06 Dec 2019, 23:34:29 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Health

क्‍या है ‘एफेब्रिल डेंगू है ज्‍यादा खतरनाक

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 15 2019 1:52AM | Updated Date: Jul 15 2019 1:52AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

बिना बुखार का डेंगू भी हो सकता है। जिसे एफेब्रिल डेंगू कहा जाता है। डॉक्टर बताते है वक्त पर सही इलाज हो तो हालात कंट्रोल में रहते हैं।‘एफेब्रिल डेंगू’ यानी बिना बुखार वाला डेंगू मधुमेह के मरीज़ों, बूढ़े लोगों और कमज़ोर इम्यूनिटी वाले लोगों में बुखार के बिना भी डेंगू हो सकता है। ऐसे मरीज़ों को बुखार तो नहीं होता, लेकिन डेंगू के दूसरे लक्षण ज़रूर होते हैं। ये लक्षण भी इतने हल्‍के होते हैं कि मरीज इस ओर ध्‍यान ही नहीं दे पाता। इस तरह का डेंगू ख़तरनाक हो सकता है, क्योंकि मरीज को पता ही नहीं होता कि उसे डेंगू हो गया है। कई बार वो डॉक्टर के पास भी नहीं जाते।
 
‘एफेब्रिल डेंगू के लक्षण
इस तरह के डेंगू में बहुत हल्का इंफेक्शन होता है। मरीज़ को बुखार नहीं आता, शरीर में ज़्यादा दर्द नहीं होता, चमड़ी पर ज़्यादा चकत्ते भी नहीं होते। कई बार मरीज़ को लगता है कि उसे नॉर्मल वायरल हुआ है, लेकिन टेस्ट कराने पर उनके शरीर में प्लेटलेट्स की कमी, व्हाइट और रेड ब्लड सेल्स की कमी होती है। जरनल ऑफ़ फिजिशियन ऑफ़ इंडिया की एक स्टडी के मुताबिक थाईलैंड में बच्चों में बिन बुखार वाले डेंगू के बहुत से मामले आए हैं। स्टडी के मुताबिक वहां के 20 फ़ीसदी बच्चों में इस तरह का डेंगू पाया गया है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »