15 Nov 2019, 03:49:06 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » weekly review

मानसून की चाल, आर्थिक आँकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 7 2019 12:57PM | Updated Date: Jul 7 2019 12:58PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। बेहद उथल-पुथल भरे सप्ताह में बढ़त बनाने के बाद आने वाले सप्ताह में शेयर बाजार की चाल मानसून की प्रगति और वृहद आर्थिक आँकड़ों से तय होगी। गत सप्ताह बीएसई का सेंसेक्स 118.75 अंक यानी 0.30 अंक की साप्ताहिक तेजी के साथ 39,513.39 अंक पर बंद हुआ। शुक्रवार को संसद में पेश बजट से पहले बाजार में जहाँ तेजी रही वहीं बजट से निराश निवेशकों की बिकवाली से अंतिम कारोबारी दिवस पर सेंसेक्स 394.67 अंक लुढ़क गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुक्रवार को 135.6 अंक लुढ़ककर 11,811.15 अंक पर रहा।
 
पूरे सप्ताह के दौरान इसमें भी 22.30 अंक यानी 0.19 प्रतिशत की तेजी रही। मझौली और छोटी कंपनियों पर दबाव रहा। बीएसई का मिडकैप 82.69 अंक यानी 0.56 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट में 14,725.65 अंक पर और स्मॉलकैप 97.5 अंक यानी 0.68 प्रतिशत टूटकर सप्ताहांत पर 14,141.83 अंक पर रहा।  आने वाले सप्ताह में निवेशकों की नजर औद्योगिक उत्पादन और खुदरा महँगाई के आँकड़ों पर रहेगी। मई के औद्योगिक उत्पादन और जून की खुदरा महँगाई के आँकड़े 12 जुलाई को जारी होने हैं।
 
इसके अलावा वे मानसून की प्रगति पर भी नजर बनाये रखेंगे। जून में मानसून की बारिश 32.8 प्रतिशत कम रहने के बाद जुलाई में यह जरूर दीर्घावधि औसत से 11.1 प्रतिशत अधिक रही है, लेकिन समस्या यह है कि बारिश का वितरण समान नहीं है। मध्य भारत अतिवृष्टि से पीड़ति है जबकि अन्य हिस्सों में अब भी सूखे की स्थिति है।
 
सिर्फ पश्चिमोत्तर में ही जुलाई में बारिश सामान्य हुई है। बीते सप्ताह पाँच कारोबारी दिवसों में से पहले चार में शेयर बाजारों के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी मजबूती के साथ बंद हुये। लेकिन, शुक्रवार की भारी गिरावट के कारण उनकी साप्ताहिक तेजी सीमित रह गयी। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »