19 Nov 2019, 06:13:16 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Automobile

धनतेरस में ऑटो सेक्टर में खूब हुई धनवर्षा, एक दिन में 250 मर्सेडीज बेंज की डिलीवरी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 26 2019 3:07PM | Updated Date: Oct 26 2019 3:40PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। धनतेरस के दिन ऑटो सेक्टर की बिक्री पर जबरदस्त उछाल आया। यही हाल दो पहिया वाहनों के शोरूम में भी दिख रहा है। धनतेरस वाले दिन ऑटो सेक्टर पर जमकर धन बरसा। लग्जरी गाड़ियों से लेकर मंहगी बाइक के लिए लोग शो-रूम में घंटों इंतजार करते दिखे। अगर सिर्फ दिल्ली-एनसीआर की बात करें तो धनतेरस पर मर्सेडीज बेंज ने धनतेरस पर 250 कारों की डिलिवरी की है।आर्बिट आटोमोबाइल के अभिषेक अग्रवाल ने बताया कि धनतेरस के दिन 150 गाड़ियों की डिलीवरी दी गई है। कई गाड़ियों की मांग इतनी अधिक थी कि उसे पूरा नहीं किया जा सका। इसी प्रकार लग्जरी गाड़ियों के शो-रूम की स्थिति भी रही। किसानों की गाड़ी ट्रैक्टर की भी खूब बिक्री हुई। गोलघर के एक शोरूम से 15 से अधिक बड़े ट्रैक्टर की डिलीवरी दी गई।
 
हिंदू मान्यताओं के अनुसार धनतेरस के दिन को शुभ माना जाता है। इसलिए लोग कुछ नया खरीदते है। मर्सेडीज बेंज के अलावा हुंदै, किया मोटर्स, एमजी मोटर्स की भी बिक्री अच्छी रही। उन्होंने इस दिन 15 हजार से ज्यादा कारों की डिलिवरी कर डाली। देश की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी हुंदै मोटर इंडिया ने कहा कि उसने शुक्रवार को 12,500 कारें डिलिवर कीं। उसके समूह की कंपनी किया मोटर्स ने अपनी नई एसयूवी सेल्टॉस की 2,184 यूनिट्स डिलिवर कीं। इसी तरह एमजी मोटर इंडिया ने कहा कि उसने अपनी एसयूवी हेक्टर की 700 इकाइयों की डिलिवरी की। इनमें से 200 कारों की डिलिवरी दिल्ली-एनसीआर में सिर्फ एक स्थान से की गई। देश की प्रमुख कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने कहा कि धनतेरस के दिन उसकी बिक्री अच्छी रही। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक धनतेरस पर सोना-चांदी खरीदने में लोगों ने उतनी दिलचस्पी नहीं दिखाई। गोल्ड और सिल्वर के रीटेल कारोबारियों के मुताबिक, इस साल सेल 20 से 50 प्रतिशत तक कम हुई। दोपहिया वाहनों की बिक्री भी काफी अच्छी रही। अगर सिर्फ अलवर जिले की बात करें तो धनतेरस पर जिले में 850 से अधिक कार व 4000 से अधिक दुपहिया वाहनों की बिक्री हुई। चौपहिया वाहनों का व्यापार करीब 60 करोड़ रुपए का और दुपहिया वाहनों का व्यापार 24 करोड़ रुपए से अधिक का हुआ।  
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »