18 Aug 2017, 14:18:03 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
entertainment

शिवाय के एक्शन में इमोशन का तड़का

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 29 2016 10:22AM | Updated Date: Oct 29 2016 10:22AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। बॉक्स ऑफिस के लिये दिवाली पर फिल्मों को रिलीज करना फायदे का सौदा माना जाता है और इसी को भुनाने के लिये अजय देवगन लेकर आये है ‘शिवाय’। ‘शिवाय’ में अजय मुख्य भूमिका निभाने के साथ साथ इसके निर्माता और निर्देशक भी हैं।
 
अजय देवगन के साथ इस फिल्म में एरिका कार, सायशा सहगल, एबीगेल एम्स अौर वीर दास जैसे कलाकार भी हैं। शिवाय का ट्रेलर फिल्म को लेकर लोगों में एक उत्सुकता जगाने में कामयाब रहा।
 
कहानी: ‘शिवाय’ की कहानी शुरू होती है उस दृश्य से जहां शिवाय (अजय) घायल अवस्था में जमीन पर गिरा पड़ा है और उठने की कोशिश कर रहा है यहां से कहानी नौ साल पीछे जाती है और शिवाय मस्त मौला अंदाज में बर्फ की चोटी पर शर्टलेस पड़ा हैं और गांजे का कश लगा रहा है और नीचे सेना के जवान उसे ढूंढ रहे हैं। इसके बाद हिमालय की चोटियों से हैरतअंगेज स्टंट करते हुए शिवाय नीचे पहुंचता है।
 
‘शिवाय’ पर्वतारोहियों का गाइड है और एक एक्सपेडिशन में उसकी मुलाकत बेलग्रेड से आयी पर्यटक ओल्गा (एरिका कार) से होती है और दोनों एक-दूसरे को दिल दे बैठते हैं , दोनों का प्यार परवान चढ़ता है और ओल्गा गर्भवती हो जाती है।
 
हालांकि ओल्गा बच्चा नहीं चाहती लेकिन शिवाय की जिद पर बच्चे को जन्म देती है, उसे बेटी होती है लेकिन ओल्गा बेटी को छोड़ अपने देश लौट जाती है। शिवाय बेटी का नाम गौरा (एबीगेल एम्स ) रखता है जो बोल नहीं पाती है। बेटी की जिद पर शिवाय उसे मां से मिलाने बुल्गारिया ले जाता है।
 
जहां उसे नई मुसीबतों का समना करना पड़ता है जिसमे उसकी मदद करती है अनुष्का (सायशा सहगल) शिवाय बेटी को मां से मिला पाता है या नहीं इसके लिये तो आपको फिल्म देखना पड़ेगा। 
 
निर्देशन: निर्देशन के क्षेत्र में अजय देवगन पहले भी हाथ आजमा चुके हैं और पुराने अनुभव से उन्होंने काफी कुछ सीखा है। बेटी और पिता के रिश्ते की भावनाओं को वह पर्दे पर उतारने में सफल रहे तो वहीं फिल्म में दूसरे रिश्तों की भावनायें ठीक से नहीं उभरी।
 
इसमें कोई शक नहीं कि शिवाय में अजय कमाल के दृश्य और एक्शन स्टंट को कैमरे में कैद करने में कामयाब रहे। एक्शन और स्टंट ऐसे हैं जो कि भारतीय सिनेमा में दर्शकों ने शायद पहले नहीं देखा होगा।
 
अभिनय : ‘शिवाय’ से अजय ने एक बार फिर साबित किया बॉलीवुड के एक्शन के असजी संघम वहीं है। एक्शन के साथ-साथ उनका अभिनय भी लाजवाब रहा। शिवाय की बेटी के किरदार में एबीगेल एम्स का भी अभिनय शानदार रहा। एरिका कार और सायशा सहगल भी प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहे तो वहीं हैकर के किरदार में वीर दास जरूरत से ज्यादा लाउड लगे।
 
गीत-संगीत : फिल्म का संगीत मिथुन और जसलीन रॉयल ने दिया है। मोहित चौहान, बादशाह , सुखविंदर सिंह, मेघा श्रीराम डाल्टन और अनुग्रह की आवाज में ‘ बोलो हर हर...’ पहले ही लोगों के दिलों पर छाया हुआ है। सुनिधि चौहान और अरिजीत सिंह की आवाज में ‘दर्खास्तण...’ भी कानों को सुकुन देता है। ‘तेरे नाल इश्क...’ कैलाश खेर की आवाज में अच्छा लगा। फिल्म के बाकी गाने औसत हैं।
 
देखे या ना देखे: ‘शिवाय’के साथ एक नकारात्मक पहलू यह है कि फिल्म दो घंटे 52 मिनट की है और आज के दौर के पॉप कॉर्न और कोल्ड ड्रींक के साथ फिल्म देखने वाले युवाओं के लिये शायद यह थोड़ी लंबी है लेकिन फिल्म की भावनात्मक इमोशन, जबरदस्त एक्शन और कमाल की सिनेमेटोग्राफी आपको निराश नहीं करेगी।
 
रेटिंग: निर्देशक अजय देवगन पर अभिनेता अजय देवगन भारी पड़े हैं और उनके अभिनय और शानदार एक्शन के लिये इस फिल्म को साढ़े तीन स्टार।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »