07 Dec 2019, 04:20:09 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Lifestyle

शादीशुदा जिदंगी को बेहतर बनाने का फार्मूला

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 15 2019 2:55PM | Updated Date: Nov 15 2019 2:55PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अगर आपकी शादीशुदा जिंदगी पहले जैसा रोमांस नहीं है। प्यार तो सभी करते हैं लेकिन वो लोग ज्यादा खुशनसीब होते हैं जिन्हें प्यार की मंजिल मिल पाती।  इस बात में कोई शक नहीं कि सेक्स शादीशुदा जिंदगी की सबसे अहम कड़ी है लेकिन खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए प्यार और उदारता का प्रदर्शन भी खास मायने रखता है। यह बात एक अध्ययन में सामने आई है। शादी के कई सालों बाद आप अपनी शादीशुदा लाइफ से खुश नही है तो परेशान ना हो। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा फॉर्मूला खोज निकाला है जो आपकी नीरस जिंदगी में खुशियों के ढेर सारे रंग भर देगा। अमेरिका के टेनेसी विश्वविद्यालय ने 30-40 साल की उम्र वाले जोड़ों के बीच ईष्र्या, धर्म और परिवार झगड़े जैसे मुख्य मुद्दों पर शोध किया और इससे जो फॉर्मूला बनाया उसे जीवन में लागू करना बहुत ही आसान है। वैज्ञानिकों का कहना है जो कपल छोटी-छोटी बातों पर लडऩे की जगह शांति से बैठकर बातचीत से हल निकालते है वे खुशहाल जीवन बिताते हैं।
 
संबंध उलझ रहे हैं तो बात करें, बहस करें लेकिन झगड़ा न करें तभी समाधान संभव है। वैज्ञानिकों का यह शोध फैमिली प्रोसेस जर्नल में प्रकाशित शोध के मुताबिक दो उम्र वर्ग के जोड़ों पर रिसर्च किया गया। पहले ग्रुप में 57 ऐसे जोड़े थे, जिनकी उम्र 30 से 40 साल के बीच की की थी। इन जोड़ों की सबसे खास बात थी उनकी शादी 9 साल पुरानी थी। इस ग्रुप के जोड़ों के बीच ईष्र्या, धर्म और परिवार झगड़े के मुख्य मुद्दे थे। दूसरा ग्रुप 42 साल पुरानी हो चुकी शादी वाले 64 ऐसे कपल का था, जिनकी उम्र 70 साल के आस-पास थी। 70 साल से अधिक उम्र वाले जोड़ों में अंतरंगता, फुर्सत के पल, घरेलू समस्याएं, हेल्थ, कम्युनिकेशन और पैसे से जुड़े मुद्दों पर बहस होती थी। शोधकर्ताओं ने पाया जो जोड़े मुद्दों पर बहस के दौरान झगड़ा करने से बचते हैं वे समाधान जल्दी ढूंढ लेते हैं। जैसे वे घरेलू कामकाज का बंटवारा करते हैं और एक-दूसरे के साथ रहने के लिए समय कैसे निकालता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, जोड़ों का यह व्यवहार ही उनकी खुशहाल जिंदगी की वजह है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »