21 Aug 2019, 19:44:56 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Cricket

विदर्भ ने दूसरी बार जीता रणजी ट्रॉफी का खिताब, फाइनल में सौराष्ट्र को 78 रन से हराया

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 7 2019 3:52PM | Updated Date: Feb 7 2019 3:56PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नागपुर। लेफ्ट आर्म स्पिनर आदित्य सरवटे (59 रन पर 6 विकेट) के घातक प्रदर्शन से गत चैंपियन विदर्भ ने सौराष्ट्र को पांचवें और अंतिम दिन गुरूवार को 78 रन से पीटकर रणजी ट्रॉफी में अपनी बादशाहत बरकरार रखी। विदर्भ ने सौराष्ट्र के सामने जीत के लिए 206 रन का लक्ष्य रखा था लेकिन सौराष्ट्र कल अपने पांच विकेट मात्र 58 रन पर खो दिए थे। सौराष्ट्र को अंतिम 148 रन की जरुरत थी लेकिन उसकी टीम 58.4 ओवर में मात्र 127 रन पर ढेर हो गयी।
 
विदर्भ ने पिछले साल दिल्ली को हराकर खिताब जीता था और इस बार उसने सौराष्ट्र को पस्त कर दिया। इस हार से सौराष्ट्र का पहली बार रणजी चैंपियन बनने का सपना टूट गया। सौराष्ट्र की टीम 2015-16 के फाइनल में मुंबई से हारी थी। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले सरवटे ने इस प्रदर्शन को दूसरी पारी में भी बरकरार रखते हुए 24 ओवर में 59 रन पर छह विकेट हासिल किए और मैच में 11 विकेट पूरे किये। ऑफ स्पिनर अक्षय वखारे ने 37 रन पर तीन विकेट और तेज गेंदबाज उमेश यादव ने 31 रन पर एक विकेट लिया। सरवटे को मैच में उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर आॅफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।
 
सौराष्ट्र ने पांच विकेट पर 58 रन से आगे खेलना शुरू किया। विश्वराज जडेजा ने 23 और कमलेश मकवाना ने दो रन से पारी को आगे बढ़ाया। दोनों बल्लेबाज स्कोर को 88 रन तक ले गए लेकिन सरवटे ने मकवाना को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ दिया। मकवाना ने 45 गेंदों पर 14 रन में दो चौके लगाए।
वखारे ने प्रेरक मांकड को पगबाधा कर दिया। मांकड ने दो रन बनाये और सौराष्ट्र ने अपना सातवां विकेट 91 के स्कोर पर गंवा दिया। इस बीच विश्वराज ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया लेकिन अपना अर्धशतक पूरा  करने के बाद वह सरवटे की गेंद पर पगबाधा हो गए। विश्वराज ने 137 गेंदों का सामना किया और 52 रन में छह चौके लगाए।
 
विश्वराज का विकेट 103 के स्कोर पर गिरते ही सौराष्ट्र की तमाम उम्मीदें समाप्त हो गयीं। सरवटे ने सौराष्ट्र के कप्तान जयदेव उनादकट (7) को पगबाधा किया जबकि वखारे ने धर्मेंद्रंसिंह जडेजा (17) को सरवटे के हाथों कैच कराकर सौराष्ट्र की पारी 127 रन पर समेट दी। धर्मेंद्रंिसह जडेजा ने 56 गेंदों का सामना किया और अपनी पारी में दो चौके लगाए।
 
सुबह गिरे पांच विकेट में तीन सरवटे ने और दो वखारे ने लिए। विदर्भ के कप्तान फैज फज़ल और पूरी टीम ने विजेता ट्रॉफी ग्रहण की और चैंपियंस बोर्ड के साथ खड़े होकर इस शानदार जीत का जश्न मनाया। फज़ल ने इस जीत को अद्भुत करार दिया जबकि उनादकट ने चैंपियन  बनने के लिए विदर्भ को बधाई दी।
 
संक्षिप्त स्कोर -  
विदर्भ : 312 और 200
सौराष्ट्र : 307 और 127 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »