25 Jun 2019, 14:06:02 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

आलोक वर्मा पर लगा नीरव मोदी और माल्या की मदद का आरोप

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 12 2019 11:31AM | Updated Date: Jan 12 2019 11:31AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। अब आलोक वर्मा पर नीरव मोदी व विजय माल्या की मदद का आरोप लगाया गया है। इस आरोप की जांच केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) करेगी। केंद्रीय सतर्कता आयोग ने वर्मा के खिलाफ 6 आरोपों को लेकर जांच शुरू की। आरोप है कि वर्मा ने नीरव मोदी के मामले में सीबीआई के कुछ आंतरिक ईमेलों के लीक होने पर आरोपी को ढूंढने की बजाय मामले को छिपाने की कोशिश की। खबर है कि राजीव सिंह के कमरे को लॉक कर करके उनके पास मौजूद नीरव मोदी से संबंधित डाटा को प्राप्त किया गया है। 
 
केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा की परेशानी जल्द खत्म होने का नाम नहीं लेने वाली हैं। केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) ने उनके खिलाफ 6 आरोपों को लेकर जांच शुरू कर दी है। जिसमें बैंकों को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले आरोपी नीरव मोदी, विजय माल्या और एयरसेल के पूर्व प्रमोटर सी शिवशंकरन के खिलाफ जारी हुए लुक आउट सर्कुलर के आंतरिक ईमेल को लीक करने का आरोप भी शामिल है।
 
रिपोर्ट के अनुसार, सीवीसी ने सरकार को नए आरोपों को लेकर सूचित किया है। वर्मा के खिलाफ यह शिकायतें भ्रष्टाचार निरोधी इकाई की जांच रिपोर्ट से मिली है। यह शिकायतें  पिछले साल 12 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट में जमा कराई गई रिपोर्ट के बाद मिली है। रिपोर्ट के निष्कर्ष में कहा गया है कि वर्मा पर लगे 10 आरोपों के बाद उनकी भूमिका की जांच होनी चाहिए, जिसे उनके पूर्व नंबर दो रहे विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने लगाया था। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »