18 Jul 2018, 13:59:09 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Chhatisgarh

साहित्यकार तेंजिदर गगन का दिल का दौरा पड़ने से निधन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 12 2018 4:13PM | Updated Date: Jul 12 2018 4:13PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

रायपुर। छत्तीसगढ़ के जाने माने साहित्यकार तेंजिदर गगन का कल देर रात हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया।वह लगभग 67 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार श्री तेंजदर को देर रात अटैक आने पर पड़ोस के एक चिकित्सक ने उनकी देख-रेख की लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।अपने पीछे वह पत्नी दलजीत गगन पुत्री समीरा को छोड़ गए है। दूरदर्शन में निदेशक के पद से सेवानिवृत्त हुए श्री तेंिजदर कुछ समय तक वे एक अखबार के लिए लेखन भी करते रहे।

वह काफी सक्रिय रहते थे और साहित्यिक एवं अन्य कार्यक्रमों में निरन्तर भाग लेते थे। तेंजिदर के कई उपन्यास प्रकाशित हुए है जिनमें वह मेरा चेहरा, काला पादरी, सीढियों पर चीता, हेलो सुजित ( सभी उपन्यास) कहानी संग्रह घोड़ा बादल और काव्य संग्रह बच्चे अलाव ताप रहे हैं मुख्य है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने तेजिन्दर गगन के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए यहां जारी शोक सन्देश में कहा कि वह अत्यंत सौम्य और सहज सरल स्वभाव के थे।उन्होंने  मानवीय संवेदनाओं पर आधारित अपनी रचनाओं के माध्यम से देश और समाज की विभिन्न  समस्याओं को रेखांकित किया और जनता को उन पर चिंतन करने और समाज को सही दिशा में चलने की प्रेरणा दी। 

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »