20 Jan 2017, 04:58:26 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

  • स्टोरी टाइम में कहानी, कुत्तों को कंबल

    मंत्री ने मुनादी करा दी। गरीबों की लाइन लग गई। मंत्री कंबल बांटने लगा। तभी कंबल लेकर भिखारी बोला, यह गरीब कुत्ता भी इसी राज्य में रहता है।

  • इस शख्स ने प्लेइंग कार्ड्स से बना डाला होटल

    ईंट की रानी हो या हुकुम का इक्का- प्लेइंग कार्ड्स के ये सभी किरदार हैं मजेदार। दुनिया भर में इन कार्ड्स की मदद से ढेर सारे गेम्स खेले जाते हैं

  • दगड़ू के सपने

    चंदनपुर गांव में एक बूढ़ी औरत रहती थी। उसका एक बेटा था जिसका नाम दगड़ू था। वह औरत कपड़े सिलने का काम करके अपना और अपने बेटे का पेट पालती थी।

  • जेलीफिश में दिमाग नहीं होता, लेकिन होती हैं 24 आंखें

    हम जानते हैं कि करोड़ो साल पहले हमारी धरती पर डायनासोर रहते थे। लेकिन इस धरती पर डायनासोर से भी पुराना जीव है खूबसूरत जेलीफिश।

  • कहां से आया कौन सा खाना

    हर दिन हमारी खाने की प्लेट में जो कुछ भी होता है, वो सब हमेशा से आसपास के खेतों में पैदा नहीं होता था। कई चीजें तो हजारों मील का सफर करके यहां पहुंचती हैं, देखिए कहां से आती है कौन सी चीज।

  • सूर्य से भी बड़ा है ध्रुवतारा

    आकाश में उत्तर की ओर एक चमकता हुआ तारा हर किसी को आकर्षित कर लेता है। तुम्हारी भी उस पर नजर पड़ी होगी। आखिर वह सबसे तेज चमकता हुआ विशाल तारा जो है।

  • गिलहरी के नाम वाला बंदर

    स्क्विरल बंदर बाकी बंदरों से काफी अलग होते हैं। ये सायमीरीन प्रजाति के होते हैं। सायमीरीन नाम में साय का मतलब है बंदर और मीरीन मतलब छोटा अर्थात छोटा बंदर।

  • सलाह सबको दो, पर ध्यान से

    काफी पहले की बात है। धर्मबुद्धि और पापबुद्धि नाम के दो दोस्त रहा करते थे। एक दिन पापबुद्धि ने सोचा, मेरे अंदर दिमाग कम है, इसीलिए मैं गरीब हूं। ऐसा करता हूं कि धर्मबुद्धि के साथ व्यापार करके खूब सारा पैसा कमाता हूं।

  • बच्चों के लिए एक्शन और एडवेंचर गेम्स

    जो बच्चे इंडोर गेम में रुचि रखते हैं उनके लिए नए-नए गेम्स आए हैं। बच्चों की इसी फीलिंग्स को ध्यान में रखकर समर वैकेशंस में रोमांच को बढ़ाने के लिए एक्शन और एडवंचर्स गेम्स की सीरीज आ चुकी है।

  • सन्यासी और एक चूहे की कहानी

    किसी जंगल में रह कर एक संन्यासी तपस्या करता था। जंगल के जानवर उस संन्यासी के पास प्रवचन सुनने आया करते थे। वे संन्यासी को चारों ओर से घेर लेते और वह जानवरों को अच्छा जीवन बिताने का उपदेश देता।

  • परीक्षा से डर कैसा

    दोस्तो, इन दिनों लगभग आप सभी परीक्षा में व्यस्त होंगे या इसकी तैयारियाँ कर रहे होंगे। परीक्षा के दिनों में टेलीविजन के सीरियल देखने का मन होता है।

  • कब हुआ मोबाइल का आविष्कार

    दुनिया के पहले मोबाइल फोन का प्रदर्शन मोटरोला के डॉ मार्टिन कूपर ने सन 1973 में किया था। इन मोबाइल फोनों के पहले भी रेडियो फोन थे, पर उनमें इस सेल्युलर फोन में अंतर था।

  • हाथी सबसे अधिक भावुक जानवर

    जानवरों में कौन कितना अधिक भावुक है इसकी व्याख्या हाल ही में अमेरिका के विलियम एंड मेरी कॉलेज के मानव विज्ञान की प्रोफेसर बारबरा जे किंग ने अपनी एक पुस्तक ‘हाउ एनीमल्स ग्रीव’ में की है।

  • 5 हजार साल पुराना है चाय का इतिहास

    दुनिया में करोड़ों लोगों के सुबह की शुरूआत चाय की प्याली से होती है। एक कप चाय हम सभी को एनर्जी से भर देता है, लेकिन क्या आप जानते हैं चाय की शुरूआत कैसे हुई थी।

  • कैसे आया रोबो

    बच्चों आपका मनपसंद कॉर्टून कैरेक्टर डोरेमोन एक रोबो है, जो नोबिता के साथ रहता है। वो नोबिता की हर बात को समझता है, उसकी मदद करता है।

  • पहली बार कब कहा हैप्पी बर्थडे टू यू

    जब भी किसी को बर्थडे विश करना होता है तो तुम्हारे मन में सबसे पहले क्या आता है? इजी सा आंसर है - हैप्पी बर्थ डे टू यू..। यही गाना गाकर तुम फ्रेंड्स, मम्मी-पापा, टीचर्स सभी को विश करते हो ना।

  • ये वनमानुष सांकेतिक भाषा बोलते हैं

    गोरिल्ला, चिंपैंजी, बबून और गिब्बन वनमानुष जाति के बंदर हैं। इनकी दुम नहीं होती है और वे मनुष्य की तरह दो पैरों पर शरीर को साध कर चल सकते हैं।

  • घर है या मशरूम

    घर को खास बनाने के बनाने के लिए आर्किटेक्ट तरह-तरह से उसको डिजाइन करते हैं। ऐसे ही न्यूयॉर्क के रोचेस्टर के एक आर्किटेक्ट जेम्स एच जोन ने ऐसा घर डिजाइन किया है, जो मशरूम जैसा दिखता है।

  • बहुत पुरानी है पतंगबाजी की परंपरा

    ग्रीक इतिहासकारों की मानें तो पतंगबाजी का खेल 2500 वर्ष पुराना है, जबकि अधिकतर लोगों का मानना है कि पतंगबाजी के खेल की शुरूआत चीन में हुई थी।

  • चीते को नहीं भाता कैद में रहना

    बिल्ली की प्रजातियों में आने वाला चीता अपनी फुर्ती और तेज रफ्तार के लिए पहचाना जाता है। हालांकि यह भी शेर की ही तरह पेड़ों पर नहीं चढ़ सकता।

  • सबसे ठंडा ग्रह है यूरेनस

    यूरेनस अपने सौरमंडल का 7वां ग्रह है, जो बहुत ही ठंडा है। अपनी धरती से 63 गुना बड़ा यह ग्रह अपने छल्ले के कारण बहुत खूबसूरत भी लगता है।

  • जो गरजते हैं वो बरसते नहीं

    कुंभज नाम का एक कुम्हार बहुत सुंदर घड़े, सुराही, गमले आदि बनाता था। उसके बनाए सामान की मांग दूर-दूर तक थी। वह अपना काम पूरी ईमानदारी और निष्ठा से करता था।

  • बच्‍चों के लिए मस्‍ती के बेहतर ऑप्‍शन

    पैरेंट्स को शिकायत होती है कि बच्‍चे घर में बैठकर टीवी, मोबाइल, विडियो गेम्‍स आदि पर वक्‍त बिताते हैं क्‍योंकि वे इतनी गर्मी में बाहर जा नहीं सकते तो ऐसे में हम इन्‍हीं चीजों के जरिए बच्‍चों को बेहतर ऑप्‍शन दे सकते है।

  • चींटियों को भी लगा जंक फूड का चस्का

    अगर तुम्हें लगता है कि जंक फूड सिर्फ तुम ही खाते हो तो तुम गलत सोचते हो। हाल में ही हुए एक शोध में यह साबित हुआ है कि शहरों में रहने वाली चींटियों की कुछ प्रजातियां जंक फूड की दीवानी हैं।

  • आसमान की रानी फिलीपाइन ईगल

    तेजी से लुप्त होते पक्षियों की श्रेणी में आती है फिलीपाइन ईगल। यह चील प्रजाति की ही है, पर दूसरी चीलों से अधिक बड़ी और ताकतवर होती है। यह मुख्य तौर से फिलीपींस में पाई जाती है।

  • किंडल से पढ़ाई बनी आसान

    छुट्टियों के समय में काफी सारी रिवीजन करनी होती है। खासकर नई क्लास की पढ़ाई, जो तुम्हारे लिए कठिन होती है। इसे आसान बनाने के लिए तुम्हें ऐसी मदद की जरूरत है, जो तुम्हारे हर सवाल का जवाब दे दे।

  • पानी पर तैरती कला

    इन दिनों वॉल स्ट्रीट पेंटिंग का प्रचलन खूब जोरों पर है। दुनिया भर के शहरों की व्यस्त जगहों पर बनी दीवारें अब वॉल पेंटिंग से पटी दिखती हैं। अपनी इन पेंटिंग में कलाकार कभी उस शहर की खूबसूरती को बयां करते हैं, तो कभी अपनी कल्पना से लोगों को हैरान करते हैं।

  • पियानो ने पहुंचाया घर

    अक्सर यह सुनने को मिलता है कि टैलेंट से इंसान सब कुछ हासिल कर लेता है। इंग्लैंड का यह बेघर और गरीब म्यूजिशियन इसकी ताजा मिसाल है।

  • नौसिखिया मत समझना

    मलेशिया के एक नामी फिटनेस जिम में लोग उस लड़की को नौसिखिया समझ रहे थे। लेकिन, जब उसने दो ब्लैक-बेल्ट चैंपियन ट्रेनर्स की धुनाई कर दी, तो सब हैरान रह गए।

  • चलो पैराशूट उड़ाएं

    बच्चो, पैराशूट तो तुम्हें खूब पसंद होगा, तो फिर क्यों न आज वही उड़ाएं। तुम्हें चाहिए एक प्लास्टिक की थैली, कैंची, धागा, एक आदमी नुमा वजनदार खिलौना।

  • कबाड़ का पहाड़

    आपके घर की छत और स्टोर रूम में ऐसा बहुत सा कबाड़ होगा, जिसका अब कोई इस्तेमाल नहीं बचा है। अगर कबाड़ को रिसाइकिल होने के लिए कहीं बेच भी दें, तो इससे पर्यावरण को नुकसान तो होगा ही।

  • लालची के हाथ कुछ नहीं आता

    एक जंगल में एक मोर रहता था। वहां एक नदी थी, जिसमें एक कछुआ रहता था। मोर को नाचता देखकर कछुआ बहुत प्रसन्न होता था। उसने मोर को अपना मित्र बना लिया।

  • दांतों से पत्थर भी कुतर सकता है

    दोस्तों, आपने मैदानों, बाग-बगीचों अथवा पेड़-पौधों, पत्तियों पर एक गोल घुमावदार खोल में एक ऐसे नन्हे जानवर को देखा होगा जो हाथ लगाते ही अपने खोल के भीतर छुप जाता है और जब आसपास कोई आहट नहीं पाता तो वापस खोल से बाहर निकलकर बेहद धीमी गति से अपनी राह चल पड़ता है।

  • मेरे जैसा है तुम्हारा हेयरस्टाइल

    नसान तो अपना हेयरस्टाइल बदलते ही हैं, लेकिन क्या आपने किसी कुत्ते को हेयरस्टाइल बदलते देखा है? शायद नहीं, लेकिन इन दिनों ताइवान में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिल रहा है।

  • हमने कहा फेसबुक जकरबर्ग बोले ब्यूटीफुल!

    राजस्थान के अलवर में चंदौली गांव के साइबर सेंटर में कम्प्यूटर और इंटरनेट सीखने आए बच्चों के चेहरे पर अलग ही चमक दिखाई देती है। इन्हें यहां इंटरनेट, पॉवर प्वाइंट और पेंट ब्रश सीखने को तो मिलता ही है

  • कितना प्यारा जाइंट पांडा

    सॉफ्ट टॉयज की दुनिया में मशहूर पांडा असल जीवन में काफी आलसी होता है। लंबे समय तक यह सोता रहता है। लेकिन दुख की बात यह है कि आज इसके अस्तित्व को खतरा है।

  • थिया से टकराई थी

    वैज्ञानिकों ने हाल ही में हुए एक शोध में कहा है कि काफी पहले हमारी पृथ्वी किसी बुध जैसे ग्रह से टकरा गई होगी, जिससे इसमें मैग्नेटिक फील्ड पैदा हुआ। ऐसा माना जा रहा है कि इस टक्कर से पृथ्वी में रेडियोएक्टिव तत्व आ गए।

  • लालची सारस और झील

    एक बूढ़ा सारस नदी किनारे रहता था। वह सारस इतना बूढ़ा हो चला था कि भरपेट भोजन जुटा पाना भी उसके लिए मुश्किल हो गया था। मछलियां अगल-बगल से तैरकर निकल जातीं, लेकिन कमजोर होने के कारण वह उन्हें पकड़ नहीं पाता था।

  • घोड़े की आजादी

    घोड़े पहले दूसरे जंगली जानवरों की भांति जंगलों में रहा करते थे। दूसरे जानवरों की भांति उनका भी शिकार होता था। एक बार जंगल से एक घोड़ा एक किसान के पास आया और कहने लगा, ''भाई, मेरी मदद करो।

  • आग उगलती ये मछली

    समुद्री दुनिया भी अपने अजीबो-गरीब रहस्यों से भरी हुई है। मछलियों के बारे में अब तक यही माना जाता था कि वे अपने शरीर को गर्म रखने के लिए पानी की ऊपरी सतह पर आती हैं।

  • जेम्स कुक और ऑस्ट्रेलिया

    आस्ट्रेलिया में हजारों सालों से एबोरीजिनल लोगों का निवास था। डच नाविक विलियम जेंस्ज वह पहला यूरोपियन था जो सागर पार कर वहां 1606 में पहुंचा।

  • इतनी महंगी नाक

    ब्रिटेन की एक चीज (पनीर) बनाने वाली कंपनी समरसेट ने निगेल पूली नामक एक शख्स की नाक का 50 करोड़ का बीमा कराया है। दरअसल, पूली चीज की क्वालिटी को सूंघकर ही पहचान लेते हैं।

  • कोल्ड ड्रिंक से चमकते सिक्के

    बच्चो, घर में तुम्हारी मम्मी या दादी की गुल्लक में कॉपर के पुराने सिक्के तो जरूर होंगे। बरसों से गुल्लक में पड़े-पड़े ये सिक्के अब मैले हो चुके होंगे और इनकी चमक फीकी पड़ चुकी होगी।

  • यहां सूर्य अस्त नहीं होता

    1905 में स्वतंत्र हुआ नॉर्वे, स्कैंडेनेविया प्रायद्वीप का एक देश है और उत्तरी यूरोप में स्तिथ है। इसकी राजधानी और सबसे बड़ा नगर ओस्लो है। नॉर्वे की अधिकतर धरती पर पहाड़ हैं और इसकी तटरेखा लंबी और असमान है।

  • लॉकर में हो जाओ बंद!

    कैप्सूल इन, लॉकरनुमा होटल है, जिसमें लॉकर जैसे दिख रहे हरेक खाने में सिर्फ एक बेड होता है और उसमें बैठ कर ही घुसा जा सकता है।

  • पानी के अंदर रहने का मजा!

    क्या समुद्र के अंदर पानी में मछलियों के बीच रहने की सोच सकते हो। शायद नहीं। पर अमेरिका में ऐसा एक होटल है जूल्स लॉज। यह समुद्र तल से नीचे 30 फीट गहरे पानी के अंदर बना है।

  • कभी देखे हैं ऐसे होटल

    जादू की कहानियों में मौजूद पिरामिड की शेप में बने, पेड़-पौधों से ढके और चोटी के ऊ पर से बहते झरने वाले होटल में रहना रोमांच से कम नहीं।

  • गर्मियों में घर बैठे खेलो खेल

    गर्मियों की छुट्टियां पड़ गई हैं, लेकिन तेज धूप में घर से बाहर निकलना मुश्किल है। तुम्हारे दोस्त भी तो घर पर ही रहते हैं। ऐसे में तुम अपने घर उन्हें बुलाकर या उनके घर जाकर मस्ती कर सकते हो।

  • क्या तेल भी घुल सकता है?

    बच्चो, तुमने पानी में जब भी कोई रंग या पाउडर मिलाया होगा, तो वह झट से घुल जाता होगा। लेकिन, जब तेल को पानी में डालकर मिलाने की कोशिश की होगी तो वह मिक्स नहीं हुआ होगा।

  • हर दिन 10 हजार कैलोरी फूड

    इंग्लैंड के कार्ल थॉमसन का बचपन भी बाकी लोगों की तरह हंसी-खुशी बीत रहा था। पंद्रह साल की उम्र में कार्ल के सिर से उसकी मां का साया उठ गया और मां की मौत के इस सदमे ने उसे झकझोर कर रख दिया।

  • चिड़िया है, पर उड़ती नहीं

    किवी चिड़िया है, पर यह उड़ नहीं सकती। यह न्यूजीलैंड का राष्ट्रीय प्रतीक है। इसे 19वीं सदी में न्यूजीलैंड का प्रतीक चिन्ह स्वीकार किया गया था। किवी की खासियत उसकी चोंच होती है, जो लंबी और लचीली होती है।

  • चमगादड़ जैसा था डायनोबैट

    चीन में वैज्ञानिकों ने एक ऐसे डायनासोर के जीवाश्म की खोज की है, जिसके शरीर पर चमगादड़ की तरह पंख थे। चीन के हेबेई प्रांत के एक खेत में एक किसान ने इस जीवाश्म की खोज की।

  • बच्चे ने खोज निकाला शाकाहारी टी-रेक्स

    चिली में 7 साल के एक बच्चे ने टी-रेक्स प्रजाति के शाकाहारी डायनासोर का जीवाश्म खोज निकाला है। हुआ यूं कि डियागो सुआरेज अपने दोस्तों के साथ खेत में खेल रहा था। खेलते-खेलते उसे कुछ अजीब चीजें मिलीं।

  • कछुआ चले पहिए की चाल!

    इस कछुए को देखकर तुम्हें हैरानी हो रही होगी। पर ये सच है कि इसके पैर की जगह पहिए लगे हैं। दरअसल 90 साल के इस कछुए का नाम मिसेज टी टोरटॉयज है।

  • जब गधे ने सुनाया अपना गाना

    पुराने समय में एक धोबी था, जिसके पास एक गधा था । दिन में गधा कपड़ों के गट्ठर ले जाने का काम करता था, वहीं रात में धोबी उसे आसपास के मैदान में हरी घास खाने के लिए खुला छोड़ देता था। धोबी से मिली इस छूट का गधा अपनी तरह से इस्तेमाल करता था।

  • कैंडी से बने घर में रहोगे!

    दुनिया भर में तीन ऐसे घरों की चर्चा हो रही है, जो बने तो हैं चॉकलेट-कैंडी-ब्रेड से, पर इनकी बुकिंग कराई जा सकती है। ये साइज में काफी छोटे हैं, पर यहां होटल की तरह सारी सजावट की गई है।

  • बच्चों कहां से आया लाल तरबूज

    गर्मी में पानी से राहत मिलती है, तो तुम ऐसे फल खाओ, जिनमें खूब पानी मिले। ऐसा ही फल है तरबूज। इसमें 92 प्रतिशत पानी होता है। ऐसा माना जाता है कि तरबूज सबसे पहले कालाहारी मरुस्थल, अफ्रीका में पाया गया था।

  • बहुत पुराना है खेल कठपुतली का

    कठपुतली का खेल अत्यंत प्राचीन नाटकीय खेल है, जो समस्त सभ्य संसार व्यापक रूप प्रचलित रहा है। भारत में पारंपरिक पुतली नाटकों की कथावस्तु में पौराणिक साहित्य, लोककथाएं और किवदंतियों की महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है।

  • भाग्य ने साथ दिया तुआ का

    सॉल्ट लेक सिटी के होगल जू में कुछ हफ्ते पहले ही एक बेबी ओरंगउटान का जन्म हुआ। इसे चिड़ियाघर की देखभाल करने वालों ने तुआ नाम दिया, जिसका मतलब होता है भाग्य। अब तुआ अपनी बहन की देखभाल में है, जो उससे 9 साल बड़ी है।

  • जब सितारे बताते थे रास्ता

    दुनिया की खोज के समय, जब रेडियो या रडार नहीं होते थे खोज यात्री अपने रास्ते का ध्यान रखने के लिए सूरज, चांद और सितारों की सहायता लेते थे। खोज की लंबी समुद्री यात्राओं में दिशा बताने का काम यही करते थे।

  • समझदारी से मिले वरदान

    एक लकड़हारा अपनी पत्नी और नेत्रहीन मां के साथ एक जंगल के पास झोपड़ी बनाकर रहता था। उसके बच्चें नहीं थे वह काफी गरीब भी था। हालांकि वो कभी भी किसी भी चीज के लिए भगवान से शिकायत नहीं करता था।

  • रेगिस्तान में कैसे रह पाता है ऊंट?

    लगभग 40 से 50 साल जिंदा रहने वाले ऊंट के शरीर में विभिन्न प्रकार की खूबियां होती हैं जिनके कारण वह रेगिस्तान के अलग और कठिन वातावरण में रह पाता है।

  • संगीत से बढ़ती है बुद्धि

    बहुत से बच्चे संगीत के शौकीन होते हैं। यदि आपका बच्चा भी संगीत का शौकीन है तो उसे रोकें-टोकें नहीं। कारण, संगीत का शौक रखने वाले बच्चे अधिक बुद्धिमान होते हैं। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि यह कहना है कनाडा के अध्ययनकतार्ओं का।

  • लोगों की मदद करता स्पाइडरमैन

    अगर आपको लगता है कि सुपरहीरो लोगों की मदद करने के लिए सिर्फ फिल्मों और कॉमिक्स में आते हैं तो ऐसा नहीं है। कम से कम यहां पर स्पाइडरमैन असल जिंदगी में भी लोगों की मदद करने के लिए आता है।

  • जब अक्षय को गलती का अहसास हुआ

    रोहित और अक्षय दो दोस्त थे। वे दोनों एक दूसरे के अड़ोसी पड़ोसी थे। दोनों एक ही स्कूल और एक ही कक्षा में पढ़ते थे। रोहित और अक्षय पढ़ाई में अच्छे थे। दोनो मन लगा कर पढ़ाई करते थे।

  • कहीं पृथ्वी से गायब न हो जाए ये जानवर

    पर्यावरण में हुए बदलावों से कई जीव-जंतु दुनिया से हमेशा के लिए खत्म हो गए। जानवरों के विलुप्त होने का खतरा आज भी है। इनमें से कुछ तो ऐसे हैं, जो बहुत कम बचे हैं। इनके बारे में जानते हैं.

  • पौधों को भी होता है दर्द!

    थोड़ा सा कटने या छिलने पर हमें दर्द महसूस होता है ना! कभी खेलते हुए गिर जाओ और घुटना छिल जाए तो आंसू भी निकल पड़ते हैं। पर कभी सोचा है उन पौधों के बारे में, जिनके पत्ते तुम तोड़ लेते हो।

  • कुछ अलग हैं... रोम के फव्वारे

    तुमने फव्वारा तो देखा ही होगा। पानी और रंग-बिरंगी लाइट्स इसकी खूबसूरती को बढ़ाने का काम करते हैं। आमतौर पर फव्वारे में मोटर लगी होती है, जो पानी ऊपर की तरफ फेंकती है, जिससे वो तुम्हें तरह-तरह की कलाकृतियां करता भी नजर आता है।

  • समुद्र में संगीत की स्वरलहरियां

    क्या आपको पता है व्हेल संगीतप्रिय ही नहीं स्वयं गाती भी है! और वह भी ऊटपटांग सा नहीं बकायदा उनकी अपनी सरगम के साथ. यदि आप बीच समुद्र में जाएं तो आपको व्हेलों के गीत सुनने को मिल सकते हैं।

  • 621 दिन में लगाई दुनिया की दौड़

    हौसलेबुलंद हों तो मौत का खौफ भी मंजिल के आड़े नहीं आता। ब्रिटिश एथलीट केविन कार ने एक बार फिर इस धारणा को सच साबित कर दिखाया।

  • सवाल पूछो, जानकारी पाओ

    कई बार तुम्हें मम्मी-पापा, टीचर और बड़ों से कई तरह की सलाहें मिलती हैं। ये करो, वो नहीं करो... ऐसे पढ़ो, कम खेलो वगैरह- वगैरह। ऐसा भी होता है कि जब तुम्हें पढ़ाई, हेल्थ, गेम्स आदि के बारे में किसी तरह की जानकारी चाहिए होती है

  • दिल्ली का लौह स्तंभ

    इतिहासकार गुप्तकाल तीसरी शताब्दी से छठी शताब्दी के मध्य को भारत का स्वर्णयुग मानते हैं। इस काल के वैभव का प्रत्यक्षदर्शी रहा है दिल्ली का लौह स्तंभ।

  • मैंने कब कहा?

    बिन्नी के फाइनल एग्जाम खत्म हो गए हैं। इन दिनों वह सुबह मम्मी के बिना जगाए ही जाग जाता है। फिर फटाफट ब्रश करता है और तैयार होकर अपने दादाजी के साथ पार्क चला जाता है।

  • जादू की छड़ी

    रात की बात है शालू अपने बिस्तर पर लेटी थी। अचानक उसके कमरे की खिड़की पर बिजली चमकी। शालू घबराकर उठ गई। उसने देखा कि खिड़की के पास एक बुढ़िया हवा मे उड़ रही थी। बुढ़िया खिड़की के पास आई और बोली शालू तुम मुझे अच्छी लड़की हो।

  • बहुत पुराना है ‘रूपइया’

    बच्चों रुपए के सफर पर डालें एक नजर, जो प्राचीन टकसालों से होता हुआ हमारी जेब में आ पहुंचा है। इसका सफर शुरू हुआ छठी सदी ईसा पूर्व से। 2,600 साल पहले प्राचीन भारत में सबसे पहले जारी किए गए।

  • रोहन और उसका ‘स्कूटर’(कहानी)

    रोहन के पास एक पैर से चलाने वाला स्कूटर था। वह जब उसे चलाने बाहर निकलता, तो उसकी दादी पीछे दौड़तीं। घर ढलान पर था। आसपास बहुत से चिनार के पेड़ थे। जंगली घास भी थी।

  • मेरा प्यारा टॉमी (बाल कहानी)

    रोहन कक्षा पांच में पढ़ता था, उसके स्कूल में सर्दी की छुटि्टयां होने वाली थी। इस बार की छुटि्टयों में रोहन ने अपने चाचाजी के यहां जाने का प्लान बनाया। छुटि्टयां होते ही रोहन के चाचा रोहन को अपने घर ले गए। रोहन जब चाचा के साथ उनके घर पहुंचा तो उनका पालतू डॉग टॉमी भौं-भौं करता हुआ रोहन के पास आ गया। रोहन को कुत्ते बिल्कुल भी पसंद नहीं थे। टॉमी के पास आते ही रोहन ने उसे हट-हट कर अपने पास से भगा दिया। रोहन के चाचाजी ने टॉमी को गोद में उठाया और रोहन से बोले− रोहन! टॉमी बुरा नहीं है, यह तो मुसीबत में हमारे काम आता है और वफादार भी बहुत है, यह पालतू है किसी को काटता भी नहीं है।