13 Dec 2019, 18:36:30 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

कार्बेट पार्क का नरभक्षी बाघ रानीबाग रेस्क्यू सेंटर भेजा गया

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 17 2019 2:49AM | Updated Date: Nov 17 2019 2:49AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नैनीताल। उत्तराखंड के कार्बेट टाइगर रिजर्व के ढिकाला जोन से एक नरभक्षी बाघ को वन कर्मियों ने पकड़कर उसे हल्द्वानी के रानीबाग रेस्क्यू सेंटर भेजा दिया है। यह बाघ अभी तक दो सुरक्षा कर्मचारियों को अपना निवाला बना चुका है। सीटीआर के निदेशक राहुल ने बताया कि बाघ को पकड़ने के लिये वन विभाग एवं सुरक्षा अधिकारियों की कई टीमें पिछले कई दिनों से अभियान चला रही थीं। पार्क प्रशासन की ओर से बाघ को पकड़ने के लिये तीन टीमें बनायी हुई थीं। इस खतरनाक अभियान को हाथियों के माध्यम से संचालित किया जा रहा था लेकिन बाघ टीम के हत्थे नहीं पड़ रहा था। राहुल ने बताया कि आखिरकार टीम को शुक्रवार को सफलता मिली और नरभक्षी बाघ को ट्रैंकुलाइज किया गया। उन्होंने कहा कि आज बाघ को रानीबाग रेस्क्यू सेंटर भेज दिया गया है।
 
उस पर काफी दिनों तक नजर रखी जायेगी। फिलहाल कुछ दिनों तक बाघ सेंटर में रहेगा और उसके बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने बताया कि यह नरभक्षी बाघ अभी तक दो सुरक्षा कर्मियों को शिकार बना चुका है। दोनों की मौत हो गयी थी। इसके बाद कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर पार्क प्रशासन चिंितत था। इसके बाद बाघ को पकड़ने की योजना बनायी गयी। उन्होंने बताया कि नरभक्षी बाघ ने नवम्बर में ढिकाला जोन में ही पंकज कुमार और इससे पहले अगस्त में बीट वाचर विशनराम को गश्त के दौरान अपना शिकार बना लिया था। इसके बाद सीटीआर के सुरक्षाकर्मियों में काफी असंतोष था। गौरतलब है कि शक्रवार से सीटीआर का ढिकाला जोन भी पर्यटकों के लिये खुल गया है। पहले ही दिन सैकड़ों की संख्या में पर्यटक यहां वन्य जीवों के दीदार एवं सैर के लिये आये हुए हैं। पर्यटकों की सुरक्षा के लिये भी पार्क प्रशासन चैकन्ना है और सभी तैयारियां की गयी हैं।    
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »