26 Aug 2019, 10:41:32 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

कनेक्शन की तुलना में बेहद कम सिलेंडर हो रहे रिफिल

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 18 2019 1:43AM | Updated Date: Jul 18 2019 1:43AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। रिसर्च में पता चला है कि जिन लोगों को उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन मिले हैं, उनमें से बहुत कम लोग ही सिलेंडर दोबारा से भरवाते हैं और आमतौर पर सिलेंडर खत्म होने के बाद फिर से चूल्हे का रुख कर लेते हैं। बता दें कि मई, 2016 में मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की शुरूआत की थी। राष्ट्रीय स्तर पर शुरू की गई इस योजना के तहत सरकार ने साफ ईंधन को बढ़ावा देने के लिए वित्तीय मदद, सब्सिडी और लोन के जरिए लोगों को स्टोव और एलपीजी सिलेंडर दिए गए थे। आंकड़ों के अनुसार, 7 करोड़ गरीब परिवारों को उज्जवला योजना के तहत बीते तीन सालों में स्टोव और सिलेंडर मिले हैं।

प्रदूषण और बीमारियों से बचना मुश्किल
पर्यावरण और ऊर्जा पर रिसर्च करने वाले वैज्ञानिकों की एक टीम ने अपनी रिसर्च में बताया है कि सामान्य तौर पर 1000 में से 400 एलपीजी सिलेंडर मासिक तौर पर रिफिल कराए जाते हैं। जबकि उज्जवला योजना के तहत वितरित किए गए एलपीजी सिलेंडर्स में एक माह में 1000 में से सिर्फ 100 सिलेंडर ही रिफिल कराए जाते हैं। इन आंकड़ों के आधार पर रिसर्च करने वाली टीम का आकलन है कि इस तरह से सरकार के प्रदूषण घटाने और महिलाओं को सांस संबंधी बीमारियों से बचाने का लक्ष्य हासिल करना बेहद मुश्किल काम है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »