19 Aug 2019, 05:04:56 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Delhi

निजी स्कूलों के लिए सी बी एस ई दिशा-निर्देश जारी करे : जावेडकर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 22 2019 3:04PM | Updated Date: May 22 2019 3:05PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने मनमानी फीस और शिक्षकों को निर्धारित वेतन से कम मिलने की शिकायतों को रोकने के लिए केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) को निजी स्कूलों के लिए दिशा-निर्देश जारी करने को कहा है। जावडेकर ने बुधवार को यहां विज्ञान भवन में बारहवीं की परीक्षा में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले 75 छात्रों को गुण गौरव पुरस्कार प्रदान करते हुए यह बात कही। उन्होंने समारोह में केन्द्रीय नवोदय विद्यालय, जवाहर नवोदय विद्यालय और दिल्ली सरकार के स्कूलों के छात्रों के अलावा दिव्यांग तथा आर्थिक रूप से कमजोर एवं दलित छात्रों को यह पुरस्कार प्रदान किये।

समारोह में स्कूली शिक्षा सचिव रीना रे सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी, मानव संसाधन विकास मंत्रालय में संयुक्त सचिव आर. सी. मीणा और नवोदय विद्यालय समिति के आयुक्त वी. के. सिंह भी उपस्थित थे। जावडेकर ने निजी स्कूलों की चर्चा करते हुए कहा कि सीबीएसई को चाहिए कि वह इन स्कूलों के लिए भी गाइडलाइन्स जारी करे। स्कूल की दुकान से ही किताब और ड्रेस लेना क्यों अनिवार्य हो। स्कूलों की फीस भी मनमानी न हो। उन्हें फीस बढ़ाने का अधिकार हो, पर महंगाई के हिसाब से उसका प्रतिशत निर्धारित हो। उन्होंने यह भी कहा कि निजी स्कूल भी अपने खर्चे को सार्वजानिक करें और कोई गुप्त राशि छात्रों से न लें।

इतना ही नही शिक्षकों को तनख्वाह सीधे उनके बैंक में भेजें। मानव संसाधन विकास मंत्री ने बोर्ड की परीक्षाओं में सरकारी स्कूलों के प्रदर्शन की चर्चा करते हुए कहा कि कौन कहता है कि सरकारी स्कूल अच्छे नहीं होते। नवोदय विद्यालय के नतीजे 99 प्रतिशत रहे तो केन्द्रीय विद्यालय के नतीजे 98  प्रतिशत रहे। नवोदय विद्यालय की प्रवेश परिक्षा के लिए 22 लाख छात्रों ने भाग लिया जबकि सीट 46 हज़ार है। इस तरह 60 में से एक छात्र का दाखिला होता है।

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »