24 Jan 2019, 18:36:16 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Football

एशियन कप : भारत ने 33 साल बाद थाईलैंड को 4-1 से हराया

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 7 2019 12:20PM | Updated Date: Jan 7 2019 12:20PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अबुधाबी। कप्तान सुनील छेत्री के दो शानदार गोलों के दम पर फीफा रैंकिंग में 97वें नंबर पर मौजूद भारत ने एएफसी एशियन कप फुटबॉल टूर्नामेंट में अपने अभियान की जबरदस्त शुरुआत करते हुए 118वें नंबर की थाईलैंड को रविवार को 4-1 से हराकर ऐतिहासिक जीत दर्ज की। भारत ने इस तरह थाईलैंड के खिलाफ 33 साल के लंबे अंतराल के बाद जीत हासिल की। भारत की तरफ से कप्तान और स्टार स्ट्राइकर सुनील छेत्री ने 27वें और 46वें मिनट में दो गोल किए, जबकि अनिरुद्ध थापा ने 68वें मिनट और जेजे लालपेखलुआ ने 80वें मिनट में गोलकर भारतीय टीम को 4-1 से जबरदस्त जीत दिलाई। 
 
मेसी से आगे निकले छेत्री
भारतीय कप्तान छेत्री ने अपना 66वां गोल करते ही अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी (65 गोल) को अंतरराष्ट्रीय गोलों के मामले में पीछे छोड़ दिया। मौजूदा फुटबॉलरों में अब छेत्री से आगे पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं, जिन्होंने 85 अंतरराष्ट्रीय गोल किए हैं। 
 
उदांता सिंह ने बनाए गोल के मौके
अल-नाहयन स्टेडियम में खेले इस मैच में भारत की जीत में उदांता सिंह ने अहम किरदार निभाया। वह गोल तो नहीं कर पाए, लेकिन अपने खेल से उन्होंने गोल करने के मौके बनाए और तीन में से दो गोल में अपना योगदान भी दिया। थाईलैंड की तरफ से एकमात्र गोल कप्तान टेरासिल दंगदा ने 33वें मिनट में किया। 
 
थाईलैंड के खिलाफ 25 मुकाबलों में भारत को मिलीं 6 जीत
भारत इस जीत से ग्रुप ए में तीन अंकों के साथ शीर्ष पर पहुंच गया है। भारत और थाईलैंड एक दूसरे से 25 बार आमने सामने हो चुके हैं जिसमें से थाईलैंड ने 12 मौकों पर जीत हासिल की है। वहीं भारत छह  बार जीता है जबकि बचे हुए सात मैच ड्रा रहे। पिछली बार दोनों टीमें 2010 में भिड़ीं थीं। दोनों टीमें नौ साल बाद एक-दूसरे से खेल रही थीं। पिछली बार थाईलैंड ने भारत को दो मैच में 2-1 और 1-0 के अंतर से हराया था। भारत को थाईलैंड के खिलाफ पिछली जीत 1986 में मर्डेका कप के दौरान कुआलालम्पुर में मिली थी। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »