17 Oct 2019, 06:30:22 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Cricket

हरी जर्सी देख बहक जाते हैं रोहित शर्मा - फिर मैदान पर आता है 'तूफान'

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 19 2019 2:52PM | Updated Date: Jun 19 2019 2:53PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। रोहित शर्मा वर्ल्ड कप में जिस फॉर्म में हैं और जितनी क़ाबलियत उनमें है उसके परे, उनके हरे जर्सी वाले टीमों के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए एक बात जो दिमाग में आती है वह है- क्या भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा का पसंदीदा रंग हरा है?
 
इंग्लैंड और वेल्स में चल रहे क्रिकेट विश्व कप में भारत के तीन मैचों में दो शतक लगाने के साथ ही वर्ल्ड कप जैसे शानदार इवेंट में रोहित तीन शतक बना चुके हैं। वैसे भारत का एक मैच बारिश की वजह से रद्द भी हुआ है। रोहित शर्मा ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ साउथम्पटन में नाबाद 122 और मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ 140 रनों की अपनी शानदार से भारत को आसान जीत दिलाई थी. पिछले विश्व कप की बात यहां अगर जोड़ लें तो मेलबर्न में 2015 के वर्ल्ड कप के क्वार्टर फाइनल में रोहित शर्मा का बांग्लादेश के खिलाफ 137 रन भी इस ओर ध्यान दिलाता है की, रोहित का यह शतक भी हरी जर्सी पहनने वाली टीमों के खिलाफ ही आए हैं।
 
मेलबर्न में वैसे तो रोहित के ओपनिंग पार्टनर शिखर धवन ने भी विराट कोहली और सुरेश रैना के अलावा दो शतक लगाए थे। लेकिन रोहित शर्मा ने क्वार्टर फाइनल में बांग्लादेश के साथ हुए मैच में 126-गेंद पर 137 रन बना डाले और विश्वकप में बांग्लादेश के बने रहने की सम्भावनाओ को ख़त्म कर दिया था। 
 
इसे इत्तेफाक कहें या जो कहें शर्मा का यह शतक भी हरे जर्सी के खिलाफ ही आया था। हालांकि एक नो-बॉल का विवाद भी इस मैच में हुआ था। लेकिन, यह खेल का अंग है। इस मैच में भारत ने 6 विकेट पर 302 रन बनाए थे और बांग्लादेश को 193 पर आउट कर 109 रनों से जीत दर्ज की थी। रोहित ही इस मैच के 'मैन ऑफ द मैच' थे।
 
रोहित शर्मा के शतक में रनों की संख्या आम तौर पर बॉल के मुकाबले ज्यादा ही रहता है। अमूमन उनका स्ट्राइक शतक के बाद लगभग दोगुना होता है। लेकिन इस मैच में बॉल और रन बराबर रहे। शर्मा ने अपनी संयम भरी पारी से इस मैच का पाशा ही पलट दिया था। इस मैच में, दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 230 रनों का लक्ष्य रखा था। दक्षिण अफ्रीका की सधी हुई गेंदबाज़ी ने भारत के खिलाड़ियों को मुश्किल में जरूर डाला था। शर्मा से भी शुरूआती गलतियां हुई लेकिन जल्द ही उन गलतियों को सुधारते हुए एक जिम्मेदारी भरी पारी खेलकर भारत को जीत दिलाई थी। इस मैच में भारत ने 6 विकेट से जीत दर्ज की और रोहित को फिर से मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। संयोग से यह शर्मा का यह वर्ल्ड कप शतक भी हरी जर्सी के खिलाफ ही था।
 
इस विश्वकप में भी भारत-पाकिस्तान का मैच हाई-वोल्टेज होने की उम्मीद थी। शिखर धवन के इंजर्ड होने से इस मैच का रोमांच और बढ़ गया था। टॉस जितने के बाद पाकिस्तान ने जब भारत को बैटिंग करने के लिए आमंत्रित किया तब सबकी निगाहें भारत के ओपनिंग जोड़ी पर थी। अनुमानों के मुताबिक ही रोहित शर्मा और के एल राहुल ही जोड़ी सलामी बल्लेबाज के रूप में मैदान पर आई। और जैसी शंका इन नए ओपनरों के आपसी तालमेल को लेकर थी, वह दिखी भी। शर्मा को भाग्य का साथ मिला। इंडिया-पकिस्तान के प्रेशर वाले गेम में पाकिस्तानी क्षेत्ररक्षकों ने उन्हें एक जीवन दिया। वह रन -आउट होने से बचे और फिर रोहित ने वहां से पीछे मुड़कर नहीं देखा।
 
रोहित शर्मा ने अपना तीसरा विश्व -कप शतक चिर-परिचित प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ पूरा किया। यह भी हरे जर्सी वाली टीम ही थी। हालाँकि वह इस मैच में अपने चौथे दोहरे शतक की ओर बढ़ते हुए लग रहे थे लेकिन उनके एक ख़राब शार्ट के चयन ने ऐसा होने न दिया। शर्मा खुद भी अपने इस शार्ट के चयन से नाखुश दिखे। भारत ने इस मैच में 5 विकेट के नुकसान पर 336 रन बनाए थे और डीएलएस मेथड के तरह 89 रन से मैच जीत लिया था। एक बार फिर रोहित 'मैन ऑफ द मैच' थे।
इस विश्व कप में एक हरी जर्सी की टीम बांग्लादेश और है जिससे एजबेस्टन में 2 जुलाई को भारत का सामना होगा। बांग्लादेश की टीम हालांकि अच्छे फॉर्म में है। उसने शानदार खेलते हुए वेस्ट इंडीज को हराया है। फिर भी मशरफे मुर्तजा निश्चित रूप से हिटमैन से सावधान रहेगा। क्या पता हरी जर्सी को देखते ही शर्मा रो-हिट मैन के निर्दयी फॉर्म में एक बार फिर से आ जाये।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »