18 Jan 2020, 17:06:18 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

पोस्को एक्ट के तहत आरोपियों को दया याचिका से वंचित करना चाहिए : कोविंद

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 6 2019 4:43PM | Updated Date: Dec 6 2019 4:43PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

सिरोही। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महिला सुरक्षा पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा है कि पोस्को एक्ट के तहत दुष्कर्म के आरोपियों को दया याचिका से वंचित कर देना चाहिए। कोविंद आज आबू रोड़ में ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय संस्थान में महिला सशक्तीकरण द्वारा सामाजिक परिवर्तन विषय पर आयोजित सम्मेलन में बोलते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि बेटियों पर होने वाले आसुरी प्रहार पूरे देश की आत्मा को जगजौहर रख  देती है।
 
इस तरह का संविधान में एक कानून है जिस पर पुनर्विचार होना चाहिए।  पोस्को एक्ट के तहत आरोपियों को दया याचिका से वंचित कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह काम  संसद का है। उन्होंने महिला शिक्षा स्तर पर  चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आज भी साक्षरता दर कम है, लेकिन बेटियों की  शिक्षा के लिए काम हो रहा है। राजस्थान के बांसवाड़ा जैसे आदिवासी जिले में  हर एक हजार बेटों पर 1003 बेटियां पैदा होने की बात से गर्व होता है। 
 
उन्होंने जनधन योजना 52 प्रतिशत खाते खुलने पर हर्ष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस बार संसद  में 78 महिलाएं सांसद का होना गर्व की बात है। कोविंद ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी पूरे समाज की है। गौरतलब है कि श्री कोंिवद का यह बयान ऐसे समय आया है जब हैदराबाद में एक पशु चिकित्सक की दुष्कर्म के बाद जला कर मार डालने और उन्नाव में बलात्कार पीड़तिा को दिन दिहाड़े जलाने की घटना से देश में रोष का माहौल बना हुआ है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »