28 Jun 2017, 10:56:22 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Lifestyle

आतंकवादी नहीं, मोहब्बत ले रही हैं सबसे ज्यादा जानें

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 2 2017 4:43PM | Updated Date: Apr 3 2017 4:17PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। भारत में हो रही मौतों को लेकर एक हैरान कर देने वाला आंकड़ा सामने आया है। ये मौतें किसी आतंकी घटनाओं के चलते नहीं बल्की प्यार की वजह से हो रही हैं। यह आंकड़ा सामने आने के बाद हर कोई हैरान हैं। 

आंकड़ों के अनुसार, पिछले 15 सालों में भारत में आतंकवाद से अधिक मौत प्यार के चलते हुईं हैं। साथ ही हत्याएं, हत्याओं का प्रयास और अपहरण के मामले की वजह भी प्यार ही रहा हैं। एकतरफा प्यारा, प्यार में शादी या परिवार की नाराजगी इसकी सबसे बड़ी वजह रही।

ये आकंड़े साल 2001 से 2015 के बीच के हैं। आकंड़ों के मुताबिक प्यार में कामयाब न होने वाले और दूसरी वजहों के चलते करीब 79,189 लोगों ने मौत को गले लगाया। प्यार के चलते 38,585 मामलों में लोगों ने हत्या और गैर-इरादतन हत्या जैसे जघन्य अपराधों को अंजाम दिया। जबकि इस दौरान आतंकवादी घटनाओं में 20,000 लोगों की मौत हुई।
 
इन आकंड़ों के मुताबिक 15 सालों में किडनैपिंग के 2.6 लाख केस ऐसे दर्ज किए गए, जिनमें महिला के अपहरण की वजह उससे शादी रचाने का इरादा था। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक भारत में हर दिन 7 हत्याएं, 14 आत्महत्याएं और 47 अपहरण के पीछे की वजह हैरान करने वाली हैं। जिसमें प्यार के चलते परिवार की नाराजगी, एकतरफा प्यार और शादी के इरादा बड़ी वजह रहीं। 

ये राज्‍य है अव्‍वल
आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश का नाम शामिल है। इन राज्यों में प्यार के मकसद से की गई हत्याओं के सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए। इन सभी राज्यों में 15 साल के दौरान 3,000 से ज्यादा हत्याएं प्रेम प्रसंगों के चलते हुईं। जबकि सबसे ज्यादा आत्महत्याएं पश्चिम बंगाल में दर्ज की गईं। यहां बीते 14 सालों में प्रेम संबंधों के चलते 15,000 आत्महत्याओं के केस दर्ज किए गए। दूसरे नंबर पर तमिलनाडु है, जहां प्रेम प्रसंगों के चलते 9,405 लोगों ने मौत को गले लगाया।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »