14 Nov 2019, 02:09:11 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

आरसीईपी देश के आम लोगों के हित में नहीं था: पीयूष गोयल

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 8 2019 6:23PM | Updated Date: Nov 8 2019 6:24PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

धर्मशाला। केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुछ दिनों पहले दक्षिण पूर्वी एवं पूर्व एशिया के 16 देशों के बीच मुक्त व्यापार व्यवस्था के लिये प्रस्तावित क्षेत्रीय सम्रग आर्थिक साझेदारी आर सी ई पी समझौते को भारत के करोड़ों लोगों के जीवन एवं आजीविका के लिए प्रतिकूल बताते हुए सिर्फ इसलिए इन्कार किया था कि वह देश के आम लोगों के हित में नहीं था। गोयल ने शुक्रवार को यहाँ ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट, राइजिंग हिमाचल के समापन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी ने वह  निर्णय देश के करोड़ों लोगों के जीवन को देखकर लिया था कि हम भारत को विदेशी आयातित माल को खपाने का मैदान नहीं बनने देना  चाहते हैं। गोयल ने हिमाचल इन्वेस्टर मीट में हिस्सा लेने आये देशी-विदेशी निवेशकों से कहा कि यह प्रदेश प्राकृतिक संपदा से पूर्ण है और उन्हें इसका लाभ उठाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के पर प्रत्येक व्यक्ति के खून में ईमानदारी और मेहनत का जज्बा है तथा वे जहाँ भी जाते हैं, अपनी पहचान बनाते हैं। वाणिज्य मंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश पूरे देश को फल देता है औरÞ अब समय आ गया है कि इस निवेश सम्मेलन का फल उसे दिया जाए। गोयल ने इस बात पर खुशी जताई कि हिमाचल देश का शायद पहला राज्य हैं जिसे अपने पहले इन्वेस्टर मीट में 92000 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं। गोयल ने कहा कि आने वाले समय मे प्रदेश के हर परिवार को उज्जवला योजना के तहत कुकिंग गैस दी जाएगी। गोयल ने कहा कि लोग पर्यटन के लिए गोवा वहाँ के समुद्री तट देखने जाते हैं उसी तरह लोगों को यहां के पहाड़ों को देखकर सौन्दर्य का आनंद लेना चाहिए। गौरतलब है कि  हिमाचल प्रदेश को निवेश सम्मेलन के दौरान 92000 करोड़ रुपये के प्रस्ताव मिले है और 614  सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »