19 Sep 2019, 22:26:13 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

15 लाख में से 647 युवाओं को मिला रोजगार, खट्टर ‘मनोहर‘ कहानियां सुनाना बंद करें : योगेंद्र

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 19 2019 9:05PM | Updated Date: Aug 19 2019 9:05PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

चंडीगढ़। स्वराज इंडिया पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने आज दावा किया कि सूचना अधिकार के तहत मिली जानकारी के अनुसार हरियाणा में रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत 15 लाख युवाओं में से सिर्फ 647 को रोजगार मिला है और इसलिए मुख्यमंत्री रोजगार के नाम पर ‘मनोहर‘ कहानियां सुनाना बंद करें। यादव ने यहां जारी बयान में कहा कि एनएसएसओ के हालिया आंकड़ों के हिसाब से हरियाणा उन राज्यों में से हैं जहां बेरोजगारी चरम पर है और राष्ट्रीय औसत से भी ज्यादा है। उन्होंने कहा कि जन आशीर्वाद यात्रा के नाम पर हरियाणा ‘भ्रमण‘ कर रहे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को जनता के सवालों का जवाब और अपने काम का हिसाब देना पड़ेगा। यादव ने आरोप लगाया कि सूचना अधिकार के तहत यह आंकड़े जिन 15 जिलों से इकट्ठा किए गए उनके अधिकारियों को सरकार ने प्रताड़ित किया और इनमें से दो अधिकारियों को तो निलंबित तक कर दिया।
 
यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने इसी साल 26 फरवरी को हरियाणा विधानसभा में एक प्रश्न का उत्तर देते हुए बताया कि 49,299 रोजगार दिए गए हैं जबकि सच्चाई ये है कि इन आंकड़ों में रोजगार केंद्र पर पंजीकृत बेरोजगारों में से 2461 के अलावा सक्षम योजना से 1490, स्किल अकेडमी के माध्यम से 12, ओला 5567 और उबर 11105 से लेकर जीफॉरएस सिक्युरिर्टी गार्ड तक के रूप में काम कर रहे 641 लोगों का जिक्र है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा अलग- अलग मौकों पर लगाये गए रोजगार मेलों का भी जिक्र है, ऐसे में सवाल उठता है कि अगर सरकार हर तरह के और हर माध्यम से मिले रोजगार को गिन रही है तो कुल बेरोजगारों की संख्या बताते वŸक्त सिर्फ रोजगार कार्यालय पर पंजीकृत युवाओं को ही क्यों गिन रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि मनमाने ढंग से आंकड़े तैयार करने के बावजूद एक फीसदी बेरोजगार युवाओं को भी काम नहीं दिलाया जा सका है। उन्होंने आरोप लगाया कि हाल में खट्टर ने यह भी कहा कि सरकार अब इतना अच्छा काम कर रही है कि सिर्फ उन्हीं युवाओं को रोजगार नहीं मिलता जो निक्कमे हैं। उन्होंने कहा कि आश्चर्य है कि हरियाणा के बेरोजगार युवाओं को निक्कमा बताने वाले खट्टर किस उनके परिवारों से आशीर्वाद मांगने निकले हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »