21 Oct 2019, 02:57:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

शेयर बाजार में हाहाकार, निवेशकों के डूबे 2 लाख करोड़ रुपए

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 20 2019 4:28PM | Updated Date: Jul 20 2019 4:29PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन बिकवाली का भारी दबाव बना रहा, जिससे दलाल स्ट्रीट पर मायूसी का माहौल बना रहा। कारोबारी सत्र के आखिर में सेंसेक्स 560 लुढ़क कर 38,337 पर बंद हुआ और निफ्टी भी करीब 178 अंकों की गिरावट के साथ 11,419 पर रहा। शेयर बाजार का यह स्तर दो महीने का निचला स्तर है। बाजार में इस गिरावट का झटका निवेशकों को भी लगा और एक दिन में उनके 2.09 लाख करोड़ रुपये डूब गए।

दरअसल, गुरुवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,47,46,534.89 करोड़ रुपये था जो शुक्रवार को लुढ़क कर 1,45,37,286.35 करोड़ रुपये पर आ गया. इस लिहाज से सिर्फ एक दिन में 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक की कमी आई है। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में शुक्रवार को पिछले सत्र की क्लोजिंग से 560.45 अंकों यानी 1.44 फीसदी की गिरावट के साथ 38, 337.01 पर बंद हुआ।

इससे पहले बेंचमार्क संवेदी सूचकांक सेंसेक्स कारोबार के आरंभ में 161.27 अंकों यानी 0.41 फीसदी की तेजी के साथ 39,058.73 पर खुला, लेकिन उसके बाद कारोबारी रुझान कमजोर होने के कारण सूचकांक में 600 अंकों से ज्यादा लुढ़क कर 38,271.35 पर आ गया। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से चार में तेजी रही जबकि 26 शेयरों में गिरावट दर्ज की गई।

सबसे ज्यादा गिरावट वाले शेयरों में एमएंडएम (4.36 फीसदी), बजाज फाइनेंस (4.16 फीसदी), टाटा मोटर्स (3.73 फीसदी), हीरोमोटोकार्प (3.71 फीसदी) और इंडसइंड बैंक (3.40 फीसदी) शामिल रहे, जबकि तेजी वाले शेयरों में एनटीपीसी (2.20 फीसदी), टीसीएस (0.55 फीसदी), ओएनजीसी (0.42 फीसदी) और पावरग्रिड (0.27 फीसदी) शामिल रहे।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सत्र के मुकाबले 177.65 अंकों यानी 1.53 फीसदी की गिरावट के साथ 11,419.25 पर बंद हुआ जबकि कारोबार के आरंभ में निफ्टी 31.05 अंकों की तेजी के साथ 11,627.95 पर खुला और 11,640.35 तक उछला लेकिन बाद में बाजार में मंदी का रुझान छा जाने से निफ्टी तकरीबन 200 अंक लुढ़क कर 11,399.30 पर आ गया। बीएसई के मिड-कैप और स्मॉल-कैप सूचकांकों में तकरीबन दो फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

मिड-कैप सूचकांक 285.36 अंक यानी 1.99 फीसदी लुढ़क कर 14,078.34 पर बंद हुआ और स्मॉल-कैप सूचकांक भी 247.68 अंकों यानी 1.83 फीसदी की गिरावट के साथ 13,310.35 पर रहा। बीएसई के 19 सेक्टरों में से सिर्फ दो सेक्टरों के सूचकांकों में मामूली बढ़त रही जबकि 17 सेक्टरों में गिरावट दर्ज की गई।

तेजी वाले सेक्टरों में पावर (0.36 फीसदी) और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स (0.22 फीसदी) शामिल रहे जबकि सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच सेक्टरों में ऑटो (3.24 फीसदी), बैंक इंडेक्स (2.14 फीसदी), कंज्यूर डिस्क्रेशनरी गुड्स एंड सर्विसेज (2.11 फीसदी), फाइनेंस (2.02 फीसदी) और बेसिक मेटेरियल्स (1.86 फीसदी) शामिल रहे। बीएसई पर कुल 2,900 शेयरों में कारोबार हुआ जिनसे में 734 में तेजी रही जबकि 2,006 शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। कारोबार के आखिर में बीएसई पर 160 शेयर सपाट बंद हुए।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »