23 May 2017, 08:46:47 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

कश्मीर में अपनी जान की बाजी लगाने के बाद भी पत्थर खाते हैं हमारे जवान : पीएम

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 21 2017 1:40PM | Updated Date: Apr 21 2017 1:40PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सिविल सर्विसेस डे के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। कार्यक्रम में बालते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज के वक्त में अफसरों की जिम्मेदारियां काफी बढ गई हैं। साथ ही उन्होनें कहा कि चीजों को बदलने के लिए अफसरों का रोल सबसे अहम है।

पीएम ने अफसरों को कहा कि अगर आप काम करने का तरीका बदलेंगे तो चुनौतियां अवसर में बदल जाएंगी। पीएम ने अफसरों को सोशल मीडिया पर खुद के प्रचार से दूर रहने के लिए भी कहा। पीएम ने कहा कि अफसर सोशल मीडिया पर अपना प्रचार ना करें, काम करने का तरीका बदलें। पीएम ने कहा कि तुलनात्मक स्थिति में भी लगता है कि हमें आगे बढना चाहिए। 

कश्मीर के मामले पर बोलते हुए मोदी ने कहा कि कश्मीर के अंदर बाढ़ आती है, तो फौज के लोग उनकी जान बचाते हैं, बाद में उनके लिए ताली भी बजाते हैं, भले ही बाद में उनसे पत्थर खाते हों। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि पिछले 15-20 सालों में कार्यशैली का तरीका बदला है, अब हमारी जिम्मेदारी बढ़ गई है।
 
पीएम ने कहा कि अब लोगों के पास कई तरह के विकल्प मौजूद हैं जिसे हमारी चुनौतियां भी बढ़ गई हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें भी अपनी कार्यशैली को बदलना होगा ताकि सरकार के रहते हुए लोगों को बोझ का एहसास ना हो। पीएम मोदी ने अफसरों से अपील कि अगले एक साल में काम की क्वालिटी में बदलाव होना चाहिए, सिर्फ सर्वश्रेष्ठ होने से काम नहीं चलता है।
 
अगर सर्वश्रेष्ठ होने का ठप्पा आप पर लगा है तो उसे आदत बनाना जरुरी है। पीएम मोदी ने अफसरों से कहा कि उन्हें गृहणियों से काफी कुछ सीखने की जरुरत है, वह किस तरह परेशानियों के बावजूद सभी चीजों को मैनेज करती है। मोदी ने कहा कि गृहिणी परिवार को नई ऊंचाई पर ले जाती है, वही जिम्मेदारी आपकी भी होनी चाहिए।
 

 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »