17 Oct 2019, 20:54:06 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

पाकिस्तान से श्रद्धालुओं पर जजिया लगाये जाने के प्रस्ताव को वापस लेने की मांग

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 20 2019 1:08AM | Updated Date: Sep 20 2019 1:08AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin
डेरा। पंजाब सरकार ने पाकिस्तान की ओर से ऐतिहासिक करतारपुर गुरूद्वारा साहिब के दर्शनार्थ जाने वाले श्रद्धालुओं पर सर्विस चार्ज लगाये जाने के प्रस्ताव को वापस लेने की मांग की है । इस आशय का फैसला मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में आज यहां हुई मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया । मुख्यमंत्री ने बादशाह अकबर की ओर से अपने शासनकाल में विवादित टैक्स को खत्म करने का हवाला देते हुये कहा कि पाकिस्तान की ओर से सिख श्रद्धालुओं पर बीस डालर सर्विस चार्ज लगाये जाने के प्रस्ताव को सिख फलसफे की मूल भावना के खिलाफ बताया ।
 
भारत विभाजन के बाद पाकिस्तान में स्थित गुरूद्वारों के खुले दर्शन करने का आग्रह किया गया। उन्होंने करतारपुर कोरीडोर के कामकाज का जायजा लेने के बाद पत्रकारों से कहा कि वह इस मामले को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उठा चुके हैं ताकि इस सर्विस चार्ज के प्रस्ताव को वापस लेने के लिये दबाव बनाया जा सके । उन्होंने विदेश मंत्रालय को इस मामले को पाक के साथ होने वाली द्विपक्षीय बैठक में उठाने का सुझाव दिया था । मुख्यमंत्री ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि  सीमा आर की तरफ का करतारपुर गलियारे का काम 30 अक्तूबर तक पूरा हो जायेगा।  उन्होंने पाकिस्तान की ओर चल रहे विकास कार्य की गति पर चिंता जताई । गलियारे के साथ सुरक्षा चुनौती के बारे में उन्होंने कहा कि इस बारे में निरंतर चौकसी रखने की जरूरत है।
 
गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के समागमों को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के साथ विवाद को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत चल रही है और सहकारिता मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने सभी मसलों को सुलझाने के लिए बुधवार को शिरोमणि कमेटी के नुमायंदों के साथ बैठक भी की। मुख्यमंत्री ने एक बार फिर इस ऐतिहासिक दिवस दलगत भावनाओं से ऊपर उठकर साझे तौर पर मिलकर इसे मनाने की अपील की। मुख्यमंत्री ने वर्ष 1965 के भारत-पाक युद्ध जंग के दौरान सरहदी इलाकों में सेना की ओर से निभाई सेवा को भी याद किया। उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि हमारे बहादुर सैनिक विपरीत परिस्थितियों में बाहरी और अंदरूनी हमलों से देश की सरहदों की सुरक्षा करते हैं । 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »