19 Oct 2019, 05:04:02 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

आंध्र नौका हादसे में मृतकों की संख्या 28 हुई

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 18 2019 1:04AM | Updated Date: Sep 18 2019 1:04AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

काकीनाडा। आंध्र प्रदेश में ईस्ट गोदावरी जिले के कच्चुलुरु में गोदावरी नदी में नाव दुर्घटना में मंगलवार तक 16 और शव मिलने के साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 28 हो गयी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मंगलवार तक 16 और शव बरामद किये गये जिनमें से 12 कच्चुलुरु-माठदा के पास, दो डावलेश्वरम बांध तथा एक-एक पोलावरम कॉफर बांध और पट्टीसीमा क्षेत्र के पास मिले। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीम और नौसेनाकर्मी लापता 20 पर्यटकों की तलाश कर रहे हैं। माना जा रहा है कि कई लोग जिनकी इस दुर्घटना में मौत हुई है, उनके शव नाव के भीतर फंसे हुए हैं और जब नाव को नदी से निकाला जायेगा, तभी शव भी बरामद किये जा सकेंगे। नाव अभी नदी में 320 फुट नीचे स्थित है तथा छत्तीसगढ़ और झारखंड से आधुनिक सोनार उपकरण से लैस विशेषज्ञ गोताखोरों को बुलाया गया है। पैंतालिस टन वजनी नाव को निकालने के लिए भारी मशीनों की जरूरत पड़ेगी जो एनडीआरएफ के लिए बहुत मुश्किल काम होगा।       

हादसा हुए तीन दिन हो गये हैं लिहाजा ज्यादातर शव क्षतविक्षत हो गये हैं। जिला प्रशासन ने इन शवों का जल्द से जल्द पोस्टमार्टम और अंतिम संस्कार कराने की व्यवस्था की है। इस बीच पुलिस महानिदेशक गौतम सावोंग तलाश अभियान में तेजी लाने के लिए राजामुंद्री पहुंच गये हैं। तेलंगाना के दो मंत्री वाई दयाकर राव और पुव्वडा अजय कुमार तथा आंध्र के मंत्री कुरासाला कन्नाबाबू, अवंति श्रीनिवास राव और पिल्ली सुभाष चंद्र बोस राजामुंद्री में तलाश अभियान की निगरानी कर रहे हैं। सावोंग ने इन मंत्रियों के साथ बाढ़ग्रस्त गोदावरी नदी का हवाई सर्वेक्षण किया। कन्नाबाबू और श्रीनिवास राव ने मीडिया को बताया कि पर्यटकों की तलाश और शवों को निकालने का काम कल तक पूरा हो जाने का अनुमान है। उन्होंने भी संदेह जताया कि कुछ शव संभवत: नाव के भीतर फंसे हुए हो सकते हैं जो नाव के निकाले जाने के बाद ही बाहर आएंगे। खराब मौसम और तेज हवाओं के कारण तलाश अभियान में दिक्कतें आ रही हैं।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »