19 Dec 2018, 21:10:34 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Chhatisgarh

उत्पाती हाथियों के दल की सेटेलाईट से होगी निगरानी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 4 2018 6:11PM | Updated Date: Dec 4 2018 6:14PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

पत्थलगांव। छत्तीसगढ़ के जशपुर, रायगढ़ और सरगुजा जिलों में हाथी और मानव व्दंद रोकने के लिए वन विभाग के अमला को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। जंगलों के आस पास आबादी क्षेत्र में इन वन्य प्राणियों के उत्पात से जनहानि शून्य करने के लिए वन अधिकारी अब जंगली हाथियों के हिंसक दल के सदस्य पर दक्षिण अफ्रीका से लाई गई सेटेलाईट रेडियो कॉलर के माध्यम से निगरानी कर ग्रामीणों को समय से पहले सतर्क कर रहे हैं।
 
सरगुजा वृत के मुख्य वन संरक्षक के के बिसेन ने आज यूनीवार्ता को बताया कि छह माह पहले बलराम वन परिक्षेत्र में उत्पाती बहरादेव हाथियों का दल के प्रमुख सदस्य के गले में रेडियो कॉलर की घंटी पहनाने के बाद अब सूरजपुर , प्रतापपुर, मोहनपुर क्षेत्र में सर्वाधिक उत्पात करने वाला बांकी नामक जंगली हाथियों का दल के मुखिया को भी सेटेलाईट निगरानी के घेरे में लिया गया है।
 
सूरजपुर क्षेत्र में 20 लोगों की जान लेने वाला यह दल काफी हिंसक हो गया है। जंगली हाथियों के इस दल का नेतृत्व करने वाला दंतैल हाथी को चिंहित कर इसके गले में भी रोडियो कॉलर की घंटी बांधी गई है। बिसेन ने बताया कि सरगुजा जिले में सर्वाधिक उत्पात मचाने वाला जंगली हाथियों के दल के मुखिया पर रेडियो कॉलर का आपरेशन करने के लिए वन प्राणी विशेषज्ञ सहित 46 लोगों की टीम को चार दिनों तक जंगलों की खाक छाननी पड़ी। इस आपरेशन में किसी भी तरह का व्यवधान को रोकने के लिए तामिलनाडू के 10 ट्रेकरों की भी मदद ली गई। जिसके बाद ही सफलता मिल पाई।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »