18 Oct 2019, 21:37:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाये जाने पर अमित शाह ने दिया बडा बयान

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 11 2019 1:16AM | Updated Date: Oct 11 2019 1:17AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

महाराष्ट्र। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को यहां चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने तथा राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के बाद वहां शांति है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अनुच्छेद 370 की उपेक्षा कर रही थी लेकिन नरेन्द्र मोदी सरकार ने इसे हटा दिया जिससे देश को आतंकवाद से बचाया गया। पिछले 70 वर्षों से कांग्रेस के शासन में आतंकवाद बढ़ा लेकिन अनुच्छेद 370 के हटाये जाने के बाद अब कश्मीर के लोग शांति महसूस कर रहे हैं।
 
शाह ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार जब केन्द्र में थी तब उन्होंने अनुच्छेद 370 को हटाने का कोई प्रयास नहीं किया लेकिन जब मोदी सरकार ने इसे हटाया तो कांग्रेस इसका विरोध कर रही है। कांग्रेस यह सब सिर्फ वोट के लिए कर रही है जबकि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ देश हित के लिए काम कर रही है। जो लोग देश के टुकड़े करना चाहते थे, सरकार ने उन्हें जेल में डाल दिया। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद से एक भी गोली वहां नहीं चली और न ही किसी की जान गयी।
 
केन्द्र सरकार ने पाकिस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक करके सबक सिखाया है। इसके अलावा पाकिस्तान के आतंकवाद पर दुनिया का ध्यान खींचने मे हम सफल रहे और पाकिस्तान को विश्व विरादरी से अलग कर दिया। उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस के काम की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में पांच वर्ष पूरे किये।
 
इसके पूर्व वसंतराव नाईक ने अपना कार्यकाल पूरा किया था। फडनवीस ने अपने पांच वर्ष के समय में राज्य के विकास के लिए कई कदम उठाये हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार और कांग्रेस के नेताओं की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि जनता इन नेताओं से पूछे कि इन लोगों ने इतने वर्षों में महाराष्ट्र में क्या विकास किया जबकि श्री फडनवीस ने अल्पावधि में ही विकास के कई कार्य किये हैं। श्री फडनवीस ने जितना काम पांच वर्ष में किया उतना काम कांग्रेस और राकांपा दोनों ने मिलकर पिछले कई वर्षों में नहीं किया।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »