15 Dec 2018, 19:10:19 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

अब आॅर्डर पर मिलेगी हिमालय की शुद्ध हवा, शुरू हुई आॅनलाइन बिक्री

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 2 2018 11:08AM | Updated Date: Dec 2 2018 11:09AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। अगर आप घर बैठे शुद्ध हवा लेना चाहते हैं, और वो भी हिमालय की हवा तो, अब आप इसे आॅनलाइन मंगवा सकते हैं। सुनने में ये आपको अजीब-सा लग रहा हो, लेकिन ये सच है। अब हवा की आॅनलाइन बिक्री शुरू हो गई है। देश के साथ विदेशी कंपनियां भी प्योर हवा को बोतल में बंद कर ग्राहकों के घर तक पहुंचा रही हैं।
 
इंटरनेट पर ताजा हवा की आॅनलाइन बिक्री जारी है। प्योर हिमालयन एयर कंपनी का दावा है कि वो 10 लीटर शुद्ध हवा से भरी बोतल 550 रुपए में ग्राहकों को बेच रही है। इस हवा भरी बोतल से आप करीब 160 बार सांस ले सकेंगे। कंपनी की ओर से हिमाचल के वादियों की ताजा हवा देने का दावा किया जा रहा है। सांस लेने के लिए बोतल के साथ मास्क भी दिया जा रहा है। कंपनी की मानें तो बोतल में उत्तराखंड के चमोली में हवा को कम्प्रेस करके बोतलों में भरा जाता है।
 
 कंपनी की दावा है कि हवा की बोतल के साथ लगे मास्क से एक सेकंड में एक बार सांस लिया जाता है, उसी तरह से कम्प्रेस करके एक बोतल से कुल 160 बार सांस ले सकेंगे. 160 बार सांस लेने के बाद बोतल खाली हो जाएगी। भारत में हवा विदेशी कंपनियां भी बेच रही हैं। आॅस्ट्रेलिया और कनाडा की कंपनी बोतल में प्योर हवा बंद करके भारत में बेचने का कारोबार शुरू कर चुकी है। आॅस्ट्रेलिया की कंपनी आॅजेयर दो साइज की बोतलों में हवा बेच रही है। साढ़े 7 लीटर ताजा हवा की बोतल की कीमत 1499 रुपए और 15 लीटर ताजा हवा वाली बोतल की कीमत 1999 रुपए है। वहीं कनाडा की कंपनी वाइटलिटी एयर भी भारत में बोतल में हवा बंद करके बेच रही है। 
 
जानकारों ने उठाए सवाल
हालांकि जानकार इस कारोबार पर सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि कोई 3 तीन मिनट तक शुद्ध हवा ले और फिर बाकी वक्त प्रदूषण की चपेट में रहे, तो 3 मिनट की शुद्ध हवा से कोई फायदा नहीं होने वाला है। हालांकि जिस तरह से दिल्ली-एनसीआर समेत देश के दूसरे हिस्सों में वायु प्रदूषण का लेवल बढ़ता जा रहा है, उसे देखते हुए शुद्ध हवा का कारोबार अगर तेजी से फैलने लगे तो इसमें कोई हैरानी की बात नहीं है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »