18 Aug 2019, 21:09:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
zara hatke

एक दिन में 35 किलो खाना खा जाता था यह बादशाह

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 24 2019 4:51PM | Updated Date: Apr 24 2019 4:51PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

यदि आप भी लाजवाब खाने के शौकीन हैं तथा आपका दिल खाने के लिए धड़कता है तो आप पक्के फूडी है। लेकिन जब लोग इस बादशाह को याद करते हैं तो अच्छे-अच्छे फूडी भी इनके सामने अदन्ने नज़र आते हैं। जी हां, हम आपको पराक्रमी योद्धा और गुजरात के बादशाह महमूद बेगड़ा के बारे में बताने जा रहे हैं। यह सुल्तान अपने पेटू होने के कारण भी ज्यादा प्रसिद्ध था।

बादशाह महमूद बेगड़ा ने 13 साल की उम्र से 53 साल तक शासन किया, उन दिनों किसी भी राजा अथवा सुल्तान के लिए एक प्रकार से यह लंबा कार्यकाल था। सुल्तान महमूद बेगड़ा हष्टपुष्ट शरीर का मलिक थे, उनकी दाढ़ी कमर तक पहुंचती थी। उनकी मूंछें भी काफी लंबी थी। इस स्टोरी में हम आपको महमूद बेगड़ा के खाने के मशहूर किस्सों के बारे में बताने जा रहे हैं।

यूरोपीय इतिहासकार बारबोसा और वर्थेमा के मुताबिक सुल्तान को एक बार जहर देने की कोशिश की गई थी, तब से सुल्तान रोज को थोड़ी मात्रा में जहर दिया जाता रहा था ताकि उनका इम्यून सिस्टम जहर का आदी हो जाए।

सुल्तान का नाश्ता

कहा जाता है कि सुल्तान बेगड़ा नाश्ते में एक कटोरा शहद, एक कटोरा मक्खन और सौ से डेढ़ सौ तक केले खा जाते थे।

दिनभर का खाना

फारसी और यूरोपीय इतिहासकारों के अनुसार, सुल्तान महमूद बेगड़ा बहुत ज़्यादा खाना खाते थे इन इतिहासकारों के मुताबिक, सुल्तान महमूद बेगड़ा रोज लगभग 35 से 37 किलो तक खाना खा जाता था।

खाने के बाद का मीठा

खाने के बाद सुल्तान महमूद बेगड़ा 4.6 किलो मीठे चावल खा जाते थे ।

रात का इंतजाम

हांलकि इतना ज्यादा खाना खाने के बाद वैसे किसी को भूख नहीं लगती पर, अगर वो सुल्तान महमूद बेगड़ा हो तो ऐसा हो सकता है। जी हां, रात को लगने वाली अचानक भूख के कारण सुल्तान परेशान ना हो इसीलिए उनके लिए उनके तकिए के दोनो तरफ गोश्त के समोसों से तश्तरियां रखी जाती थी, जिससे सुल्तान रात की अपनी भूख शांत कर सकते थे।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »