21 Oct 2017, 21:21:33 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Astrology

इस साल सितारे बदलेंगे आपके ग्रहों की चाल

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 4 2017 3:40PM | Updated Date: Jan 4 2017 3:40PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

सभी को अपेक्षा है नववर्ष में कुछ अलग होने की।  कुछ खास घटनाओं का  हमारे जीवन में गहरा प्रभाव पड़ता है। परंतु ज्योतिषिय भविष्यवाणी इच्छाओं पर नहीं अपितु ग्रहों की चाल पर निर्भर करता है। 2017 में बहुत बड़ा बदलाव हो रहा है । इस वर्ष सभी ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे और ऐसा बहुत काम होता है। शनि, मंगल, वक्री बुध व वक्री बृहस्पति के नकारात्मक प्रभाव, शनि, राहू-केतु और बृहस्पति जैसे मुख्य और प्रभावशाली ग्रहों के राशि परिवर्तन आदि के कारण आपकी राशि पर पड़ने वाले सकारात्मक प्रभाव।
 
ग्रहों में जिससे विभिन्न रशिवालो पर भिन्न-भिन्न प्रभाव पड़ेगा स्वागत करते हैं संवत 2073-2074 का इस नए वर्ष के राजा हैं बुध और मंत्री हैं गुरु जो की एक शुभ संकेत है व्यापार में उन्नति के लिए और ज्ञान प्राप्त करने के लिए. सकारात्मक बदलाव के कारण देश की उन्नति के रास्ते खुलेंगे।
 
यह राशिफल 2017 वैदिक ज्योतिष के प्राचीन सिद्धांतों पर आधारित है जिसको भविष्यम् वैदिक कॉलेज ने गूढ़ शोध और अनुसंधान के बाद पाठकों के लिए सटीक और सामान्य भाषा में प्रस्तुत किया है। 
 
शनि की दशा से मुक्ति
मेष राशि : इस राशि का स्वामी ग्रह मंगल है।  26 जनवरी शाम से आप शनि की कठोर ढैया से मुक्त हो जाएंगे। ये वर्ष पहले से बहुत बेहतर है। विवादित पैतृक संपत्ति आप को ही प्राप्त हो सकती है। आपको नया कर्ज भी मिल सकता है। पश्चिम एवं दक्षिण दिशा से शुभ समाचार मिलेंगे। शनि भाग्य भाव में आपसे खूब मेहनत करवाएगा किंतु इसका फल अनुकूल ही मिलेगा। माता के स्वास्थ्य और संतान की संगत आपको परेशान करेगी। पेट के रोग से परेशानी होगी।  2 जनवरी से 25 जनवरी एवं 11 सितंबर से 3 अक्टूबर तक आप बहुत सावधानी रखे। मानहानि, गलतफहमी, परिवार में विवाद की पूर्ण आशंका है। 6 मई से 11 जून, 10 नवंबर से 4 दिसंबर के मध्य आप आनंद दायक यात्रा करेंगे और मन प्रफुल्लित रहेगा।  
 
वर्ण ज्योतिष : प, न अक्षर के नाम के व्यक्ति से सचेत रहे। अर्ध अक्षर, ज्ञ, ऋ वर्ण आपको बुरी शक्तियों से बचाएंगे। 
शेयर ज्योतिष : यह वर्ष पिछले की तुलना में ज्यादा बेहतर है। शेयर बाजार में निवेश धीरे धीरे बढ़ाते रहे। फार्मा और मेटल के शेयर आपके लिए शुभ है। डिविस लैब ,सन फार्मा ,जिंदल स्टील आपको फायदा देंगे। 
रंग ज्योतिष : लाल, पीला, नारंगी, श्वेत, गुलाबी रंग अनुकूल हैं। 
विशिष्ट उपाय : लाल रंग का छोटा कपडा अपने पर्स में रखे। लिफ्ट का प्रयोग कम से कम करे। 
वेदांग मंत्र : ॐ ह्रीम मं मंगलाय नम: का रोजाना जाप करे। 
 
पश्चिम दिशा से लाभ
वृषभ राशि : इस राशि का स्वामी शुक्र है। आपके ऊपर शनि की ढैया 26 जनवरी से शुरू हो जाएगी।  चर्बी बढ़ना , कोलेस्ट्रॉल , ह्रदय संबंधी बीमारी आपको निस्तेज बनाएगी। कार्य सफल नहीं होंगे। आपके कठिन समय में परिवार तथा मित्रों से सहयोग नहीं मिलेगा बल्कि निंदा मिलेगी। आपको अपने और पराये का भान होगा आपका घर में मन नहीं लगेगा। शनि की तीसरी दृष्टि कर्म भाव में खुद की राशि पर है जिससे आपका कोई बड़ा काम , सपना, अभिलाषा साकार होगी लेकिन बहुत ज्यादा मेहनत के बाद। उत्तर और पश्चिम दिशा से लाभ मिलेगा। इस समय में आप किसी गूढ़ अध्यात्म में और मंत्र सिद्धि में सफलता पाएंगे।  11 सितंबर के बाद आप देश के किसी खास व्यक्ति के संपर्क में आएंगे। बड़े राजनीतिक संबंध बनेंगे।      
 
वर्ण ज्योतिष : र,स अक्षर के नाम के व्यक्ति से लाभ प्राप्त होगा। प,व अक्षर के नाम के व्यक्ति से सचेत रहे
शेयर ज्योतिष : इस वर्ष आय व्यय का संतुलन खराब है। पैसे फसेंगे। सावधान रहे। कही भी निवेश ना करे। 
रंग ज्योतिष : हरा, श्वेत  स्लेटी, काला, आसमानी, जामुनी रंग अनुकूल हैं। लाल, पीला, नारंगी, श्वेत ,गुलाबी रंग का प्रयोग कम करें।
विशिष्ट उपाय : सफेद रंग के कपडे में चुटकी चावल और चांदी की लौंग बांधकर अपने पास रखे। अनजान स्त्रियों की यथा संभव मदद करे।  
वेदांग मंत्र : ॐ शुं शुक्राय नम: का रोजाना शाम को जाप करे।
 
बड़ी यात्रा को टाले
मिथुन राशि : इस राशि का स्वामी ग्रह बुध है। 26 जनवरी के बाद शनि आपके सप्तम भाव में आ जाएगा। पत्नी/पति को रोग और व्यर्थ का शारीरिक कष्ट भोगना पड़ेगा। जीवन साथी से विवाद बहुत होगा। दिशा परिवर्तन , गुप्त रोग , मानसिक व्यथा, मन का ना होना से आप खुद को बंधा  सा महसूस करेंगे। 
 
शनि की दशम दृष्टि माता भाव पर है कोई भी ऐसा कार्य ना करे जिससे माता के मन को कष्ट हो। परिवार को साथ लेकर चले। संतान पक्ष से कोई शुभ समाचार मिलेंगे। इस वर्ष बड़ी यात्रा को टाले। कार्य पहले से बेहतर होंगे। ईश्वर की प्रार्थना में कुछ समय बिताएं, मंदिर जाएं। पूजा करें। गाय को चारा डालें। 
 
वर्ण ज्योतिष : डेढ़ अक्षर (जैसे प्रकाश) अक्षर के नाम के व्यक्ति से सचेत रहे। ह,अ ल  शब्द  आपको सफल बनाने में पूरी मदद करेंगे।
शेयर ज्योतिष : यह वर्ष लाभ की दृष्टि से सामान्य वर्ष है।  बैंकिंग एवं फाइनेंस के शेयर से फायदा मिलेगा। पावर फाइनेंस के शेयर खरीदे।    
रंग ज्योतिष : हरा, श्वेत, मिश्रित रंग, नीला, स्लेटी, काला, आसमानी, जामुनी रंग अनुकूल हैं। लाल, पीला, नारंगी, श्वेत, गुलाबी रंग का प्रयोग कम करें ।
विशिष्ट उपाय : बांए हाथ में बिना जोड़ का चांदी का कड़ा पहने। काले कुत्ते को ब्रेड,बिस्कुट दे। छोटे बच्चो को पढ़ने की सामग्री भेंट करे। 
वेदांग मंत्र : ॐ बुधाय जागृताय नम:  की रोज एक माला फेरे। 
 
आपके लिए वर्ष उत्तम है
कर्क राशि : इस राशि का स्वामी चंद्र्रमा है।  इस वर्ष शनि पंचम से षष्टम, गुरु तृतीय से चतुर्थ , राहु पंचम से चतुर्थ की चाल चलेंगे।  यह वर्ष उत्तम है।  असंतोष , निष्फल मेहनत , सम्मान ना मिलना जैसे समस्याएं अपने आप कम हो जाएगी। स्थाई संपत्ति से,नवीन साझेदारी से नबहुत अर्थ लाभ होगा। घर में मांगलिक कार्य ,होगें। कंधे में दर्द,चोट , डायबिटीज से आप परेशान होंगे। नौकरी पेशा वालो के लिए ये साल दूसरों से बहुत बहुत बेहतर रहेगा। यदि आप राजनीति में हो तो यह वर्ष आपको अचानक बड़ा पद दिलवा सकता है।  पंचम शनि गुप्त शत्रु पैदा करता है सावधान रहे।  3 फरवरी से 27 मार्च के मध्य यात्रा में दुर्घटना होगी। काली गाड़ी में सफर ना करे।  
वर्ण ज्योतिष : ज , ह , ट नाम के व्यक्ति से शुभ ऊर्जा मिलेगी । क, म वर्ण के व्यक्ति गुप्त शत्रु है।
शेयर ज्योतिष : आपको सोने चांदी में पैसा लगाने से लाभ मिलेगा । टाइटन,गीतांजलि जेम्स जैसे शेयर में पैसा लगाए  
रंग ज्योतिष : लाल, पीला, , गुलाबी रंग अनुकूल हैं। स्लेटी, हरे और काले रंग के प्रयोग से बचेें
विशिष्ट उपाय : माता की सलाह माने।  तीर्थयात्रियों को धन की मदद करे।                 
वेदांग मंत्र : ॐ चंद्र मनसो नम: का जाप रोज करें ।  
 
कमाई पहले से बढ़ेगी
सिंह राशि : इस राशि का स्वामी सूर्य देव है। आप 26 जनवरी को शनि की ढैया से बाहर आ रहे है। गुरु का गोचर द्वितीय से तृतीय पर होगा और राहु व्यय भाव पर बैठ जायेंगे। आपको इस वर्ष पुरानी हो चुकी मशीन, वाहन, शेड को बदलना ही पड़ेगा अभी से पूंजी की व्यवस्था देख ले। व्यवसाय में कोई काम बंद करना जैसा कड़क निर्णय लेना है तो जरूर ले। नेत्र की पीड़ा ,गर्दन, रक्त संबंधी समस्या से आपको जूझना पड़ेगा। यह वर्ष कठिनाइयों से भरा है। संतान को कोई बड़ा कष्ट होगा। आपकी कमाई भी पहले ज्यादा बढ़ेगी। किसी स्त्री के द्वारा मानहानि होगी। 14 अप्रैल से 19 मई तक  कष्ट संभव है।  
 
वर्ण ज्योतिष : क,य,व अक्षर के नाम के व्यक्ति से सचेत रहे। डेढ़ अक्षर के वर्ण का आप साथ अवश्य ले 
शेयर ज्योतिष : आपको तेजी मंदी से फायदा मिलने के पूर्ण योग है। कृषि और चाय पत्ती के शेयर जैसे जैन इरीगेशन,टाटा ग्लोबल बेव में निवेश करे। 
रंग ज्योतिष : लाल, पीला,नारंगी, श्वेत, गुलाबी रंग अनुकूल हैं। नीले,काले रंग के प्रयोग से बचेें
विशिष्ट उपाय : किसी वृद्धाश्रम में सोने के लिए गद्दा , तकिया भेंट करे। पिता की फोटो को हमेशा पर्स में रखे।    
वेदांग मंत्र : ॐ सूर्याय जन्म दात्रे नम: का रोजाना जाप आपको ख्याति दिलाएगा। 

लंबी यात्रा लाभप्रद होगी
कन्या राशि : इस राशि का स्वामी बुध है। आप 26 जनवरी को शनि की ढैया में आ जाएंगे। इस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में विशेष सफलता मिलेगी। लाभप्रद लंबी यात्रा होगी। उच्च स्तर के लोगो से संपर्क बनेगा। गुरु का भ्रमण लग्न से धन भाव में होगा बहुत शुभ है। मशीनरी, विद्युत ,यंत्र को प्रयोग करने में सावधानी रखे। राहु व्यय भाव से आय भाव में आएगा आपको बड़े अधिकारियो, प्रतिष्ठित लोगो से फायदा मिलेगा। अमावस को यात्रा ना करे। ससुराल में किसी का शोक होगा। 10 जून से 14 जुलाई तक आप विशेष सचेत रहे , घोर कष्टकारी समय है। पूजा-पाठ में ध्यान लगाएं। गलत आचरणों से बचें। ईश्वर आपकी परीक्षा लेगा इस वर्ष अपने पूर्व में किए गए गलत कार्यों को सुधारने का वर्ष है यह। 
वर्ण ज्योतिष : न, ई, उ नाम से नवीन साझेदारी बनेगी ।  च, थ से आप विशेष सचेत रहे
शेयर ज्योतिष : बिलकुल भी तेजी मंदी न करें। पूरी जमा पूंजी खत्म हो जाएगी। बैंक में पैसा रखे। 
रंग ज्योतिष : हरा, नीला, स्लेटी, काला, आसमानी, जामुनी रंग अनुकूल हैं े लाल, पीला, नारंगी, रंग का प्रयोग कम करें।
विशिष्ट उपाय : निर्धन कन्या की शादी में सहयोग करे।  जमीन में बैठ कर खाना खाएं। कभी भी पत्नी और किसी स्त्री को अपशब्द ना कहे।  
वेदांग मंत्र : ॐ श्रीम एं सौ का रोजाना जाप आपकी बैचैनी व तनाव को कम करेगा। 

क्रोध पर नियंत्रण रखें
तुला राशि : इस राशि का स्वामी शुक्र है।  26 जनवरी से शनि आपके पराक्रम भाव में प्रवेश करेंगे और आप साढ़े सती से मुक्त हो जाएंगे। वर्ष के मध्य में गोचर गुरु प्रथम भाव में आ जाएंगे। यह सब बहुत शुभ संकेत है। आप जो करेंगे उसमे सफलता मिलेगी। कानूनी फैसला आपके पक्ष में आएगा।  संतान के बारे में शुभ समाचार मिलेंगे। खर्च खूब होंगे लेकिन आय और भी ज्यादा होगी। परिवार के मध्य विवाद होंगे। शांति से, समर्पण से इसका हल ढूंढे। क्रोध आपके सामाजिक अपमान का कारण बनेगा।  13 मार्च से 27 अप्रैल का समय कष्टकारी है। 28 अगस्त से 22 सितंबर का समय आपको कोई बड़ी उपलब्धि और लाभ दिलाएगा। 
 
वर्ण ज्योतिष : ग,च,द नाम के व्यक्ति आपके खिलाफ कार्य करेंगे।
 ल,व वर्ण आपके सुख दु:ख के साथी साबित होंगे
शेयर ज्योतिष : यह समय में आप शेयर बाजार से पूंजी बना सकते है।  तेल,मशीनरी के शेयर जैसे ओनजीसी ,अबान, रिलायंस,भेल में आपका भाग्य फलेगा  
रंग ज्योतिष : हरा, श्वेत, मिश्रित रंग,आसमानी, जामुनी रंग अनुकूल हैं े लाल, नारंगी, गुलाबी रंग का प्रयोग कम करें।
विशिष्ट उपाय : माखन,आलू, दही का दान किसी अनाथालय में करें। अस्पताल में पंखे लगवाएं। बिगड़े काम बनेंगे। 
वेदांग मंत्र : ॐ एं ह्रीम श्रीम क्लिम महालक्ष्मे नम: का रोजाना दीपक जलाकर जाप करे  
 
समय कष्टकारी रहेगा
वृश्चिक राशि : इस राशि का स्वामी ग्रह मंगल है।  26 जनवरी से आप शनि की साढ़े सती के अंतिम चरण में होंगे।  यह वर्ष आपके लिए बहुत कष्टकारी है। स्वजनों से बैर,धन की हानि, खानपान में अरुचि,क्रोध,बैचनी  बात-बात पर भाग्य को कोसना जैसे फल आपको दिखेंगे।  हो सकता है आप घर छोड़ कर दूर चले जाएं। 19 अगस्त से 12 अक्टूबर के मध्य का समय बहुत कष्टदायक है। इस वर्ष आपके घर में कोई जलसा,मांगलिक कार्य होने की पूरी संभावना है। 11 जुलाई से 10 अगस्त के मध्य आप कार्य में कोई बड़ा परिवर्तन करेंगे। किसी की अकस्मात मृत्यु आपको भीतर तक तोड़ देगी। आपको संभल कर चलना है ईश्वर का ध्यान करें ।
 
वर्ण ज्योतिष : म,ध,ल नाम के व्यक्ति से सौदा करते समय सचेत रहे। त,ट,ज अक्षर के व्यक्ति आपको मदद करेंगे 
शेयर ज्योतिष : बहुत ज्यादा तेजी मंदी से कोर्ट व कानूनी अड़चने शुरू हो सकती है।  सेल,एमटीनल ,नालको  के शेयर से लंबी अवधि में फायदा मिलेगा।    
रंग ज्योतिष : लाल, पीला, नारंगी रंग अनुकूल हैं। नीले, स्लेटी और काले रंग के प्रयोग से बचें। 
विशिष्ट उपाय : हनुमान मंदिर में तांबे की घंटी, दीपक भेंट करें।अपने गुरु को चांदी की थाली और चांदी का कलश भेंट करें।   
वेदांग मंत्र : ॐ ह्रीम अं अंगारकाय नम: का रोजाना जाप आपको विजय दिलाएगा। 
 
राज्य से सुख,सहयोग मिलेगा
धनु राशि : इस राशि का स्वामी ग्रह गुरु है।  जनवरी से आपकी साढ़े सती का दूसरा चरण शुरू होगा।  शनि आपकी बुद्धि , शारीरिक ऊर्जा , मानसिक शांति को हरने की कोशिश करेगा।  गुरु का उत्तम गोचर आपको एक रक्षा कवच देगा। साझेदारी में धोखा मिलेगा। किंतु कार्य क्षेत्र में आपको सादर परिणाम देखने मिलेंगे। आपको कोई सम्मान मिलेगा। राज्य से सुख, सहयोग, प्रतिष्ठा, लाभ अवश्य मिलेगा। 16 फरवरी से 23 मार्च तक का समय आपके लिए कष्टकारी है। आपको अपने परिवार में सभी की सेहत का विशेष ध्यान रखना है। अगस्त के पश्चात आपका समय बहुत शुभ है।             
 
वर्ण ज्योतिष : व, ह, स नाम के व्यक्ति आपसे गुप्त शत्रुता करेंगे । प, व, अ वर्ण के व्यक्ति आपके सच्चे मित्र साबित होंगे  
शेयर ज्योतिष : यह समय आप फिक्स आय वाले क्षेत्रो में पैसा लगाए। टेक कंपनी के शेयर जैसे इन्फोसिस, टीसीस ,एचसीएल टेक में फायदा हो सकता है।   
रंग ज्योतिष : पीला, नारंगी, श्वेत अनुकूल हैं। नीले, और काले रंग के प्रयोग से बचें।
विशिष्ट उपाय : भिखारी को खाने की वस्तु जरूर दें।    
वेदांग मंत्र : ॐ ह्रीम क्लीम सौ  का रोजाना जाप आपके गुप्त शत्रु का नाश करेगा। 
 
पूर्णिमा की रोशनी में बैठें
मकर राशि : इस राशि का स्वामी ग्रह शनि है। 26 जनवरी से आपके ऊपर शनि की साढ़े साती की दशा शुरू हो जाएगी। शनि व्यय भाव में स्थित होकर आपकी ऊर्जा को फालतू के कार्य में लगवा सकता है।   19 जनवरी से 22 फरवरी तक आप सचेत रहे। आपकी रूचि तंत्र,मंत्र, रहस्य, गुप्त विधा व मंत्र सिद्धि में बढ़ेगी।  पुलिस और सेना से जुड़े लोगों के लिए ये सकारात्मक समय है। गुरु दशम में आकर वर्ष मध्य से आपके जीवन को संतुलित कर देगा। पूर्णिमा को चंद्र्रमा की किरणों में कुछ समय बैठे। 
 
वर्ण ज्योतिष : न,ख,भ  अक्षर के व्यक्ति आपके लिए फायदेमंद साबित होंगे। स,य,व  आपके अनुकूल नहीं है।
शेयर ज्योतिष : किसी को ब्याज पर पैसा ना दे। यदि जरुरी है तो पत्नी  के हाथ से दिलवाएं। प्रॉपर्टी शेयर जैसे डीएलएफ,एनबीसीसी,गोदरेज में पैसा लगाएं।    
रंग ज्योतिष : हरा, नीला, स्लेटी, काला, जामुनी रंग अनुकूल हैं। लाल, गुलाबी रंग का प्रयोग कम करें।
विशिष्ट उपाय : शनिवार को काले जूते ,छाता ,कंबल का दान आपका अधूरा काम पूरा करवाएगा। पत्नी की फोटो अपने पर्स में रखे। 
वेदांग मंत्र : ॐ शं शनेश्चराय नम: का रोजाना शाम को जाप आपकी रक्षा करेगा।  
 
बड़ा धनलाभ मिलेगा
कुंभ राशि : इस राशि का स्वामी शनिदेव है।  यह वर्ष आपका लाभ और धन का वर्ष है।  आपके शत्रु परास्त होंगे।  आपको किसी पुरानी संपत्ति से बढ़िया आय प्राप्त होगी। यदि आप नया व्यवसाय शुरू करना चाहे तो यह उत्तम समय है। आपको हड्डी से संबंधित बीमारी होगी। आप विदेश यात्रा करेंगे। लेकिन आपकी संतान के लिए यह समय अनुकूल नहीं है। उसको गले, छाती की कोई बड़ी बीमारी का पता लगेगा। अपने परिवार के लिए आपके कुछ अच्छा करने का समय है। परिवार और भाइयों  के लिए यह समय अनुकूल नहीं है। 3 मार्च से 28 अप्रैल के मध्य आपको कोई बड़ा धनलाभ, प्रतिष्ठा मिलेगी।  ईश्वर आपकी सारी मनोकामनाओं को पूरा करेंगे इस वर्ष। 
 
वर्ण ज्योतिष : अर्ध अक्षर जैसे श्याम, स्मिता जैसे नाम वालों  से सावधान रहे । द,भ वर्ण आपको सही दिशा दिखाएंगे 
शेयर ज्योतिष : आपको तेजी मंदी से विशेष आय का योग है। सीमेंट,आॅइल,चमड़ा के शेयर में पैसा लगाएं। कोल इंडिया ,गेल, अंबुजा सीमेंट आपको बड़ा फायदा देंगे।
रंग ज्योतिष : श्वेत, नीला, स्लेटी, काला, आसमानी रंग अनुकूल है पीले व नारंगी रंग का प्रयोग कम करें।
विशिष्ट उपाय : कार्यस्थल पर शनिवार को धुप जलाएं। शनिवार को काला, गहरा नीला रंग के वस्त्र धारण करे। 
वेदांग मंत्र : ॐ ह्रीम एं क्लीम श्री का रोजाना जाप आपके परिजनों को खुशहाल रखेगा। 
 
आपकी आकांक्षा पूर्ण होगी
मीन राशि : इस राशि का स्वामी बृहस्पति है। आपको अनायास धन लाभ, लॉटरी, कोई पुरानी संपति से पैसा प्राप्त होने का वर्ष है। इस साल आप व्यर्थ का भ्रमण करेंगे। चिड़चिड़ापन, क्रोध, मानसिक संतुलन खोने जैसी नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव आप में दिख सकता है। स्वयं पर नियंत्रण रखना श्रेष्ठ है। आपकी कोई बड़ी इच्छा, विचार, आकांक्षा इस वर्ष पूर्ण हो जाएगी। अस्थिरता, उतार, चढाव से मत घबराना। यह सब बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी। इस वर्ष आपके परिवार में कोई शोकपूर्ण घटना हो सकती है। आप कोई नया कार्य शुरू करेंगे।  3 जुलाई से 13 अगस्त तक आपका स्वास्थ्य बहुत खराब होगा। अपने आपको प्रभु भक्ति में लगाएं सफलता आपको निश्चित मिलेगी। 
 
वर्ण ज्योतिष : र,फ,ड, झ नाम के व्यक्ति के साथ लेन देन में अति सचेत रहे। प, क वर्ण सफलता में सहयोग करेंगे 
शेयर ज्योतिष : आपको चलित चीजों के शेयर में पैसा जरूर लगाना चाहिए जैसे आॅटो व ट्रांसपोर्ट से आपको विशेष लाभ संभव है। 
रंग ज्योतिष : लाल, भूरा, पीला, नारंगी,श्वेत, गुलाबी रंग अनुकूल हैं। नीले, हरे, स्लेटी और काले रंग के प्रयोग से बचेें
विशिष्ट उपाय : रोजाना शाम को घर के दिवंगत की तस्वीर के आगे दीपक जलाएं और सोने के पूर्व चंद्रमा के दर्शन करें। इससे रुका हुआ पैसा मिल जाएगा।    
वेदांग मंत्र : ॐ क्लीम नमों भगवते वासु देवाय मंत्र की रोज एक माला आपको रोगों से मुक्त रखेगी। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »