23 Aug 2019, 14:31:43 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Health

कैंसर जैसी कई खतरनाक बीमारी से लड़ने के लिए फायदेमंद है नाशपाती

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 17 2019 8:05PM | Updated Date: Jul 17 2019 8:05PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नाशपाती न केवल स्वादिष्ट होता है बल्कि कई स्वास्थ्य लाभदायक फायदे भी देता हैं, अगर आप नाशपाती के फायदों से अनजान हैं तो हम नाशपाती से जुड़ी कुछ खास बातें बताने जा रहे हैं, जो आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकती हैं। नाशपाती विभिन्न रूपों में पाई जाती है, लेकिन एक सामान्य प्रकार की नाशपाती में आठ प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं।
जैसे-
1.कैलोरी- 101 
2.प्रोटीन- 1 ग्राम
३.कार्बेस- 27 ग्राम
4.फाइबर- 6 ग्राम
5.विटामिन सी- दैनिक मूल्य का 12 फीसदी
6.विटामिन के- दैनिक मूल्य का 6 फीसदी
7.पोटेशियम- दैनिक मूल्य का 4 फीसदी
8.कॉपर- दैनिक मूल्य का 6 फीसदी
 
 
 
 
आंत के स्वास्थ्य को बनाता है बेहतर-  नाशपाती सोल्यूबल और इनसोल्यूबल फाइबर का एक अच्छा स्त्रोत है, जो हमारे पाचन स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। ये फाइबर हमारे आंतों को नरम रखने में मदद करते हैं ।  एक सामान्य आकार की नाशपाती (178 ग्राम) में 6 ग्राम फाइबर होता है, जो हमारे रोजाना की फाइबर जरूरत का 22 फीसदी हिस्सा पूरा करता है। इसके अतिरिक्त सोल्यूबल फाइबर आपकी आंत में स्वस्थ बैक्टीरिया को खाद्य आपूर्ति करते हैं। क्योंकि इन्हें प्रीबायोटिक माना जाता है, जो कि स्वस्थ आयु व इम्युनिटी बढ़ाने से जुड़ा हुआ है।
 
नाशपाती में होते हैं सूजन-जलन रोधी गुण- हालांकि जलन या फिर सूजन एक सामन्य प्रक्रिया है लेकिन लंबे समय तक ऐसा रहना आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। यह कुछ ह्रदय रोगों और टाइप-2 डायबिटीज सहित कुछ बीमारियों से जुड़ा हुआ है। नाशपाती फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सिडेंट एक अच्छा स्त्रोत है, जो सूजन व जलन से लड़ने में मदद करता है और कई बीमारियों के खतरे को कम करता है। कई अध्ययनों में बताया गया है कि दिल की बीमारी और मधुमेह के जोखिम को कम करने के लिए उच्च फ्लेवोनोइड का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा नाशपाती में कई विटामिन, खनिज और कॉपर जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो सूजन व जलन का भी मुकाबला करते हैं।
 
नाशपाती में होते हैं कैंसर रोधी प्रभाव- नाशपाती में एंटीकैंसर गुण भी होते हैं। उदाहरण के लिए, नाशपाती में पाए जाने वाले एंथोसायनिन और दालचीनी एसिड कैंसर से लड़ने में फायदेमंद है। कुछ अध्ययनों से संकेत मिला है कि नाशपाती सहित कई फलों में कैंसर से रक्षा करने की क्षमता है। इसके अलावा यह फेफड़े, पेट और मूत्राशय जैसी बीमारियों में भी काम आता है। अधिक फल खाने से आपके कैंसर का खतरा कम हो सकता है लेकिन इस पर अधिक शोध की आवश्यकता है। हालांकि नाशपाती को कैंसर के उपचार के लिए प्रतिस्थापन के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।
 
 
 
डायबिटीज के खतरे को कम करती नाशपाती-  लाल नाशपाती डायबिटीज के खतरे को कम करने में मदद करती है। 200,000 से अधिक लोगों पर किए गए एक बड़े अध्ययन में पाया गया कि सप्ताह में पांच या उससे ज्यादा एंथोसायनिन से भरपूर लाल नाशपाती खाने से टाइप 2 डायबिटीज का जोखिम 23 फीसदी कम हो जाता है। इसके अलावा एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि नाशपाती के छिलके में पाए जाने वाला एंथोसायनिन मधुमेह और सूजन व जलन को भी करने में मदद करता है। इसके साथ ही नाशपाती ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है।
 
ह्रदय को स्वस्थ बनाती नाशपाती- नाशपाती ह्रदय रोगों के खतरे को भी कम करने में मदद करती है। नाशपाती के प्रोसेनिडिन एंटीऑक्सिडेंट हृदय के ऊतकों में कठोरता, एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं और एचडीएल (अच्छा) कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकते हैं। नाशपाती के छिलके में क्वैरसेटिन नाम का एक महत्वपूर्ण एंटीऑक्सिडेंट होता है, जो सूजन व जलन को कम करने और उच्च रक्तचाप व  कोलेस्ट्रॉल के स्तर जैसे हृदय रोग के जोखिम कारकों को कम करके हृदय स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है। 30,000 से अधिक महिलाओं पर 17 साल के एक बड़े अध्ययन से पता चला है कि फलों के हर रोज 80 ग्राम सेवन से हृदय रोग का जोखिम 6-7 फीसदी तक कम हो जाता है।
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »