15 Dec 2018, 20:11:10 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » Exclusive news

बुदनी की बहू हूं मैं, प्रचार करने नहीं, मिलने आई हूं : साधना सिंह

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 26 2018 11:25AM | Updated Date: Nov 26 2018 11:26AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

- नसरुल्लागंज से लौटकर मुक्ता पाठक
 
मध्य प्रदेश में 230 विधानसभा सीटों पर 28 नवंबर (बुधवार) को वोट डाले जाएंगे। इससे 48 घंटे पहले सोमवार को चुनाव प्रचार थम जाएगा। प्रचार खत्म होने से पहले मुख्य दल कांग्रेस और भाजपा के तमाम नेता धुआंधार जनसभाएं कर रहे हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र सीहोर जिले के बुदनी में उनकी पत्नी साधना सिंह ने चुनाव प्रचार की कमान संभाल रखी है। दैनिक दबंग दुनिया से खास बातचीत में साधना सिंह ने कहा कि ‘बुदनी हमारा परिवार है, यहां मैं राजनीति की दृष्टि से नहीं, अपने लोगों से मिलने-जुलने आई हूं।’ इसके अलावा साधना ने बेबाक तरीके से उनके राजनीतिक और पारिवारिक जीवन के अनछुए पहलू दबंग दुनिया के साथ साझा किए।
 
इस चुनाव में शनि किस पर भारी रहेगा?
-हर बार शनि हम पर अच्छा ही रहता है। इस बार किस पर भारी रहेगा, ये तो 11 दिसंबर को पता चलेगा।
 
साधना की कितनी साधना इस बार कितना रंग लाएगी। शिव को अमृत पीना पड़ेगा या फिर विष?
- बिल्कुल अमृत ही मिलेगा, बुदनी हमारा परिवार है। मैं यहां की बहू हूं। यहां मैं राजनैतिक दृष्टि से नहीं आई हूं। यहां घर-घर में मेरा संपर्क है। मैं अपने लोगों से मिलने-जुलने आई हूं।
 
बुदनी में चुनाव प्रचार के दौरान के कुछ वीडियो वायरल हुए हैं, जिसमें जनता का गुस्सा दिखाई दे रहा है। इन वीडियो पर आपका क्या कहना है?
-ये वीडियो कांग्रेस के बनाए हुए हैं। वीडियो में जिस महिला ने विरोध किया था, वही बाद में आर्इं और उन्होंने कहा कि किसी ने उनसे ऐसा कहने के लिए कहा था। हम तो वोट अपने भैया (शिवराज) को ही देंगे, क्योंकि उन्होंने बहुत अच्छा काम यहां किया है।
 
जब महिला ने बताया कि यह प्रायोजित था, इसलिए ऐसा किया तो आपने क्या कहा?
- मैंने उनसे कुछ नहीं कहा, मुझे मालूम था वह जो कह रही थी वह दिल से नहीं कह रही थी, मैंने उनके चेहरे का भाव पढ़ लिया था। क्योंकि उनके दिल में उनके भैया ही बसे थे।
 
जब आप देखती हैं कि आपके पति ने मुख्यमंत्री के तौर पर 13 साल का रिकॉर्ड बना लिया, तो कैसा लगता है, क्या फीलिंग आती है?
- यह मेरे लिए गर्व की बात है कि मैं शिवराज की साधना हूं, सबके लिए वे मुख्यमंत्री हैं, लेकिन मेरे लिए मेरे पति हैं और यह मेरे लिए गर्व की बात है कि मेरे पति मध्यप्रदेश में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं?
 
एक पति के रूप में शिवराज जी की बात करें तो आपके मन में क्या ख्याल आते हैं? आप उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करती हैं। प्रचार प्रसार में उनके साथ रहती हैं?
- मैं पॉलिटिकल काम में ज्यादा हाथ नहीं बंटाती। वे बहुत अच्छे पति हैं, बहुत अच्छे पिता हैं और बहुत अच्छे बेटे हैं। हर किसी को इतना अच्छा पति मिलना चाहिए। उनके साथ थोड़ी बहुत नोक-झोंक तो होती है। एक पल में गुस्सा और एक पल में हंसी। हमारे बीच इतना प्रेम है कि हमारी मिसाल दी जाती है।
 
आपके भाई संजय सिंह मसानी कांग्रेस में शामिल हो गए, इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?
- सबको अपने हिसाब से राजनीतिक दल चुनने का अधिकार है। सिंधिया परिवार में भी ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में हैं, जबकि वसुंधरा राजे बीजेपी में। ऐसे कई और भी उदाहरण हैं।
 
आपका परिवार इतने व्यस्त शेड्यूल में भी समय निकाल लेता है। आप लोग हर साल हॉलिडे पर भी जाते हैं। सभी त्योहार साथ मनाते हैं। क्या यह नियम शुरू से आप लोगों ने बनाया था?
- हां, यह नियम हमने शुरू से ही बनाकर रखा है। जब हमारी शादी हुई और पहला बेटा हुआ तो शिर्डी गए थे। हम गर्मी के सीजन में और नए साल में दो-तीन दिन के लिए कहीं न कहीं जाते हैं और सभी त्यौहार साथ मनाते हैं।
 
शिवराज सिंह जी ने आज तक आपको सबसे अच्छा कॉम्प्लिमेंट क्या दिया?
- वो मुझे बहुत अच्छे लगते हैं। उनकी हर चीजें दिल को छूती हैं। मैं बहुत सौभाग्यशाली हूं कि ऐसे पति मिले।
 

 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »