08 Dec 2019, 03:23:13 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Health

बुखार दूर करने में मदद करती धनिया पत्ती की चाय

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 30 2019 12:48AM | Updated Date: Jun 30 2019 12:48AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

कई बार ऐसा होता है कि लोग हल्के बुखार को भी हल्के में ले लेते हैं और डॉक्टर से सलाह लिए बिना केमिस्ट से ही पेन किलर या फिर बुखार की गोली लेकर संतुष्टि कर लेते हैं। लेकिन ऐसा करना मुश्किल खड़ी कर सकता है। आजकल चमकी बुखार पूरे चरम पर है। बिहार में कई बच्चे इस बुखार की भेंट चढ़ चुके हैं। इसलिए एक सामान्य से दिखने वाले बुखार को भी हल्के में न लें और डॉक्टर से संपर्क करें। बुखार में शरीर का तापमान अत्यधिक बढ़ जाता है और हड्डियों में भी दर्द होने लगता है। कुछ भी खाने-पीने का मन नहीं करता। बुखार में डॉक्टरी इलाज तो जरूरी है ही, लेकिन इसके अलावा कुछ घरेलू नुस्खों के जरिए भी बुखार में राहत मिल सकती है। 

आइए जानते हैं इन घरेलू नुस्खों के बारे में : 
1- बुखार में शरीर में पानी की कमी हो जाती है। शरीर में मौजूद तरल पदार्थ पेशाब के जरिए बाहर आ जाते हैं। इसलिए भरपूर मात्रा में पानी व अन्य तरल पदार्थ लें। 
2- कई लोग सोचते हैं बुखार से पीड़ित व्यक्ति की बर्फ के पानी से पट्टी करने या फिर उसे ठंडे पानी से नहलाने से शरीर का तापमान कम हो जाएगा। लेकिन ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। बुखार की स्थिति में मरीज को ठंडे पानी से नहलाने या फिर आइस पैक यूज करने के बजाय हल्के गरम पानी से नहलाएं। इससे शरीर का तापमान सामान्य हो जाएगा। 
3- बगल, गर्दन, पैरो के तलवे और हाथों पर स्पंज बाथ देने से भी काफी फायदा मिलता है। 
4- बुखार है तो शराब और कॉफी पीने से बचें क्योंकि इनसे शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है।
5- बेसिल: बेसिल यानी तुलसी की पत्तियों को बुखार कम करने में कारगर माना गया है। तुलसी में औषधीय गुण होते हैं जिसके कारण इसका इस्तेमाल सर्दी और खांसी-जुकाम के अलावा बुखार और इंफेक्शन के इलाज में किया जाता रहा है। बुखार होने पर रोजाना तुलसी की चाय दो बार पिएं और उन्हें पानी में उबालकर भी खाएं। काफी फायदा होगा। 
6- लहसुन: इसकी तासीर गरम होती है और इसमें ऐंटी-बैक्टीरियल और ऐंटी-फंगल तत्व होते हैं जो इंफेक्शन तो दूर रखते ही हैं साथ ही शरीर के तापमान को भी कम करने में मदद करते हैं। 
7- धनिया पत्ती की चाय: क्या आप जानते हैं कि हरे धनिये की पत्ती भी बुखार कम करने में मदद करता है? धनिया पत्ती को सदियों से बुखार, उल्टी और कंपन के इलाज में इस्तेमाल किया जाता रहा है। इसके लिए हरे धनिया पत्ती को पानी में उबालकर काढ़े के तौर पर भी लिया जा सकता है। इसके अलावा इसकी चाय बनाकर भी पी जा सकती है। चाय बनाने के लिए एक कप पानी में धनिया पत्ती उबालें। एक चम्मच शहद और एक नींबू निचोड़ें। कुछ देर पकने दें और फिर छानकर पी लें। हालांकि ध्यान रहे कि गर्भवती महिलाएं बुखार में धनिया पत्ती की चाय बिल्कुल भी न पिएं, नहीं तो मिसकैरेज हो सकता है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »