24 May 2018, 17:07:36 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Other Business

खाते में न्यूनतम बैलेंस रखने पर मिल रही छूट हो सकती है खत्म

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 25 2018 10:36AM | Updated Date: Apr 25 2018 10:37AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। आपको अपने अकाउंट में एवरेज मिनिमम बैलेंस रखने के बाद भी एटीएम ट्रांजैक्शन, फ्यूल सरचार्ज रिफंड, चेक बुक, डेबिट कार्ड आदि की सेवाएं फ्री नहीं मिल पाएंगी। दरअसल, टैक्स डिपार्टमेंट ने एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक जैसे देश के बड़े बैंकों से मिनिमम अकाउंट बैलेंस मेंटेन करने वाले ग्राहकों को मुफ्त में दी गई सेवाओं पर टैक्स चुकाने को कहा है। यह टैक्स पिछली तारीख से मांगा गया है जो हजारों करोड़ में हो सकता है। डायरेक्टरेट जनरल आॅफ गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स इंटेलिजेंस ने इन बैंकों को इस मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया है। यह नोटिस दूसरे बैंकों को भी भेजा जा सकता है। 
 
बैलेंस मेंटेन करने वाले अकाउंट पर टैक्स
मामले से वाकिफ एक बड़े टैक्स अधिकारी ने बताया कि पिछले पांच साल के लिए टैक्स भुगतान की मांग की गई है क्योंकि नियम के मुताबिक पांच साल से पहले सर्विस टैक्स नहीं मांगा जा सकता है। जिन अकाउंट्स में मिनिमम बैलेंस मेंटेन हो रहे रहे हैं, उन पर टैक्स की मांग उसी आधार पर की गई है जिस आधार पर बैंक मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं करने वाले ग्राहकों से चार्ज लेते हैं। यानी, मिनिमम अकाउंट बैलेंस मेंटेन नहीं करने वाले ग्राहकों से बैंक जितनी रकम जुर्माने के रूप में वसूलते हैं, मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने वाले हर अकाउंट पर भी उतनी ही रकम जोड़कर टैक्स की गणना की जाएगी।
 
इसलिए चिंतित हैं बैंक
बैंक इससे चिंतित हैं क्योंकि वे पिछली तारीख से ग्राहकों से टैक्स की मांग नहीं कर सकते। अगर इस टैक्स को बहाल रखा जाता है तो आगे चलकर इसका बोझ ग्राहकों को उठाना पड़ेगा। बैंक इस मामले में ऊॠॠरळ के दावे को चुनौती दे सकते हैं और वे इस पर सरकार से भी अपील करेंगे। यह जानकारी एक ऐसे बैंक के अधिकारी ने दी है, जिसे यह नोटिस मिला है। 
 
पूरी इंडस्ट्री का मसला है
ऐक्सिस बैंक के प्रवक्ता ने कहा, हमें यह नोटिस मिला है। यह पूरी इंडस्ट्री का मसला है। कारण बताओ नोटिस में जिन बातों का जिक्र किया गया है, हम उन पर अभी एक्सपर्ट्स से सलाह ले रहे हैं। इस बारे में एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक को ईमेल से पूछे गए सवालों का जवाब नहीं मिला। 
 
ग्राहकों को मिल रही छूट पर एक नजर
DGGST ने बैंकों की तरफ से ग्राहकों को दी जाने वाली सेवाओं की पड़ताल शुरू की है। इन सेवाओं के लिए बैंक कुछ शुल्क वसूलते हैं। बेस्ड सर्विस में तय सीमा से अधिक एटीएम ट्रांजैक्शंस, फ्यूल सरचार्ज रिफंड, चेक बुक इशू करने, डेबिट कार्ड आदि शामिल हैं। हालांकि, प्रिविलेज्ड कस्टमर्स के मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने पर उनसे ये चार्ज नहीं लिए जाते।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »