। ऐसे में तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

  • बप्पा दूर करेंगे आपके घर के वास्तु दोष, जानें ये बातें

    कहा जाता है कि भगवान गणेश घर के सभी वास्तु दोष दूर करते हैं। बप्पा अपने भक्तों के सभी कष्ट हरकर उन्हें सुख-समृद्धि प्रदान करते हैं।

  • अगर आपके घर में होगी ये चीजें तो आएगा गुडलक

    फेंगशुई के जरिए दिए स्थान में एनर्जी को बैलेंस तो किया ही जा सकता है बल्कि घर में सुख-समृद्धि और गुडलक लाने में भी फेंगशुई काफी मददगार साबित हो सकती हैं।

  • घर में लगाएं ये मूर्तियां, बरसेंगी खुशियां और धन

    फेंगशुई के अनुसार घर में पॉजिटिव ची ऊर्जा की बढ़ौतरी के लिए कुछ जानवरों की मैटेलिक प्रतिमाएं घर में सजानी चाहिए जैसे फू-डॉग, ड्रैगन, गोल्डफिश, तीन पैरों वाला मेढक, चमगादड़, सारस, कछुआ हाथी आदि।

  • सीढियां भी करती हैं घर के वास्तु को प्रभावित

    यदि मकान बहुमंजिला है तो उसमें सीढियां अवश्य होती है। वर्तमान समय में डिजाइनर सीढियों (लोहे की या घुमावदार) का चलन भी है। सीढियां भी घर के वास्तु को प्रभावित करती हैं।

  • फेंगशुई : खुशहाली का प्रतीक है कछुआ

    फेंगशुई में कछुए को शुभ माना जाता है। इसे घर में रखने से कामयाबी के साथ धन-दौलत और खुशहाली भी आती है। इसे अपने ऑफिस या मकान की उत्तर दिखा में रखें।

  • पुरानी चीजों से आती है नकारात्मकता

    कभी-कभी हम पुरानी वस्तुओं को घर में ले आते हैं। ऐसी चीजों को घर में लाने से इसके साथ इनसे जुड़ी नकारात्मकता भी घर में आ जाती है। उसी दिन से कोई न कोई परेशानी लगी रहती है।

  • घर में कहां और कैसे रखें आईना

    क्या आप हम या कोई और आईना देखे बगैर तैयार हो सकते हैं?, नहीं न। इसलिए घर में आईना तो होना चाहिए, कई बल्कि आईनें।

  • जो आपसे रखता हो बैर उससे कभी न लें उपहार

    हम अपने घर या प्रतिष्ठान को वास्तु शास्त्र के अनुसार व्यवस्थित तो कर लेते हैं, लेकिन कभी-कभी हम कुछ ऐसा कर बैठते हैं, जिससे हमारा जीवन प्रभावित होने लगता है।

  • बिना तोड़-फोड़ के ऐसे मिटाएं वास्तु दोष

    बिना सोचे-विचारे मकान बनवाने पर उसमें कई वास्तु दोष आ जाते हैं। जिनका असर हमारे जीवन पर पड़ता है।

  • घर से बीमारियां भगाने के लिए आजमाएं ये वास्‍तु टिप्‍स

    स्वस्थ शरीर को ही सबसे बड़ा धन माना जाता है। घर में अगर बीमारियों ने डेरा डाल लिया है तो वास्तु के इन उपाय को अपनाकर आप और आपका परिवार निरोगी हो सकता है।

  • घर में गैराज बनवाना तो ये दिशा है सही

    जिस तरह दिनों-दिन वाहनों की संख्या बढ़ती जा रही है। उसी तरह वाहनों को रखने की भी समस्या भी आम बात हो चुकी है।

  • घर में कभी न लगाएं कांटेदार पौधे

    भवन की सीमा में आने वाली प्रत्येक वस्तु घर के वास्तु को प्रभावित करती है। इसके कई नकारात्मक व सकारात्मक प्रभाव भी होते हैं। घर की खूबसूरती बढ़ाने के लिए लगाए गए पेड़-पौधे भी घर के वास्तु को प्रभावित करते हैं।

  • घर में कौन से पौधे लगाएं और कौन से नहीं

    कहते हैं घर में पौधे लगाने से हरियाली आती है और घर में रहने वाले लोग हमेशा स्वस्थ रहते हैं, लेकिन कई बार आपके लगाए पौधे अच्छे परिणाम नहीं देते।

  • ऐसा होगा किचन तो मिलेगी समृद्धि

    वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में छोटे-छोटे बदलाव करके भी आप अपने जीवन में खुशहाली ला सकते हैं। रसोई घर यानी किचन हमारे घर का सबसे महत्वपुर्ण कमरा होता है।

  • घड़ी से जुड़ी ये बातें आपके बुरे समय को अच्छे में बदल सकती है

    यह दिशा ठहराव की है। साथ ही वास्तु में घर की दक्षिण दिशा यम की दिशा मानी गई है। और इस दिशा में घड़ी लगते से सफलता में परेशानिया आती है।

  • पूजा घर का जीवन पर असर

    पूजा घर का आपके जीवन पर ऐसा असर होता है ज्यादातर वास्तुशास्त्री भी पूजा घर को भवन के उत्तर व पूर्व दिशा के मध्य के भाग ईशान कोण में रखने की सलाह देते हैं और जरुरत पड़ने पर घर में तोड़-फोड़ भी कराते हैं।

  • घर में शंख रखने के कई फायदे

    धार्मिक मान्यता के साथ ही विज्ञान ने भी माना है कि घर में शंख रखने और इसे नियमित तौर पर बजाने के ऐसे कई फायदे हैं जो सीधे तौर पर हमारी सेहत और घर की सुख-शांति से जुड़े हैं।

  • लक्ष्मी को भाता है पीला रंग

    धन की देवी लक्ष्मी को पीला रंग भाता है। माना जाता है कि बुद्धि के विकास का प्रतीक पीला रंग पढ़ाई-लिखाई, कॉन्सन्ट्रेशन और मानसिक स्थिरता के लिए बेहतरीन है।

  • घर के पास न लगाए आम का पेड़

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर के पास आम का पेड़ होना बच्चों पर बुरा असर डालता है। ऐसे पेड़ शौक से तो कभी न लगाएं

  • ईशान कोण में जलाएं पीला बल्ब

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक ज्ञान की ऊर्जा बढ़ाने के लिए पीला बल्ब ईशान कोण में जलाएं। कमरे में सीलन, जाले एवं गंदगी नहीं होनी चाहिए, क्योंकि यह नकारात्मक ऊर्जा का वाहक है।

  • पीपल को प्रणाम करने से बढ़ती है आयु

    ऐसी मान्यता है कि पीपल को प्रणाम करने और उसकी परिक्रमा करने से आयु बढ़ती है। इतना ही नहीं पीपल के पेड़ में पानी देकर उसे संचित करने वाला व्यक्ति सारे पापों से मुक्त हो जाता है।

  • खिड़की की ओर पीठ करके कभी न बैठें

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक खिड़की की ओर पीठ करके कभी न बैठें, खुली खिड़की रखना शुभ संकेत है। लेकिन, आप खिड़की के एकदम सामने पीठ करके न बैठें

  • घर में होता है ईशान कोण का महत्व

    घर में ऋणात्मक शक्तियां कम तथा सकारात्मक शक्तियां अधिक क्रियाशील हों। यह सब वास्तु शास्त्र के उपायों से संभव हो सकता है। घर में ईशान कोण का बहुत महत्व है।

  • देवी-देवता की एक से ज्यादा मूर्ति न रखें

    वास्तु शास्त्र में दिए निर्देशों के मुताबिक कलह से बचने के लिए घर में किसी देवी-देवता की एक से ज्यादा मूर्ति या तस्वीर न रखें। किसी भी देवता की दो तस्वीरें ऐसे न लगाएं

  • पश्चिम दिशा में रखे फ्रिज

    यदि आप अपने परिवार में सुदृढ़ संबंध और संपन्नता चाहते हैं तो वास्तु शास्त्र के मुताबिक फ्रिज को पश्चिम दिशा में रखना चाहिए। यदि आप शांति चाहते हैं तो फ्रिज को दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखें।

  • गोलाकार होना चाहिए स्टडी टेबल

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक स्टडी टेबल आयताकार, वर्गाकार या गोलाकार होना चाहिए। टेबल का आकार आड़ा-तिरछा होगा तो बच्चा एकाग्र नहीं हो पाएगा, कन्फ्यूज्ड रहेगा।

  • घर को नमक के पानी से धोना चाहिए

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर को नकारात्मक प्रभावों से मुक्त रखने के लिए घर को नमक के पानी से धोना चाहिए। प्रवेश द्वारों के ठीक ऊपर घड़ी अथवा कैलेंडर नहीं लगाने चाहिए

  • बच्चो का स्टडी रूम खुला रखे

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक बच्चों का पढ़ाई का कमरा जितना खुला होगा, उतना ऊर्जा का प्रवाह अच्छा होगा। ज्ञान की ऊर्जा को बढ़ाने के लिए पीला बल्ब ईशान कोण में जलाएं।

  • बेडरूम में किस दिशा में रखे तिजोरी

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक यदि आप कोई सेल्फ या तिजोरी, बेडरूम में रखना चाहें तो उसे दक्षिण की दीवार के साथ रख सकते हैं, खुलते समय उसका मुंह धन की दिशा, उत्तर की तरफ खुलना चाहिए।

  • एक से अधिक खिड़कियां न रखें

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक किसी कमरे की किसी एक दीवार में जहां तक हो सके एक से अधिक खिड़कियां न रखें। कमरे की साइज के अनुपात में खिड़की बड़ी ही बनवाएं।

  • किचन आग्नेय कोण में हो

    गृहिणी का किचन से विशेष नाता रहता है। गृहणियां हमेशा इस बात का ख्याल रखती हैं कि उनका किचन आग्नेय कोण में हो। यदि ऐसा नहीं हो तो किसी भी परेशानी का कारण किचन के वास्तुदोष पूर्ण होने को ही मान लिया जाता है

  • मोबाइल नंबर किस अंक हो

    आपका मोबाइल नंबर भी आपकी किस्मत को प्रभावित कर सकता है। मोबाइल नंबर का सही संयोजन चुनकर अपने चुने हुए कैरियर को सफल बनाइए। अगर आप अकादमिक उपलब्धियां चाहते हैं

  • लाफिंग बुद्धा की मूर्ति बहुत शुभ

    चीन के वास्तु शास्त्र फेंगशुई के मुताबिक लाफिंग बुद्धा की मूर्ति बहुत शुभ मानी जाती है। उसे अपने ड्राइंग रूम में ठीक सामने की ओर रखें ताकि घर में प्रवेश करते ही आपकी नजर सबसे पहले उस मूर्ति पर पड़े।

  • पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति होती है शुभ

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति जिस घर में होती है, वहां उन्नति के मार्ग में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं और धन संपत्ति में वृद्घि होती है।

  • लव बर्ड्स या बतख का जोड़ों रखना शुभ

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक लव बर्ड्स या बतख के जोड़ों के चित्र या मूर्ति को बेडरूम में दक्षिण-पश्चिम कोने में रखना लाभकारी होता है। इससे जीवन में प्रेम-पूर्ण सामंजस्य स्थापित करने में मदद मिलती है

  • हरा रंग आरामदायक

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक हरा रंग आरामदायक और शांति पहुंचाने वाला रंग है। यह प्रकृति का प्रतीक है, इसलिए यह सबसे ज्यादा सुंदर है जो सामंजस्यपूर्ण भावनाओं को आकर्षित करता है

  • ड्राइंग रूम का सामान ऐसे रखे

    बैठक कक्ष या ड्राइंग रूम घर का अत्यंत महत्वपूर्ण कमरा होता है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक इस कक्ष में फर्नीचर, शो केस तथा अन्य भारी वस्तुएं दक्षिण-पश्चिम या नैऋत्य में रखनी चाहिए।

  • व्यवसाय में किसी प्रकार की हानि

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक यदि व्यवसाय में किसी प्रकार की हानि होती है या आपके पास धन नहीं रुकता है, तो शुक्ल पक्ष की प्रथमा तिथि को अभिंत्रित कुबेर यंत्र को लाकर घर के पूजा स्थल में लाल वस्त्र में बांध कर रख दें।

  • प्लॉट के चारों कॉर्नर 90 डिग्री पर हो

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक प्लॉट के चारों कॉर्नर 90 डिग्री पर हो यानि प्लॉट का आकार आयताकार या वर्गाकार हो। यदि प्लॉट उत्तर-पूर्व दिशा में बढ़ा हुआ हो तो भी ठीक है

  • 5..खिड़कियां ऊंचे स्थानों पर हों

    वैसे तो घर में खिड़कियां समुचित प्रकाश और हवा आती रहे इसके लिए रखी जाती है, लेकिन वास्तु के अनुसार खिड़कियों की स्थिति का भी हमारे जीवन के सभी पक्षों पर भी गहरा प्रभाव पड़ता है।

  • दरवाजे के पास पानी होना बहुत शुभ

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक दरवाजे के पास पानी होना बहुत ही मंगलकारी माना जाता है। विशेष रूप से यह उत्तर-पूर्व तथा दक्षिण-पूर्व दिशा की ओर के दरवाजों के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है।

  • दो बड़े मकानों के मध्य दबा हुआ मकान न खरीदें

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक दो बड़े मकानों के मध्य छोटा और दबा हुआ मकान न खरीदें। यह वहां रहने वालों के मानस पटल पर एक दबाव और दुख का कारण बन जाता है।

  • कमरों में एक ही रंग की पुताई न करे

    घर की सजावट और इंटीरियर में दीवारों के रंग और पर्दों की अहम भूमिका है। अलग-अलग रंग के पर्दे घर को खूबसूरत तो बनाते ही हैं, पॉजिटिव एनर्जी बनाए रखने में भी मदद करते हैं।

  • अक्षय तृतीया के दिन खरिदे सोना

    ऐसी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन से विश्व में स्वर्ण युग का आरम्भ हुआ था। इस दिन खरीदी गई वस्तु का कभी क्षय नहीं होता। इस मान्यता के चलते अक्षय तृतीया के दिन लोग सोने के आभूषणों की खरीददारी करते हैं।

  • प्रतिष्ठान की दीवारों पर गहरे रंग न लगवाएं

    वास्तु विज्ञान के अनुसार व्यापार में बेहतर लाभ पाने के लिए व्यापारिक प्रतिष्ठान की दीवारों पर गहरे रंग नहीं लगवाएं। सफेद, क्रीम एवं दूसरे हल्के रंगों का प्रयोग सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है

  • दक्षिण-पूर्व दिशा में धारदार वस्तु न रखें

    शास्त्रों के मुताबिक पांच तत्वों के विध्वंसकचक्र के अनुसार धातु, काष्ठ को काट (नष्ट कर) डालती है और दक्षिण-पूर्व दिशा का तत्व काष्ठ है

  • दक्षिण और पश्चिम दिशा खाली न रखें

    वास्तु शास्त्र ने घर में सम्पन्नता बनी रहे, इसके लिए भी मार्गदर्शन दिया है। इसके मुताबिक दक्षिण और पश्चिम दिशा कभी खाली न रखें ।

  • प्लॉट खरीदते समय दिशाओं का रखें ध्यान

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक प्लॉट खरीदते समय जरूरी है कि दिशाओं का विशेष ध्यान रखें। पूर्वमुखी प्लॉट शिक्षा, धर्म एवं अध्यात्म के कार्य में लगे व्यक्तियों के लिए ठीक रहता है।

  • भवन के उत्तर, पूर्व में बड़ा वृक्ष न लगाएं

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक भवन के उत्तर और पूर्व दिशा में बड़ा वृक्ष गंभीर समस्याओं को जन्म देकर उन्नति का मार्ग अवरुद्ध कर गहन आर्थिक संकट को जन्म देते हैं।

  • बेडरूम के लिए वास्तु

    बेडरूम आपका वह स्थान जहां आप अपना सबसे ज्यादा समय बिताते हेें पुरे दिन काम करने के बाद यह स्थान आपके शरीर और दिमाग को आराम और शांति प्रदान करता हैे

  • कौन-सी दिशा में क्या न रखें

    मान्यता है कि यदि घर में सकारात्मक वातावरण और सकारात्मक वस्तुएं रहेंगी, तो निश्चित ही हमें कार्यों में भी सफलता प्राप्त होगी और धन संबंधी परेशानियों से मुक्ति मिलेगी।

  • सोते समय इस दिशा की ओर न करें पैर

    वास्तु शास्त्र में जीवनशैली के लिए भी मार्गदर्शन किया गया है। इसके मुताबिक रात को सोते समय ध्यान दें कि आपका सिर उत्तर और पैर दक्षिण दिशा में न हो अन्यथा सिरदर्द और अनिद्रा जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

  • घर में नहीं होना चाहिए ऐसा शौचालय और रसोई घर

    घर के अंदर उत्तर-पूर्व दिशाओं के कोने के कक्ष में अगर शौचालय है तो पति-पत्नी का जीवन अशांत हो सकता है। आर्थिक संकट व संतान सुख में कमी आती है। इसलिए शौचालय हटा देना ही उचित है।

  • कभी भी खाने की थाली को एक हाथ से न पकड़ें

    वास्‍तु शास्‍त्र में जीवनशैली को लेकर भी मार्गदर्शन दिया गया है। इसके मुताबिक खाने की थाली को कभी भी एक हाथ से न पकड़ें। ऐसा करने से खाना प्रेत योनि में चला जाता है।

  • कभी न लगाएं ऐसी जगह वृक्ष

    जिस भूमि में तीन फुट नीचे बालू की अधिक मात्रा हो वहां वृक्ष न लगाएं, वहां ऐसी कोई फसल न उगाएं जिसकी जड़ें गहरी हों नहीं तो फसल सूखेगी। जिस भूमि के नीचे तीन इंच के बाद पानी हो या बालू हो, वहां भी बड़े वृक्ष न लगाएं।

  • उगते सूरज की किरणें सेहत के लिए होती हैं बहुत लाभदायक

    गर्भवती स्त्रियों को दक्षिण-पश्चिम दिशा स्थित कमरे का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसी अवस्था में पूर्वोत्तर दिशा या ईशान कोण स्थित बेडरूम में नहीं सोना चाहिए।

  • कभी न लगाएं दर्पण ऐसा...

    ड्राइंग रूम छोटा हो तो चारों दीवारों पर दर्पण के टाइल्स लगाएं, लगेगा नहीं कि आप अतिथियों के साथ छोटे कमरे में बैठे हैं। कमरे में दीवारों पर आमने-सामने दर्पण लगाने से घर के सदस्यों में बेचैनी और उलझन होती है।

  • खुशहाल शादीशुदा लाइफ के लिए ऐसा होना चाहिए बेडरूम

    खुशहाल शादीशुदा लाइफ के लिए दंपति का बेडरूम घर की उत्तर -पश्चिम दिशा में होना चाहिए। बेडरूम की दीवारों का रंग गहरा नहीं होना चाहिए।

  • वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार घर में कौन से पौधे लगाएं और कौन से नहीं?

    वास्तु शास्त्र के अनुसार जिस प्रकार घर का हर हिस्सा हमारे जीवन को प्रभावित करता है, उसी तरह घर में सजावट के लिए रखे गए पौधे भी हमारे जीवन पर सकारात्मक व नकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

  • वास्तुदोष है तो संकट ही संकट

    जैसा कि हम जानते हैं, सौरमण्डल में यह पृथ्वी एक छोटा-सा पिण्ड है। सौरमण्डल में सभी ग्रह परस्पर एक-दूसरे से प्रभावित हैं। पृथ्वी तो सूर्य और चन्द्र के बिना अंधकार युक्त हो जाती है। पृथ्वी, सूर्य और चन्द्र के प्रकाश के प्रभाव के बिना अपूर्ण सी लगती है।

  • घर में जरूर लगाए तुलसी का पौधा

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगाएं। इससे परिवार में प्रेम बढ़ता है। तुलसी के पत्तों के नियमित सेवन से कई रोगों से मुक्ति मिलती है। ईशान कोण (उत्तर-पूर्व) को हमेशा साफ-सुथरा रखें ताकि सूर्य की जीवनदायिनी किरणें घर में प्रवेश कर सकें।

  • वास्तु दोष से मुक्त घर में रहती है सुख-समृद्धि

    घर में तुलसी का पौधा लगाएं और संध्या काल में नित्य उसके सामने घी के दीपक जलाएं, तो समस्त वास्तु दोषों का नाश होता है। - घर के आसपास हरी दूब उगाई गई हो, तो प्रतिदिन गणेश जी की प्रतिमा पर थोड़ी हरी दूब चढ़ाने से वास्तु दोष दूर होता है।

  • कभी न फाड़ें विवाह पत्रिका, नहीं तो...

    शयन कक्ष में टेलीविजन भी न रखें, क्‍योकि इससे शारीरिक क्षमताओं पर विपरित असर पड़ता है। घर के भीतर शंख अवश्‍य रखें। इससे बजाने से 500 मीटर के दायरे में रोगाणु नष्‍ट होते हैं।

  • वास्तुशास्त्र में प्राकृतिक शक्तियों का उपयोग

    प्रकृति शक्तियों का अक्षुण्ण भंडार है। इसकी शक्तियां अनन्त हैं, जिनके माध्यम से सृष्टि, विकास एवं प्रलय की प्रक्रिया चलती रहती है। इन अनन्त शक्तियों में से वास्तुशास्त्र मुख्य रुप से प्रकृति की तीन शक्तियों का उपयोग करता है

  • सीढ़ियों में हो वास्तु दोष तो यह जरूर करें...

    वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की सीढ़ियों से तरक्की की ऊंचाई पर भी पहुंचा जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि घर की सीढ़ी वास्तु नियमों के अनुसार बनी हो। सीढ़ी में वास्तुदोष होने पर तरक्की के बजाय नुकसान उठाना पड़ सकता है।

  • वास्तुशास्त्र का उद्भव एवं विकास

    विश्व साहित्य की प्राचीनतम कृति वेद वैदिक विद्याओं का उद्भव स्थान है। वेदों में वास्तुशास्त्र विषयक अनेक प्रसंग इतस्तत: बिखरे पड़े हैं। वेद में वास्तु के अधिष्ठाता देव का नाम वास्तोष्पति है।

  • वास्तु पर ध्यान देते हैं दुकानदार

    एक सर्वेक्षण के अनुसार दुकानदारों के लिए नई दुकान की जगह चुनते समय या डिजाइन अथवा खुदरा केंद्र में प्रवेश व निकासी द्वारा तय करते समय वास्तु नियमों का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण होता है।

  • वास्तुशास्त्र के आधारभूत सिद्धान्त

    वास्तुशास्त्र के ऋषियों एवं महर्षियों ने प्राचीन एवं अवार्चीन वैदिक ग्रन्थों का गंभीरता पूर्वक विवेचन करके इस शास्त्र के नियमों, विधियों प्रविधियों के आधार पर वास्तुशास्त्र के आधारभूत सिद्धान्तों का प्रतिपादन किया।

  • घर में तुलसी का पौधा लगाने से बढ़ता है प्रेम

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में तुलसी का पौधा लगाना लाभकारी होता है। इससे परिवार में प्रेम बढ़ता है। तुलसी के पत्तों के नियमित सेवन से कई रोगों से मुक्ति मिलती है।

  • अध्ययन कक्ष में न रखें कोई भारी वस्तु

    अध्ययन के लिए कमरा जितना खुला होगा, ऊर्जा का प्रवाह उतना ही अच्छा होगा। ज्ञान की ऊर्जा को बढ़ाने के लिए पीलाबल्ब ईशान कोण में जलाएं।

  • घर के पैर होते हैं खंबें, सम होना चाहिए इनकी संख्या

    वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर के खम्भे घर के पैर होते हैं, इसलिए वे संख्या में सम होने चाहिए, जैसे 2, 4, 6, 8 आदि

  • बगीचे के ईशान कोण में लगाएं फव्वारे

    ईशान कोण का तत्व जल है इसलिए जल तत्व से संबंधित फोटो लगाने से ज्ञान की वृद्धि होती है। ज्ञान के तत्व को बढ़ाने के लिए बगीचे के ईशान कोण में फव्वारे लगाएं।

  • लक्ष्मी की कृपा के लिए रखें इन बातों का ख्याल

    घर में लक्ष्मी की कृपा बनी रहे इसलिए ध्यान रखें कि दक्षिण और पश्चिम दिशा खाली न रखें। घर या आॅफिस में दक्षिण और पश्चिम दिशा खाली या हल्का रखना कॅरियर में स्थिरता के लिए शुभ नहीं है।

  • वास्तु टिप्स से संवारे सपनों का घर

    वास्तु शास्त्र के टिप्स को ध्यान में रखकर आप अपने घर को सपनों का घर बना सकते हैं। पूर्व और उत्तर दिशा में मकान का मुख्य प्रवेश दरवाजा सामान्यत: सभी के लिए अच्छा होता है।

  • दक्षिण दिशा में भूलकर भी न रखें फ्रिज

    वास्तु के अनुसार फ्रिज और माइक्रोवेव ओवन को अलग-अलग स्थानों पर रखने से अलग-अलग स्थितियां उत्पन्न होती हैं, जिससे इनका प्रभाव बदल जाता है।

  • शुभ होता है खिड़कियां खुली रखना

    खाली दीवार की ओर मुंह करके बैठने से व्यक्ति धीरे-धीरे अदूरदर्शी हो जाता है। वह व्यक्ति मानसिक तौर पर अकेला महसूस करेगा। इसी तरह खिड़की की ओर पीठ करके कभी न बैठें खुली खिड़की रखना शुभ संकेत है।

  • नकारात्मक ऊर्जा पैदा करते है मकड़ी के जाले

    वास्तु के अनुसार मकड़ी के जाले घर में बहुत अशुभ माने जाते हैं। आमतौर पर देखा जाता है घर के निचले हिस्सों की तो सफाई हो जाती है, लेकिन छत या ऊपरी हिस्सों की ठीक से सफाई नहीं हो पाती।

  • अच्छे स्वास्थ्य के लिए व्यवस्थित रखें घर

    घर में खुशहाली के लिए ध्यान रखें कि फर्नीचर के नुकीले कोने और किनारों को गोल करके चिकना कर देना चाहिए, क्योंकि ये बुरी ऊर्जा के स्रोत हैं।

  • क्रिएटिविटी बढ़ाता है बांस का पौधा

    वास्तु के मुताबिक कुछ ऐसे पौधे भी होते हैं जो आपके नसीब को चमकाने का काम करते हैं। इसके लिए यह जानना जरूरी है कि आॅफिस में कौन से पौधे को रखने से समृद्धि आएगी।