17 Oct 2019, 20:50:37 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

बसपा ने ईडी व सीबीआई के दबाव में तोड़ा समझौता : दिग्विजय चौटाला

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 17 2019 3:55PM | Updated Date: Sep 17 2019 3:55PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

सिरसा। जननायक जनता पार्टी (जजपा) नेता दिग्विजय चौटाला ने आज आरोप लगाया कि बहुजन समाज पार्टी ने अपने नेताओं पर कई मामलों में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की लटकती तलवार के कारण भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दबाव में जजपा से नाता तोड़ा। मीडिया से बातचीत में  दिग्विजय बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा के उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें उन्होंने (मिश्रा ने) चौटाला परिवार की कलह को गठबंधन तोड़ने का कारण बताया। दिग्विजय ने कहा कि गठबंधन के समय पारिवारिक एकता की कोई शर्त नहीं थी। 
 
दिग्विजय ने कहा कि बसपा-जजपा के बीच समझौते के अनुसार बसपा 40 पर और जजपा 50 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली थी पर गठबंधन की घोषणा के बाद से ही बसपा लगातार सीटें बढ़ाने को लेकर दबाव बनाने की कोशिश कर रही थी। दिग्विजय ने कहा कि जजपा 50 की बजाय 40 सीटों पर लड़ने के मुद्दे पर मंथन ही कर रही थी कि इस बीच बसपा ने नाता तोड़ लिया।
 
उन्होंने कहा कि बसपा यह भी दबाव डाल रही थी कि हरियाणा में पहले वह अपने प्रत्याशी घोषित करे उसके बाद शेष सीटों पर जजपा अपने उम्मीदवार उतारे, इससे बसपा की नीयत में पूर्व में ही खोट नजर आ रहा था। उन्होंने कहा कि जजपा प्रदेश अकेले अपने दम पर सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा गठबंधन टूटने के बाद भी जजपा बहुजन समाज के लोगों के साथ खड़ी है और उन्हें आगामी विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज की हिस्सेदारी सुनिश्चित करने का फैसला लिया है। 
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »