25 Apr 2017, 02:32:49 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

नई दिल्‍ली। स्मार्ट फोन के कारण उपजी सेल्फी के चलन इतना बढ़ गया है कि इसका क्रेज बच्चों, युवाओं और बुजुर्गों, हर वर्ग में देखने को मिल रहा है। सेल्फी अब लोगों के बेडरूम से बाथरूम तक पहुंची गई है। लोग अपनी प्राइवेसी तक को अपलोड करने लगे हैं। 

एक लड़की का केस को हैंडल कर रहे एम्‍स मनोरोग ईकाई के डॉ. नंद कुमार ने कहा 'सेल्‍फीसाइड से पीड़ि‍त लड़की यह आश्‍वासन चाहती थी कि वह पूरे दिन सुंदर दिखें और उसके लिए वह इंस्‍टाग्राम और फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट्स पर अपनी तस्‍वीरें पोस्‍ट करती रहती है ताकि लोगों का व्‍यू मिल सके। उसने अपने कॉलेज का समय भी बहुत व्‍यर्थ किया और यहां तक कि खाना भी। वह अनहेल्‍दी लाइफस्‍टाइल जीने लगी।'

पि‍छले कुछ महीनों में दो मामले एम्‍स में और तीन श्री गंगा राम हॉस्पिटल में दर्ज हुए है जो कि 'सेल्‍फीसाइड' से पीड़ि‍त हैं। यह एक कम्‍पलसीज डिसऑर्डर है जिसमें मोबाइल फोन के सामने लगातार और बार-बार पोज दिया जाता है और लोगों के फीडबैक के लिए तस्‍वीरें शेयर की जाती है।
 
इस डिसऑर्डर से पीड़ि‍त व्‍यक्ति हरदम मिरर में देखता रहता है या खुद की तस्‍वीरें लेता रहता है। इन युवाओं के माता-पिता ने कहा कि उनके बच्‍चों में एक असामान्‍य व्‍यवहार देखने को मिला जब उन्‍हें सेल्‍फी क्लिक करने और उन्‍हें सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शेयर करने से रोका गया।
 
श्री गंगा राम हॉस्पिटल के मनोचिकित्‍सक डॉ. राजीव मेहता के मुताबिक इस जुनून का कानूनी या आपराधिक प्रतिघात भी हो सकता है। उनके मुता‍बिक 'एक दोस्‍त ने फिगर की तारीफ क्‍या कर दी एक मरीज नग्‍न अवस्‍था में खुद के पोज क्लिक करने लगी। इस नग्‍न सेल्‍फी को उसने अपने बॉयफ्रेंड के साथ शेयर किया जिसका उसने मिसयूज किया। इसके चलते वह डिप्रेशन में आ गई और उसके माता-पिता को इलाज के लिए लाना पड़ा।'
 
चिकि‍त्‍सा वि‍शेषज्ञों का कहना है कि ऐसे डि‍सऑर्डर के लक्षम इतने सूक्ष्‍म हैं कि कई यूजर्स को तनाव के कारण का पता नहीं चलता। अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन के अनुसार लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं 'सेल्‍फीसाइड' से पीड़ि‍त हैं और उन्‍हें यह पता ही नहीं।
 
टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली अक्‍सर अपनी अजीबो-गरीब सेल्‍फी के लिए जाने जाते हैं। 
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »