07 Dec 2019, 15:34:12 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

बंद हो रहे उद्योगों, छिन रहे रोजगार के लिए सरकार जिम्मेवार : सैलजा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 12 2019 5:45PM | Updated Date: Nov 12 2019 5:46PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

चंडीगढ़। हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने आज आरोप लगाया कि प्रदेश में बंद हो रहे उद्योगों और लाखों लोगों से छिन रहे रोजगार के लिए भाजपा सरकार का बनाया गया अर्थिक अराजकता का माहौल जिम्मेदार है। उन्होंने यहां जारी बयान में कहा कि नए रोजगार की बात तो दूर, हरियाणा में हालात इतने भयावह हैं कि सालों से कार्यरत लोगों की भी नौकरियां छिन रही हैं। कुमारी सैलजा ने कहा कि आर्थिक मोर्चे पर भाजपा सरकार की विफल नीतियों के चलते उद्योग जगत में त्राहिमाम- त्राहिमाम मचा हुआ है।
 
उन्होंने आरोप लगाया कि इस दिशाहीन सरकार के राज में प्रदेश में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में स्थापित किए गए हजारों कारखानों के बंद होने का सिलसिला जारी है तो कहीं खपत घटने से उत्पादन सिकुड़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मानेसर में स्थापित होंडा कंपनी से हजारों कर्मचारी नौकरी से निकाले जा चुके हैं। कुछ दिनों पूर्व ही रेवाडी स्थित नैरोलैक पेंट्स कंपनी में भी कई कर्मचारी नौकरी से निकाले गए थे।
 
उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने साजिश के तहत पूरे प्रदेश में प्रदूषण के नाम पर हजारों फैक्ट्रियों पर ताला लटकवा दिया है, जिससे सिर्फ 15 दिन में ही इन उद्योगों को हजारों करोड़ का नुकसान हो चुका है और लाखों लोगों के रोजगार छिनने का खतरा मंडरा रहा है। कुमारी सैलजा ने एक आरटीआई से हुए खुलासे का हवाला देते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार के राज में वर्ष 2009 से 2011 तक 1086 करोड रुपए का पूंजी निवेश हुआ था, जो 2012 से लेकर 2014 तक बढ़कर 2495 करोड़ तक जा पहुंचा था।
 
वहीं दूसरी ओर भाजपा सरकार ने विदेशी पूंजी निवेश को बढ़ावा देने के लिए हैपनिंग हरियाणा जैसे आयोजन पर करोड़ों रुपए खर्च किए लेकिन प्रदेश में कोई बड़ा पूंजी निवेश नहीं आया। भाजपा सरकार के सत्ता संभालने के बाद 2015 से 2018 के बीच  सिर्फ 133 करोड़ का पूंजी निवेश आया। उन्होंने कहा कि उद्योग धंधे चौपट होने का ही नतीजा है कि आज हरियाणा प्रदेश की बेरोजगारी दर पूरे देश में सबसे सर्वाधिक है।
 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »