21 Apr 2019, 09:52:11 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Uttar Pradesh

एसटीएफ ने वाराणसी से किया इनामी हत्यारोपी एवं बैंक लुटेरे को गिरफ्तार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 15 2019 11:20PM | Updated Date: Apr 15 2019 11:20PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने बैंक लूट एवं डिप्टी जेलर अनिल त्यागी हत्याकांड के वांछित आरोपी, 30 हजार रुपये के इनामी बदमाश को सोमवार को वाराणसी कैण्ट क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सूचना मिलने पर एसटीएफ की टीम ने  30 हजार रुपये के अन्तर्राज्यीय शातिर अपराधी पंकज गुप्ता उर्फ राहुल उर्फ पवन बिहारी को पुलिस मुठभेड़ में वाराणसी कैण्ट इलाके में टकटकपुर गैस गोदाम तिराहे से गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि पकड़े गये बदमाश ने वर्ष 2014 में प्रयागराज से बैंक लूट में वांछित  25,000 और वर्ष 2014 में सतना से बैंक लूट में वांछित चल रहा था। इस पर दोनों राज्यों से 30 हजार का इनाम घोषित था।
 
उन्होंने बताया कि गिरफ्तार बदमाश पंकज गुप्ता उर्फ राहुल उर्फ पवन बिहारी जिला गोपालगंज का रहने वाला है। इसके पास से एक तमंचा और कुछ कारतूसों के अलावा  फर्जी आधार कार्ड गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार बदमाश ने पूछताछ पर बताया कि पढ़ाई के दौरान उसका सम्पर्क छपरा के अंबिका राय से हो गया था। अंबिका राय के कहने पर वह मादक पदार्थों की तस्करी करने लगा था। वर्ष 2008 में नारकोटिक्स कण्ट्रोल ब्यूरो द्वारा वाराणसी में 08 किलोग्राम चरस की तस्करी में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।
 
जिला कारागार वाराणसी के अन्दर कई शातिर अपराधियों के साथ-साथ जिला जेल में बन्द शातिर अपराधी हैदर अली निवासी बड़ी पियरी  वाराणसी के सम्पर्क आ गया, जमानत पर छूटने के बाद हैदर अली के साथ रहकर अपराध करने लगा। चरस के मुकदमें में पेशी पर न जाने के कारण  न्यायालय से गिरफ्तारी का वारण्ट जारी हुआ और भगौड़ा घोषित कर दिया गया तभी से यह फरार चल रहा था। सिंह ने बताया कि वर्ष 2013 में वाराणसी के कैण्ट क्षेत्र  डिप्टी जेलर अनिल त्यागी की हत्या में भी यह वांछित है। वर्ष 2014 में हैदर अली के कहने पर इसने अपने चार साथियों बबलू खान, जनार्दन यादव, सिन्टू मौर्या एवं विशाल यादव के साथ मिलकर प्रयागराज के थरवई क्षेत्र में बैंक लूट की थी और उसके बाद मध्य प्रदेश के सतना में भी बैंक लूट की थी।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »