15 Nov 2019, 16:17:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

न्याय के मंदिर ने दिया सौहार्दपूर्ण समाधान, देशवासी शांति, सद्भाव एवं एकता बनाये रखें : मोदी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 9 2019 1:50PM | Updated Date: Nov 9 2019 1:51PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद देशवासियों से शांति, सद्भाव एवं एकता बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया है। मोदी ने ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा, ‘‘देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि उच्चतम न्यायालय का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है। यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है। हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया। यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा।’’ उन्होंने कहा कि हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है।
 
भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है। इससे पहले उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ ने पांच सौ साल से अधिक पुराने अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद में शनिवार को एकमत से ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए समूची 2.77 एकड़ विवादित भूमि श्रीराम जन्मभूमि न्यास को सौंपने और सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद के निर्माण के लिए अयोध्या में ही उचित स्थान पर पांच एकड़ भूमि देने का निर्णय सुनाया।  
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »