22 Nov 2017, 00:46:53 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » Exclusive news

छह माह में एक लाख लोगों ने किया ‘पांच रुपए’ में भोजन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 21 2017 4:56PM | Updated Date: Oct 21 2017 4:56PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

- केपी सिंह

इंदौर। नगर निगम द्वारा पांच रुपए में जरूरतमंद एवं गरीबों को भरपेट भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसमें भोजन की गुणवत्ता का भी खास ध्यान रखा जा रहा है। यही कारण है कि छह माह में एक लाख से ज्यादा जरूरतमंदों को दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना के तहत लाभ पहुंचा है। योजना के तहत मिल रहे अच्छे रिस्पॉन्स से इसे आगे भी जारी रखा जाएगा। हालांकि एक व्यक्ति को भोजन उपलब्ध कराने में 20 रुपए का खर्च आ रहा है, लेकिन निगम व्यवस्था अब तक बनाता आया है।
 
अब दानदाताओं से अपील की जा रही है कि इस नेक काम में लोग आगे आएं और जरूरतमंदों के भोजन के लिए सहायता राशि दें। आंकड़ों की मानें तो अप्रैल से सितंबर तक 104516 जरूरतमंदों ने भोजन किया, जिस पर निगम खजाने में पांच लाख 22 हजार 580 रुपए जमा हुए है। इसमें दान की राशि 34 हजार 463 रुपए आई। योजना में खाद्यान्न के लिए रियायती दर पर गेहूं और चावल की व्यवस्था शासन की ओर से की गई है। योजना के तहत रोजाना रोटी, सब्जी और दाल-चावल परोसा जाता है। इसमें सब्जियां सीजनल रखी जाती हैं। भोजन पकाकर बांटने की व्यवस्था निगम द्वारा की जा रही है।

कंटेनर में लाते हैं गरमागरम भोजन 
निगम द्वारा गरम खाने के कंटेनर में भोजन पहुंचाया जाता है, ताकि भोजन गरमागरम रहे। हालांकि रोटी मशीनों से बनने के कारण जरूर थोड़ी कड़क होना शुरू हो जाती है। सभी लागत मिलाकर करीब 20 रुपए की थाली पड़ती है, जिसे निगम पांच रुपए में उपलब्ध करा रहा है। यही कारण है कि राशि दानदाताओं से जुटाने की अपील की जा रही है। खजराना गणेश मंदिर में गरमागरम भोजन तैयार किया जाता है। यहां से भोजन को कंटेनर की मदद से झाबुआ टॉवर, सरवटे बस स्टैंड और गंगवाल बस स्टैंड पर सुबह 11 पहुंचाया जाता है, जिसमें दोपहर 3 बजे तक भोजन परोसा जाता है। निगम द्वारा तीनों स्थानों पर बैठाकर खाना दिया जा रहा है। इसमें भोजन की सीमा तय नहीं है। 
 
अधिकारियों ने झोंक दी ताकत 
अफसरों की मानें तो योजना के तहत दानदाताओं से राशि जुटाई जाएगी। इस योजना को इंदौर में नंबर वन बनाना है, इसलिए अधिकारियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। निगम के अधिकारी भी फूंक-फूंक कर कदम रख रहे हैं, ताकि कहीं कोई गड़बड़ी न हो। 
 
नहीं बिगड़ता भोजन 
उपायुक्त प्रताप सिंह सोलंकी ने बताया कि योजना के तहत वाहनों से भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है, जो इन स्थानों सुबह-सुबह पहुंच जाता है। ताजी सब्जियों लाने रोजाना मंडी जाते हैं। भोजन की गुणवत्ता की रोजाना जांच करते हैं। हमारी कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचे, इसलिए तीनों स्थान पर गरमागरम भोजन उपलब्ध कराते हैं।
 
आगे आएं दानदाता 
दीनदयाल रसोई योजना मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की महत्वाकांक्षी योजना है। इसके तहत भोजन तैयार कर तीन स्थानों पर भेजा जा रहा है। जहां पर बैठकर जरूरतमंदों को भरपेट भोजन करवा रहे हैं। इसकी मॉनिटरिंग भी लगातार कर रहे हैं कि कहीं कोई गड़बड़ी तो नहीं है। हमारी कोशिश है कि योजना में दानदाता आगे आएं, क्योंकि अभी निगम द्वारा खर्च किया जा रहा है। अब हम अपील कर रहे हैं कि दानदाता आगे आएं और जरूरतमंदों को भरपेट भोजन उपलब्ध कराने में निगम की मदद करें। 
- मनीष सिंह, कमिश्नर, नगर निगम 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »