25 Sep 2017, 15:03:24 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

- रफी मोहम्मद शेख 
 
इंदौर। एम्प्लाई प्रोविडेंट फंड डिपार्टमेंट ने सरकारी और निजी सेक्टर के  विभागों के बाद बैंकों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। सरकारी , निजी और अन्य बैंकों के रीजनल ऑफिस में आउटसोर्स पर काम करने वाले कर्मचारियों से लेकर हजारों एटीएम पर काम करने वाले गार्ड्स की प्रोविडेंट फंड नहीं देने पर 39 बैंकों को नोटिस जारी किए हैं।  गत दिनों हुए एक गार्ड्स की मौत के बाद पीएफ के लाभ दिलाने में आई परेशानी, भारत सरकार के पिछले साल जारी गजट नोटिफिकेशन और  मिल रही पीएफ चोरी की शिकायतों के चलते यह  कार्रवाई की गई है। 
ईपीएफओ के रीजनल कमिश्नर अजय मेहरा के निर्देश पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सहित अन्य बैंकों को नोटिस जारी कर उनके यहां पर काम करने वाले आउटसोर्स के संविदा कर्मचारियों की जानकारी मांगी है। इन बैंकों के इन कर्मचारियों का वेतन, इन्हें किससे आउटसोर्स किया है, वो कंपनी इनका प्रोविडेंट फंड काट रही है या नहीं, इनकी नियुक्ति दिनांक आदि जानकारी तलब की गई है।
 
10 दिन में दे जानकारी
इन बैंकों से एटीएम की संख्या,  कहां-कहां पर स्थित है, इसमें सुरक्षा गार्ड किस कंपनी का है, कंपनी को प्रोविडेंट फंड का भुगतान किया जाता है या नहीं, कंपनी द्वारा इन गार्ड्स को कितना वेतन दिया जाता है और पीएफ की राशि जमा की जाती है या नहीं, इन सुरक्षा गार्ड्स का पीएफ अकाउंट आदि की जानकारी 10 दिन में देने को कहा है। 
 
15 हजार कर्मचारी नजर में
ईपीएफ ने यह माना है कि एटीएम 24 घंटे खुले रहते हैं। एक गार्ड को नियमानुसार अधिकतम 8 घंटे की ड्यूटी करना होती है और इस हिसाब से एक एटीएम पर तीन गार्ड्स की ड्यूटी प्रतिदिन रहती है। डिपार्टमेंट के आरंभिक आंकलन के अनुसार शहर में वर्तमान में करीब चार हजार एटीएम है। इसमें एसबीआई के ही एक हजार एटीएम है। इस प्रकार इन पर काम करने वाले गार्ड्स की संख्या 10 हजार से ज्यादा है। इसी प्रकार इन बैंकों में साफ-सफाई से लेकर अन्य काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या भी पांच हजार के करीब हैं। 
 
इन बैंकों को जारी किए नोटिस
गवर्नमेंट सेक्टर : - स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक, विजया बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूको बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक, आंध्रा बैंक, देना बैंक, सिंडिकेड बैंक, केनरा बैंक, यूनियन बैंक, इंडियन बैंक। प्राइवेट सेक्टर : - आईसीआईसी बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, यश बैंक, एचएसबीसी बैंक, फेडरल बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडसंड बैंक, डीसीबी बैंक, सिटी बैंक, आईएनजी वैश्य बैंक, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक।
अन्य बैंक : सारस्वत कोऑपरेटिव, नर्मदा मालवा ग्रामीण बैंक, नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक, जम्मू एंड काश्मीर बैंक, लक्ष्मी विलास बैंक, कर्नाटका बैंक।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »