25 May 2017, 19:59:47 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » weekly review

चार-पांच दिन में बारिश नहीं हुई तो सोयाबीन को नुकसान की आशंका

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 6 2015 12:57PM | Updated Date: Jul 6 2015 12:57PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

व्यापार प्रतिनिधि - 98260-11032
इंदौर। सोयाबीन प्रदेशों में मानसून 26 जून से नदारद है। हालांकि कुछ क्षेत्रों में छुटपुट बारिश हुई है लेकिन बोवनी के बाद जैसी बारिश की उम्मीद है वैसी नहीं हो पा रही है। इससे सोयाबीन की बोवनी की गति धीमी होने के साथ ही कई क्षेत्रों में रुक गई है। जिन क्षेत्रों में बोवनी 50 फीसदी से ज्यादा हो चुकी है, वहां 4-5 जुलाई तक बारिश नहीं होती है तो फसल को कुछ क्षति हो सकती है। कृषि विभाग द्वारा 25 जून तक देशभर में मूंगफली 6.42 लाख हेक्टेयर, सोयाबीन 20.34 लाख हेक्टेयर में बोवनी होना बताई गई है, जबकि अन्य सूत्रों के मुताबिक देशभर में सोयाबीन की बोवनी 55-60 लाख हेक्टेयर को पार कर चुकी है। 
 
इधर, सोपा और व्यापारिक सूत्रों के मुताबिक 28 जून तक मध्यप्रदेश में सोयाबीन की बोवनी कुल 60 लाख हेक्टेयर में से 54 लाख हेक्टेयर, महाराष्ट्र में 38 लाख हेक्टेयर में से 28 लाख हेक्टेयर, राजस्थान 10 लाख हेक्टेयर में से 6 लाख हेक्टेयर, अन्य प्रदेशों में 10 लाख हेक्टेयर में से 8 लाख हेक्टेयर सहित कुल 118 लाख हेक्टेयर में से 96 लाख हेक्टेयर में बोवनी का अनुमान है। ऐसी उम्मीद है कि 18.88 लाख हेक्टेयर में इस साल सोयाबीन ज्यादा लगाया जा सकता है। 
 
अनुज ट्रेडिंग के मनोहर जिंदल का कहना है 30 जून को यूएसीडीए रिपोर्ट में स्टॉक, बोवनी और कटाई के आंकडेÞ घोषित हुए। 1 जून 2015 को अमेरिका में सोयाबीन का स्टॉक 625 मिलियन बुशल, जो 1 जून 2014 के 405 से ज्यादा और 1 मार्च 2015 के 1334 मिलियन बुशल से कम है। अमेरिका में सोयाबीन की बोवनी 2015 की 851 लाख एकड़ में होगी जो पिछले साल के 846 लाख एकड़ से ज्यादा है। 
 
कटाई क्षेत्र 844 लाख एकड़ पिछले  साल के 837 लाख एकड़ से ज्यादा परंतु मार्च 2015 के 846 लाख एकड़ से कम है। अमेरिका में साल 2015 का सोयाबीन उत्पादन 3.758 बिलियन बुशल से 212 मिलियन बुशल 2014 के उत्पादन से कम है। सोयाबीन का अंतिम स्टॉक 2015-16 में 375 मिलियन बुशल रह सकता है। इससे एक बार भी सीबीओटी में तेजी का माहौल बन गया है। इसका असर एनसीडीईएक्स पर भी तेजी के सर्किट से पड़ा है, परंतु बाजार बुधवार शाम को पुन: नीचे आते दिखे हैं क्योंकि ऊंचे दामों पर मांग का समर्थन नहीं मिलना है। 
 
 पोल्ट्री में भी 15-20 जुलाई के बाद ही मांग निकलने के आसार हैं। पिछले एक सप्ताह से सीबीओटी सोया मील 322.5 नीचे में होकर ऊपर में 342 तक जाकर वर्तमान में 333 डॉलर के आसपास घूम रहा है। सोयाबीन मील प्लांट नीचे में 30500 रु. बिककर पुन: 31500 रुपए तक पर पहुंच गया। सोयाबीन सीबीओटी में भाव 955 डॉलर से बढ़कर ऊपर में 1012 तक जाकर पुन: 989 के आसपास चल रहे हैं। सोयाबीन एनसीडीईएक्स पर 3408 रुपए से बढ़कर 3558 रुपए पर पहुंच गया है। सोया डीगम सीबीओटी में 32.55 से बढ़कर ऊपर में 33.80 पर जाने के बाद फिर 32.90 के आसपास आ गया है। एनसीडीईएक्स पर रिफाइंड तेल 575 से बढ़कर 582 रुपए पर पहुंच गया है। 
 
सोयाबीन का रकबा 118 लाख हेक्टेयर रहने का अनुमान
मध्यप्रदेश और अन्य प्रमुख सोयाबीन उत्पादक राज्यों में इस महीने मानसूनी बारिश के शुरुआती दौर के बाद सोयाबीन की बोवनी ने जोर पकड़ा। मौजूदा हालात के मद्देनजर हमारा अनुमान है कि देश में इस खरीफ सत्र में करीब 118 लाख हेक्टेयर में सोयाबीन बोया जाएगा। अगर मानसून फिर जल्द सक्रिय हो जाता है तो बोवनी इस महीने के अंत तक पूरी हो सकती है। 
डेविश जैन, चेयरमैन, सोपा 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »