24 May 2018, 17:29:36 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Other Business

भगोड़े नीरव मोदी के खिलाफ हॉन्गकॉन्ग हाई कोर्ट पहुंची पीएनबी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 22 2018 12:25PM | Updated Date: Apr 22 2018 12:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। पीएनबी के साथ 13,500 करोड़ रुपए के घोटाले के प्रमुख आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ पंजाब नैशनल बैंक हॉन्गकॉन्ग हाई कोर्ट पहुंची है। इसके अलावा बैंक उन सभी देशों में अदालती कार्यवाही शुरू करेगी, जहां नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की संपत्तियां और कारोबार हैं। 
 
नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी की दुनिया के तमाम देशों में संपत्तियां और कारोबार होने की बात कही जा रही है। इसी महीने ईडी ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के कारोबार और उनके असेट्स के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए 13 देशों के अधिकारियों से संपर्क किया। ईडी ने उन 13 देशों को लेटर आॅफ रोगेटरी जारी किया है, जहां मोदी और चोकसी का कारोबार होने का शक है। 
 
जब्त संपत्ति बेच कर चुकाया जाएगा कर्ज
केंद्रीय कैबिनेट ने आर्थिक अपराध करके देश से भागने वाले भगोड़ों पर शिकंजा कसने के लिए शनिवार को ही एक अध्यादेश को मंजूरी दी है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भगोड़े आर्थिक अपराधी अध्यादेश 2018 को शनिवार को मंजूरी दी है। इसमें आर्थिक अपराध कर देश से भागे व्यक्तियों की संपत्ति उन पर मुकदमे का निर्णय आए बिना जब्त करने और उसे बेच कर कर्ज देने वालों का पैसा वापस करने का प्रावधान है। सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इसे मंजूरी दी गई। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद यह लागू हो जाएगा।
 
नहीं पास हो सका था विधेयक
भगोड़े आर्थिक अपराधी विधेयक को 12 मार्च को लोकसभा में पेश किया गया था लेकिन संसद में विभिन्न मुद्दों को लेकर गतिरोध के चलते इसे पारित नहीं किया जा सका। पिछले संसद सत्र में विदेश राज्य मंत्री ने अपने एक लिखित जवाब में संसद को बताया था कि नीरव मोदी हॉन्ग कॉन्ग में है और भारत सरकार ने हॉन्ग कॉन्ग अथॉरिटी से उसके समर्पण की मांग की है।
 
यहां हैं नीरव की संपत्तियां
सिंगापुर, साउथ अफ्रीका, ब्रिटेन, दुबई, बेल्जियम, अमेरिका, रूस, फ्रांस, चीन और हॉन्ग कॉन्ग में नीरव मोदी और चोकसी की संपत्तियां हैं।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »