13 Dec 2019, 18:09:02 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

स्वामी नित्यानंद आश्रम और स्कूल को लेकर हाई वोल्टेज ड्रामा जारी, पुलिस ने दी क्लिन चिट

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 17 2019 2:46AM | Updated Date: Nov 17 2019 2:46AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अहमदाबाद। गुजरात के अहमदाबाद स्थित स्वामी नित्यानंद आश्रम और इसकी ओर से गुरूकुल मॉडल पर संचालित एक आवासीय विद्यालय को लेकर पिछले लगभग एक पखवाड़े से जारी घमासान के बीच आज एक बार फिर इसको लेकर हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ हालांकि पुलिस ने आश्रम को एक तरह से क्लिन चिट दे दी। दरअसल, मूलरूप से दक्षिण भारतीय स्वामी नित्यानंद के यहां हाथीजन इलाके में स्थित आश्रम पर इसके ही एक पूर्व अनुयायी की दो युवा बेटियों समेत चार बच्चों को जबरन अपने पास रखने और स्कूल में कई बच्चों को इसी तरह कथित तौर पर जबरन रखने के आरोप के बाद से यहां बाल अधिकार आयोग और पुलिस मामले की जांच कर रही है जबकि महिला आयोग भी मामले पर नजर रखने की बात कह रही है।
 
पुलिस उपाधीक्षक एस एच सारडा ने आज यहां प्रतिष्ठित दिल्ली पब्लिक स्कूल की ओर से लीज पर दी गयी जमीन पर बने योगिनी सर्वज्ञपीठम आश्रम के गुरूकुल स्कूल का दौरा करने के बाद यूएनआई को बताया कि विवाद की शुरूआत गत एक नवंबर से हुई जब तमिलनाडु निवासी आश्रम के पूर्व अनुयायी जनार्दन शर्मा ने आरोप लगाया कि उसकी तीन बेटियों समेत चार संतानों को आश्रम ने जबरन रख लिया है और उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा। जांच के दौरान पता चला कि उनकी सबसे बड़ी बेटी जो बालिग है आश्रम के काम से विदेश में रहती हैं। दूसरी बेटी नित्यानंदिता (19) भी स्वेच्छा से आश्रम के साथ हैं और अपने माता पिता के साथ नहीं रहना चाहती। उनकी 14 साल की तीसरी बेटी और 12 साल के बेटे जो गुरूकुल स्कूल में थे, को शर्मा को सौंप दिया गया।
 
दोनो ने माता पिता के साथ रहने की हामी भरी थी। सारडा ने बताया कि बाद में यह आरोप लगाया गया कि आश्रम के स्कूल में कई बच्चों को जबरन बंधक बना कर रखा गया है। इसकी शिकायत बाल कल्याण समिति को भी की गयी। इसके बाद वह कल और आज भी स्कूल गये। जांच में पता चला कि वहां 21 बच्चियों समेत कुल 37 बच्चे हैं और सभी स्वेच्छा से और माता-पिता के अधिकार पत्र को लेकर वहां रहते हैं। आश्रम ने उनके साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं किया है। नित्यानंदिता से भी आज वीडियो कॉंलिंग के जरिये बातचीत हुई और उसने फिर से दोहराया कि वह अपने माता पिता के साथ नहीं जाना चाहती। चूकि वह बालिग है इसलिए उसे इसके लिए बाध्य भी नहीं किया जा सकता। वह बाहर है और जल्द ही रूबरू आकर पुलिस से मिलेगी।
 
उसे यह भी डर है कि उसके माता पिता ही उसका अपहरण कर सकते हैं। पुलिस को अब तक कुछ भी गलत नहीं मिला है पर जांच अब भी जारी है। इस बीच शर्मा ने आज एक बार फिर आरोप लगाया कि आश्रम उन्हें धमका रहा है और बच्चियों से उन्हें नहीं मिलने दे रहा। उन्होंने कहा कि अगर सबकुछ ठीक है तो बच्चियों को उनसे मिलने क्यों नहीं दिया जा रहा। उन्होंने स्वयं ही अपने बच्चों को आश्रम से जोड़ा था पर अब इस बर्ताव से हतप्रभ हैं। आश्रम वाले उन्हें दुष्कर्म और वित्तीय अनियमिता के मामले में फंसाने की धमकी भी दे रहे हैं। इस बीच, डीपीएस स्कूल के प्रधानाध्यापक ने पत्रकारों से कहा कि उनके स्कूल का गुरूकुल स्कूल से कोई जुड़ाव नहीं है। योग जैसे अच्छे कार्यों से गुरूकुल के जुड़ाव के कारण ही उसे लीज पर जमीन दी गयी है। उधर इस मामले में जिला शिक्षा विभाग की जांच अभी जारी है। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »