16 Nov 2018, 02:28:37 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Chhatisgarh

छत्तीसगढ़ में कमल दीवाली के बहाने सत्ता में बने रहने का 'मंत्र' फूंकेगी भाजपा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 26 2018 10:28AM | Updated Date: Oct 26 2018 10:28AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

- रमेश पाण्डेय
 
रायपुर। छत्तीसगढ़ में भाजपा चौथी बार सत्ता में बने रहने के लिए मतदाताओं को रिझाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। गुरुवार को भाजपा के प्रदेश कार्यालय पर हुई शीर्ष नेताओं की मैराथन बैठक में कार्यकर्ताओं और मतदाताओं के बीच मतदान के दिन तक सामंजस्य बनाये रखने की रणनीति तैयार की गयी। इस रणनीति का अहम हिस्सा होगा कमल दीवाली। इस कमल दीवाली के बहाने भाजपा लोगों के बीच फिर चौथी बार सत्ता में बने रहने का मंत्र फूंकेगी। बैठक में लिए गए निर्णय के मुताबिक बीजेपी के सभी 72 प्रत्याशी एक साथ एक नवंबर को नामांकन भरेंगे। भाजपा के सभी नेता-कार्यकर्ता अपने घर पर बीजेपी का झंडा लगाएंगे।
 
1 से 4 नवंबर तक बाइक रैली निकालेंगे और 4 नवम्बर को पार्टी कार्यकर्ता कमल रंगोली बनाकर कमल दीवाली मनाएंगे। 27 अक्टूबर को प्रथम चरण के 18 विधानसभा क्षेत्रों में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। 29 अक्टूबर को सभी शीर्ष नेताओं की चुनावी सभा रखी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा का भी कार्यक्रम बनाया जा रहा है। प्रथम चरण के मतदान वाले क्षेत्रों में गृहमंत्री राजनाथ सिंह की सभा होगी। द्वितीय चरण के 71 विधानसभा क्षेत्रों में 9 नवंबर को कार्यकर्ता सम्मेलन, 11 नवंबर को केंद्र और प्रदेश के नेता की एक साथ चुनावी सभा होगी। 
 
घोषणा पत्र से लुभाने की कोशिश
एकात्म परिसर में बीजेपी चुनाव घोषणा पत्र समिति की भी मैराथन बैठक हुई। बैठक में घोषणा पत्र समिति के संयोजक मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, प्रदेश प्रभारी अनिल जैन, सांसद रामविचार नेताम, रमेश बैस, केंद्रीय इस्पात मंत्री विष्णुदेव साय और बृजमोहन अग्रवाल, अमर अग्रवाल, अजय चंद्राकर समेत सभी सदस्य मौजूद रहे। करीब 5 घंटे चली बैठक के बाद घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष बृजमोहन अग्रवाल ने बताया कि बैठक में घोषणा पत्र के हर बिंदु पर गंभीर मंथन किया गया है। बृजमोहन ने कहा कि पिछले 3 बार के घोषणा पत्र से इस बार का घोषणा पत्र और बेहतर होगा, क्योंकि प्रदेश के हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए ये घोषणा पत्र बनाया जायेगा। इसमें महिला, पुरुष, युवा, किसान और वनवासी, अनुसूचित जाति समेत सरकारी कर्मचारियों को ध्यान में रखकर घोषणा पत्र बनाया जायेगा। मंत्री बृजमोहन ने नवंबर के पहले हफ्ते में घोषणा पत्र जारी करने के संकेत दिये।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »