21 Sep 2019, 16:52:04 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

मोदी को मिले उपहारों की होगी ऑनलाइन नीलामी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 11 2019 3:32PM | Updated Date: Sep 11 2019 3:32PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। अगर आप अपने ड्राइंग रूम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मिले उपहारों से सजाना चाहते हैं तो आप उन्हें घर बैठे ऑनलाइन नीलामी में खरीद सकते हैं। यह नीलामी 14 सितम्बर से तीन अक्टूबर तक होगी जिसमें मोदी को मिले रंग-बिरंगे, दुर्लभ एवं अनूठे उपहार खरीदा जा सकेगा। इनमें चांदी की तलवार से लेकर प्रधानमंत्री की थ्री डी इमेज वाली कलाकृति तक शामिल है। नीलामी से मिली राशि का उपयोग नमामि गंगे परियोजना में खर्च की जाएगी। केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रशाद पटेल ने बुधवार को यहाँ राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय में इन उपहारों की प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को पिछले छह माह में मिले उपहारों में से 2772 वस्तुओं को ऑनलाइन नीलाम किया जा रहा है। यह नीलामी 14 सितम्बर से होगी जो तीन अक्टूबर तक चलेगी और इसे एक माह तक बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि नीलामी के लिए हर वस्तुओं की सुरक्षित कीमत रखी गयी है और उस पर बोली लगाई जायेगी। उपहारों की बिक्री सुरक्षित मूल्य से कम राशि पर नही होगी।
 
उन्होंने बताया कि इन उपहारों की न्यूनतम सुरक्षित  कीमत 500 रुपए है जबकि अधिकतम 2.5  लाख रुपए होगी। नीलामी हर दिन ऑनलाइन चलेगी और तीन अक्तूबर के बाद अंतिम कीमतों का पता चल सकेगा। अगर नीलामी में अधिकतम बोली बोलने वाला खरीदार सामन नहीं लेता है तो उस सामान की दोबारा नीलामी होगी। मोदी के उपहारों की ऑनलाइन नीलामी 22 जनवरी से नौ फरवरी तक की गयी थी जिसमें चार हज़ार बोलीकर्ताओं ने भाग लिया था लेकिन सरकार ने इस नीलामी  से मिली राशि बताने से मना कर दिया। अधिकतम बोली पांच लाख लगी थी जिसमे लकड़ी से निर्मित बी एम डी शामिल है। पटेल ने बताया कि इस प्रदर्शनी में विदेशी उपहारों को शामिल नहीं किया गया है। प्रदर्शनी में श्री मोदी की करीब 30 पेंटिग फोटो कला कृतियाँ हैं जिनमें एक सिल्क की बनी है जिसकी कीमत 2.5 लाख तय की गयी है। इसके अलावा गाय की कलाकृतियाँ, कृष्ण की कई सुन्दर मूर्तियाँ, चांदी और सोने से मढ़ी तलवारें, पगड़ियां, स्वर्ण मन्दिर, तीर-धनुष, बुद्ध एवं शिवाजी  की मूर्तियाँ, अशोक स्तम्भ, विवेकानंद-आंबेडकर की प्रतिमायें, कुल्लू पूर्वोत्तर राज्य की कलाकृतियाँ, तिरुपति का मन्दिर आदि के बलावा सर छोटू राम और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पेटिंग भी है। इसके अलावा कई तरह के शाल जैकेट और रंग-बिरंगी टोपियाँ भी हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »