25 Jul 2017, 00:02:12 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » Exclusive news

एक शिकायत... और दस साल कार्रवाई का अब भी इंतजार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 28 2017 10:24AM | Updated Date: Apr 28 2017 10:24AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अनुराग सिंह - 

रायपुर। राजधानी में काम के लिए आलस्य का आलम इतना है कि 10 सालों से लगातार शिकायत करने के बाद भी आंगनबाड़ी की जर्जर इमारत को दुरुस्त नहीं किया गया है। दलदल सिवनी स्थित आंगनबाड़ी की इमारत इन दिनों जर्जर हालात में है। 10 सालों से आंगनबाड़ी की कार्यकर्ता और सामने स्थित मंदिर समिति के द्वारा भवन में गिरते पानी की समस्या को लेकर कई बार शिकायत की जा चुकी है पर कोई सुनने वाला नहीं है। आंगनबाड़ी की यह इमारत पहले एक पंचायत भवन था। वार्ड बनने के बाद इसे आंगनबाड़ी में तब्दील कर दिया गया।
 
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि बरसात में स्थिति ऐसी रहती है कि भवन के अंदर पढ़ाना तो दूर, कुछ भी काम करना मुश्किल हो जाता है। हालात ये बन जाते हैं कि बच्चों को बरामदे में बैठाकर पढ़ाया जाता है। यदि कभी ज्यादा बारिश हो जाए, तो बच्चों की छुट्टी कर दी जाती है। इसका कारण है कि बारिश में यहां पानी भर जाता है, जिससे बच्चों के बैठने के लिए कोई जगह नहीं रहती। यही नहीं, बच्चों को दी जाने वाली खाद्य सामग्री भी घर से बनाकर लाना पड़ता है और घर में ही रखना पड़ता है। इससे समस्या और गहरा जाती है। कार्यकर्ता ने बताया कि कई बार तो भवन में पानी भर जाने के बाद जनप्रतिनिधयों को दिखाया भी गया पर कोई फायदा ही नहीं हुआ।

सिर्फ शिकायतें हुर्इं...कार्रवाई नहीं
आंगनबाड़ी की स्थिति को लेकर पिछले 10 सालों से शिकायत की जा रही है। यह शिकायत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और वहां के मंदिर समिति के सदस्यों द्वारा की गई, लेकिन इसपर जिम्मेदारों की ओर से सुनवाई नहीं हुई। कार्यकर्ता ने बताया कि पार्षदों के साथ ही वार्ड में आने वाले नेता, अधिकारियों से भी कई बार शिकायत की जा चुकी है, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला। पार्षद ने बताया कि इसकी शिकायत जिला महिला एवं बाल विकास विभाग में भी की जा चुकी है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। विभाग का कहना है कि उनकी ओर से जर्जर भवन की मरम्मत नहीं कराई जाती। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »