19 Sep 2019, 22:26:01 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

पाक द्वारा हवाई मार्ग खोलने से अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों का किराया 45-40 प्रतिशत हुआ कम

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 19 2019 1:59AM | Updated Date: Jul 19 2019 1:59AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। पाकिस्तान ने 138 दिन बाद अपना हवाई मार्ग खोलने का फैसला किया है जिससे पूरी दुनिया में विमानन उद्योग खासकर भारतीय कंपनियों ने राहत की सांस ली है। भारत से यूरोप और अमरीका जाने वाली उड़ानों के लिए पाकिस्तान का वायुक्षेत्र अहम पारगमन गलियारा है और इसके बंद होने से विमानों को लंबा रास्ता तय करना पड़ रहा था। इससे उनकी परिचालन लागत बढ़ रही थी और कई बार उड़ानों को निलंबित करना पड़ रहा था। पाकिस्तान की घोषणा के बाद विमानन कंपनियों ने उसके वायुक्षेत्र का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है जिससे उनकी उड़ानों का रास्ता काफी कम हो जाएगा।

पाकिस्तान का वायुक्षेत्र बंद होने से इनमें करीब 35 से 40 प्रतिशत की बढ़ौतरी हुई थी। यात्रा उद्योग के अधिकारियों का मानना है कि परिचालन लागत कम होने का असर हवाई किराए पर पडना शुरू भी हो गया है। हवाई टिकट बुक करने की सुविधा देने वाली इक्सिगो के सी.ई.ओ. एवं सह-संस्थापक आलोक वाजपेयी कहते हैं कि पाकिस्तान से उड़ान प्रतिबंधित होने से दुबई और इससे आगे जाने वाले विमानों को लंबा सफर तय करना पड़ रहा था, साथ ही खर्च भी बढ़ गया था। अब हालात सामान्य होने के बाद दिल्ली और मुम्बई जैसे शहरों से कुछ मार्गों पर अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों का किराया करीब 45-40 प्रतिशत कम हो गया है।

भारत ने 14 फरवरी में पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमला किया था। इससे पाकिस्तान ने अपने वायुक्षेत्र को सभी नागरिक विमानों के लिए बंद कर दिया था। पाकिस्तान ने जून में अपने वायुक्षेत्र को आंशिक तौर पर खोला था जिससे लगा कि दोनों देशों के बीच तनाव में कमी आ रही है। लेकिन जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिस्केक से लौटते समय पाकिस्तानी वायुक्षेत्र का इस्तेमाल करने से इंकार किया तो स्थिति बदतर हो गई। पाकिस्तान ने मोदी को अपने वायुक्षेत्र का इस्तेमाल करने की अनुमति दी थी।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »